ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशप्राण प्रतिष्ठा से पहले कितना पूरा हुआ राम मंदिर का निर्माण कार्य, ट्रस्ट ने शेयर की तस्वीरें

प्राण प्रतिष्ठा से पहले कितना पूरा हुआ राम मंदिर का निर्माण कार्य, ट्रस्ट ने शेयर की तस्वीरें

रामनगरी अयोध्या में श्रीरामजन्मभूमि पर बन रहे भव्य मंदिर का काम युद्ध स्तर पर हो रहा है। भूतल पर गर्भगृह पूरी तरह से तैयार है। फर्श का काम पूरा हो चुका है।

प्राण प्रतिष्ठा से पहले कितना पूरा हुआ राम मंदिर का निर्माण कार्य, ट्रस्ट ने शेयर की तस्वीरें
Pawan Kumar Sharmaहिन्दुस्तान,अयोध्याFri, 08 Dec 2023 09:26 PM
ऐप पर पढ़ें

रामनगरी अयोध्या में श्रीरामजन्मभूमि पर बन रहे भव्य मंदिर का काम युद्ध स्तर पर हो रहा है। भूतल पर गर्भगृह पूरी तरह से तैयार है। फर्श का काम पूरा हो चुका है। मकराना मार्बल से बनी फर्श पर अब घिसाई का काम चल रहा है। 15 दिसंबर तक घिसाई का काम पूरा हो जाएगा। इसके बाद पॉलिश कर इसे प्राण प्रतिष्ठा के लिए पूरी तरह से तैयार कर दिया जाएगा। 

भूतल व प्रथम तल का काम पूरा करने के लिए श्रीरामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र के भवन निर्माण समिति ने 31 दिसंबर तक का लक्ष्य लिया है। इस लिहाज से एलएंडटी व टाटा इंजीनियर्स के निर्देशन में कारीगर अपना काम तय समय से कर रहे हैं। बताया जाता है कि इस वक्त फर्श की घिसाई के साथ 166 स्तंभों पर बनाई गई कलाकृतियों को भी अंतिम रूप दिया जा रहा है। 

प्रथम तल का काम भी लभगग पूरा 

राममंदिर का मुख्य परिसर के अलावा परकोटे व सिंहद्वार पर भी ससाथ काम चल रहा है। प्राण प्रतिष्ठा के लिए भूतल व प्रथम तल पर काम एक साथ चल रहा है। सिंहद्वार व परकोटे पर अभी ज्यादा समय लगने की संभावना जताई जा रही है। पहले व दूसरे मंडप के ऊपर का निर्माण भी पूरा किया जा चुका है। तीन मंडपों का काम चल रहा है। गर्भगृह के ऊपर शिखर दूसरे तल के निर्माण के बाद पूरा किया जाएगा। प्रथम तल पर बीस बीस फिट ऊंचे स्तंभों को लगाया जा चुका है। उन स्तंभों पर आकृतियों को उकेरने का काम भी जारी है। अब दूसरे तल पर जाने वाले मंडप को छोडकर छत बनाने का काम भर बाकी रह गया है। 

दरवाजों का ट्रायल पूरा, सिर्फ लगाना बाकी

भूतल पर लगने वाले महाराष्ट्र से आए 18 दरवाजों को एक बार लगाकर ट्रायल ले लिया गया है। हर दरवाजे पर तीन-तीन किलो की सोने की परत लगाने का काम चल रहा है। यह काम पूरा होते ही इसे लगा दिया जाएगा। समूचे मंदिर में 44 दरवाजे लगाए जाने हैं। इनमें से भूतल के दरवाजे पूरा करने के बाद कारीगर प्रथम तल के दरवाजों को अंतिम रूप देने में जुटे हैं।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें