class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

महंगे क्लबों में शुमार कानपुर क्लब पर सेना का पहरा, शादियां अौर लोहड़ी उत्सव कैंसिल

कानपुर क्लब मेें सन्नाटा।

देश के सबसे महंगे क्लबों मेें शुमार कानपुर क्लब में सेना के सख्त पहरे से सन्नाटा पसर गया है। क्लब में अब तक हुए निर्माण की जांच करने के लिए डिफेंस इस्टेट आफिस (डीईओ) की टीम ने डेरा डाल दिया है। टीम शुक्रवार तक निर्माण की जांच करेगी। उधर, कैंट के रास्तों पर सख्ती से वेंडरों के न पहुंच पाने से क्लब में राशन का संकट खड़ा हो गया है। इसके  मद्देनजर क्लब में होने वाले नौ शादियों के साथ लोहड़ी उत्सव निरस्त कर दिया गया है। जांच के चलते क्लब फिलहाल दो दिन बंद रहेगा। 
गुरुवार को लखनऊ स्थित डीईओ से आए अधिकारी पंकज तिवारी के नेतृत्व में तीन सदस्यीय टीम ने स्टेशन स्टाफ आफिसर कर्नल आरपी राम और सैन्यबल के साथ कानपुर क्लब की पैमाइश की। ये टीम पिछले 30-40 साल के दौरान मूल ढांचे में किए गए बदलाव और निर्माण की जांच कर रही है। इस दौरान सचिव नितिन गुप्ता सहित क्लब के अन्य सदस्यों ने कैंट के रास्तों पर रोके जाने का मुद्दा उठाया। बताया गया कि क्लब सदस्यता का कार्ड भी अमान्य कर दिया गया है। 
हर तीन माह में सिक्योरिटी पास
सैन्य अफसरों ने स्पष्ट कर दिया कि सुरक्षा मानकों से समझौता नहीं किया जाएगा। क्लब के सभी सदस्यों, उनके परिजनों, दोस्तों, मेहमानों, स्टाफ व उनके परिजनों को पुलिस वैरीफिकेशन के बाद पास बनवाना होगा। यह पास तीन माह के लिए ही स्टेशन स्टाफ आफिस से जारी होगा। दुधमुहे बच्चे तक के लिए पास लेना होगा। पास सुबह 9 से 11 बजे तक बनाए जाएंगे। 
मुख्य इमारत की नापजोख 
डीईओ की तीन सदस्यीय टीम ने एसडीओ-2 पंकज कुमार तिवारी के नेतृत्व में कैंट बोर्ड के सर्वेयर गौरव मिश्रा व अन्य के साथ क्लब के हर कोने की नापजोख की। क्लाउड-9, बिलियर्ड्स रूम, 6 स्पाइसेज, लाउंज, शंग्रीला सहित सभी रेस्त्रां को नापा गया। पार्किंग परिसर के चारों तरफ लगे बोर्ड गिराने के निर्देश दिए। 
क्लब के सचिव ने की जांच की पुष्टि
कानपुर क्लब के सचिव नितिन गुप्ता का कहना है कि डीईओ की टीम क्लब के निमार्ण कार्यों की जांच को अाई है। सैन्य अफसरों ने क्लब अाने वाले सदस्यों, स्टाफ, उनके परिजनों के साथ-साथ वेंडरों के सिक्योरिटी पास बनवाने के निर्देश दिए हैं।
निर्माण का निरीक्षण किया गया  
स्टेशन स्टाफ आफिसर, कैंट  के कर्नल आरपी राम ने बताया कि क्लब के निर्माण का निरीक्षण कैंट बोर्ड के साथ किया गया। क्लब में कौन जाएगा और कौन नहीं, यह फैसला क्लब प्रबंधन का है। कैंट में सुरक्षा के लिहाज से निर्देशों का पालन किया जा रहा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Army camp at the Kanpur Club marriages and Lohadi festival Cancell
हिन्दी जगत को अलविदा कह गए कथाशिल्पी दूधनाथ सिंहउत्तर प्रदेश: प्रसिद्ध कथाकार दूधनाथ सिंह का निधन