ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेशमहीनों से बनारस में बर्तन मांज रहा था SSB का जवान, अपना घर आश्रम ने परिवार से मिलवाया

महीनों से बनारस में बर्तन मांज रहा था SSB का जवान, अपना घर आश्रम ने परिवार से मिलवाया

वाराणसी में 2 साल पहले घर से लापता हुए एसएसबी जवान को अपना घर आश्रम ने उसके परिवार से मिलवाया। युवक तमिलनाडु का रहने वाला है।

महीनों से बनारस में बर्तन मांज रहा था SSB का जवान, अपना घर आश्रम ने परिवार से मिलवाया
Pawan Kumar Sharmaहिन्दुस्तान,वाराणसीThu, 25 Apr 2024 08:10 PM
ऐप पर पढ़ें

यूपी के वाराणसी से एक हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है। जहां 2 साल पहले घर से लापता हुए एसएसबी जवान को अपना घर आश्रम ने उसके परिवार से मिलवाया। युवक तमिलनाडु का रहने वाला है। 2022 में मानसिक स्थिति खराब होने की वजह से वह घर से गायब हो गए थे। 

एक महीने पहले कैंट रेलवे स्टेशन से असहाय और भूखे प्यासे प्रभु नाम के एक शख्स समाजसेवी संजय पाल ने रेस्क्यू करके अपना घर आश्रम ले आए थे। कई दिनों तक इलाज के बाद जब प्रभु ठीक हुए तो उन्होंने बताया कि वह तमिलनाडु के रहने वाले हैं। इस पर अपना घर आश्रम ने दक्षिण भारतीय अप्पसामी एसोसिएट्स के अरुण कुमार से संपर्क किया। जिसे बाद प्रभु के घर सूचना पहुंचाई। पता चला कि यह भारतीय सशस्त्र सुरक्षा बल के जवान थे। मानसिक स्थिति खराब होने की वजह से घर से गायब हो गए थे। वाराणसी में किसी रेस्टोरेंट में बर्तन धोकर पेट पाल रहे थे। 

आश्रम की टीम के द्वारा इन्हें रेस्क्यू कर आश्रम लाया गया था। जहां स्वस्थ होने के उपरांत उनके बताए पते के आधार पर दोस्तों के साथ मार्मिक विदाई की गई। इनकी गुमशुदगी की रिपोर्ट तमिलनाडु में पुलिस थाने में लिखवाई गई थी। कई जगह इश्तिहार चिपकाए गए थे। लेकिन संजोग आज बना कि यह अपना घर आश्रम वाराणसी से अपने घर को प्रस्थान किये।