ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तर प्रदेशएक और OBC विधायक जितेंद्र वर्मा का भाजपा से इस्तीफा, सपा ने बनाया आगरा का जिलाध्यक्ष

एक और OBC विधायक जितेंद्र वर्मा का भाजपा से इस्तीफा, सपा ने बनाया आगरा का जिलाध्यक्ष

विधानसभा चुनाव से ठीक पहले भाजपा को एक और झटका लगा है। आगरा की फतेहाबाद सीट से विधायक जितेंद्र वर्मा ने भाजपा की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया है। भाजपा से इस्तीफा देकर सपा में पहुंचे जितेंद्र...

एक और OBC विधायक जितेंद्र वर्मा का भाजपा से इस्तीफा, सपा ने बनाया आगरा का जिलाध्यक्ष
Yogesh Yadavआगरा लाइव हिन्दुस्तानSun, 23 Jan 2022 07:01 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/

विधानसभा चुनाव से ठीक पहले भाजपा को एक और झटका लगा है। आगरा की फतेहाबाद सीट से विधायक जितेंद्र वर्मा ने भाजपा की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया है। भाजपा से इस्तीफा देकर सपा में पहुंचे जितेंद्र वर्मा को पार्टी ने हाथों हाथ लिया और आगरा का जिलाध्यक्ष भी बना दिया है। 

जितेंद्र वर्मा ने कहा कि मैंने बीजेपी के लिए लगातार काम किया लेकिन इसके बावजूद मुझे टिकट नहीं दिया गया। भाजपा ने युवाओं को बढ़ावा देने की बात कही लेकिन 75 वर्षीय को टिकट दे दिया। समाजवादी पार्टी यूपी में सरकार बनाएगी और जनता को लिए काम करेंगी। 

पीटीआई-भाषा से जितेंद्र वर्मा ने कहा कि भाजपा में किसी कार्यकर्ता और विधायक की बिल्कुल चलती नहीं है। आप सेवा भाव से सेवा करेंगे और किसी परेशान किसान को खाद भी नहीं दिलवा सकते तो किस बात के विधायक हैं। उन्होंने कहा कि लोग गांव में जा रहे हैं तो सवाल पूछे जा रहे हैं, यह स्थिति विधायकों ने तो की नहीं है, व्यवस्था खराब है। सिस्‍टम संभाल कर रखते तो यह स्थित नहीं बनती। वर्मा ने आगे कहा, सिर्फ मैं ही नहीं मेरे जैसे बहुत से विधायक हैं जो भाजपा छोड़कर चले जाएंगे। 
 

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव को इस्तीफा भेजने के बाद लखनऊ में उन्होंने सपा की सदस्यता ग्रहण की। जितेंद्र वर्मा निषाद समाज से आते हैं। पूर्व में सपा में शामिल रहे वर्मा 2017 में भाजपा के टिकट पर फतेहाबाद सीट से जीते थे। इस बार उनका टिकट कट गया था। भाजपा ने इस बार फतेहाबाद से छोटेलाल वर्मा को टिकट दिया है।

जितेंद्र वर्मा के भाजपा छोड़ने की कई दिनों से अटकलें चल रही थीं। भाजपा ने उनका टिकट काटकर बसपा से आए पूर्व विधायक छोटेलाल वर्मा को अपना उम्मीदवार बनाया है। तभी से जितेंद्र वर्मा के पार्टी छोड़ने की चर्चाएं थीं लेकिन किन्हीं कारणों से उनकी ज्वाइनिंग नहीं हो पा रही थी। इस बीच बसपा से चुनाव लड़ने की भी चर्चा चली। टिकट कटने के बाद आगरा में यह पहला बड़ा फेरबदल है।

epaper