DA Image
16 अक्तूबर, 2020|11:50|IST

अगली स्टोरी

एंटी रोमियो दस्ता फिर सक्रिय किया जाए : योगी आदित्यनाथ

उत्तर प्रदेश में महिलाओं और बालिकाओं के साथ बढ़ रहे अपराधों पर रोक लगाने के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सख्त कदम उठाने के निर्देश पुलिस अधिकारियों को दिए हैं। उन्होंने कहा कि प्रत्येक रेंज से नाबालिक बालिकाओं के साथ हुए जघन्य अपराधों के 10-10 मामलों को चिन्हित कर फास्ट ट्रैक कोर्ट में मुकदमा चलवाया जाए। ऐसे अपराधियों को कड़ी से कड़ी सजा दिलाई जाए। मुख्यमंत्री ने एंटी रोमियो दस्ते को तत्काल सक्रिय करने के निर्देश दिए हैं। 

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने महिला सुरक्षा को लेकर सोमवार को लोकभवन में उच्चस्तरीय बैठक की। उन्होंने पुलिस अफसरों से कहा कि महिलाओं और बालिकाओं के उत्पीड़न से जुड़ी घटनाओं पर तत्काल  प्रभावी कार्रवाई की जाए। प्रदेश सरकार महिलाओं एवं बालिकाओं की गरिमा बनाए रखने तथा उन्हें हर प्रकार की सुरक्षा प्रदान करने के लिए कटिबद्ध है। प्रत्येक थाना क्षेत्र में पूर्व में महिलाओं और बालिकाओं के विरुद्ध अपराधों में संलिप्त रहे व्यक्तियों को चिन्हित कर उन्हें पाबन्द करने के निर्देश भी दिए। 

इस महीने से ही बढ़ जाएगी एंटी रोमियो दस्ते की सक्रियता

मुख्यमंत्री  ने पुलिसिंग के साथ ही डायल-100 तथा एंटी रोमियो दस्ते को और अधिक सक्रिय किये जाने के निर्देश दिए हैं। एंटी रोमियो दस्ते की कार्रवाइयों को पूरे जून माह अभियान के रूप में चलाने के निर्देश दिए। मुख्यमंत्री ने भीड़भाड़ वाले तथा संवेदनशील स्थानों पर एंटी रोमियो दस्ते को निरन्तर सक्रिय रखने को कहा। 

वरिष्ठ अधिकारी भी क्षेत्र भ्रमण करेंगे

मुख्यमंत्री ने प्रभावी पुलिसिंग और अपराध नियंत्रण के लिए वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा भी क्षेत्र भ्रमण करने के निर्देश दिए। प्रभावी पुलिसिंग और अपराध नियंत्रण के लिए वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा क्षेत्र भ्रमण को आवश्यक बताते हुए मुख्यमंत्री जी ने कहा कि एडीजी, आईजी एवं डीआईजी जैसे वरिष्ठ पुलिस अधिकारी भी फील्ड में भ्रमण करें। पुलिस कप्तान प्रतिदिन अलग-अलग थाना क्षेत्रों का भ्रमण करें। उन्होंने कहा कि पेट्रोलिंग व्यवस्था को और प्रभावी बनाने के लिए पुलिस निरंतर फुट पेट्रोलिंग (गश्त) करे। डायल-100 की पेट्रोलिंग को और प्रभावी बनाने के निर्देश दिए।  उन्हों ने कहा कि डायल-100 के वाहनों को व्यापारिक क्षेत्रों तथा लूटपाट की दृष्टि से संवेदनशील स्थानों पर खड़ा होना चाहिए। मुख्यमंत्री ने वाहनों की रैंडम चेकिंग करने को कहा। इसके लिए विशेष अभियान चलाने के निर्देश दिए। 

जुलाई में स्कूलों में जागरूकता कार्यक्रम

मुख्यमंत्री ने जुलाई में सभी स्कूलों में महिला कल्याण और पुलिस विभाग द्वारा महिला सुरक्षा संबंधी प्रावधानों के बारे में जागरूकता अभियान चलाने को कहा। मुख्यमंत्री ने कहा कि पुलिस की मौजूदगी मात्र अपराधों को नियंत्रित करने में सहायक होती है। इसके लिए अभी से कैलेण्डर तैयार करने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि महिला सम्बन्धी अपराधों में घरेलू हिंसा की भी भूमिका है। इसके दृष्टिगत '181' महिला हेल्पलाइन को सुदृढ़ किया जाए और इस हेल्पलाइन के सम्बन्ध में जागरूकता के लिए इसका व्यापक प्रचार-प्रसार किया जाए। उन्होंने '1090' वीमेन पावर लाइन को भी और अधिक सुदृढ़ बनाने तथा प्रत्येक माह इसकी समीक्षा के भी निर्देश दिए।

इस बैठक में मुख्य सचिव डॉं अनूप चन्द्र पांडेय, पुलिस महानिदेशक ओपी सिंह, प्रमुख सचिव गृह अरविन्द कुमार, प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री एसपी गोयल, प्रमुख सचिव महिला कल्याण श्रीमती मोनिका गर्ग उपस्थित थी। 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Anti Romeo squad to be activated again in up says Yogi adityanath