ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशकानपुर पुलिस की फर्जी दरोगा से दोबारा मुठभेड़, चकमा देकर अस्पताल से हुआ था फरार

कानपुर पुलिस की फर्जी दरोगा से दोबारा मुठभेड़, चकमा देकर अस्पताल से हुआ था फरार

कानपुर में मुठभेड़ में पैर पर गोली लगने के बाद अस्पताल से फरार हुए फर्जी एसटीएफ दरोगा की एक बार फिर पुलिस से मुठभेड़ हो गई। इस बार उसके दूसरे पैर में गोली लगी है। आरोपी दिल्ली भागने के फिराक में था।

कानपुर पुलिस की फर्जी दरोगा से दोबारा मुठभेड़, चकमा देकर अस्पताल से हुआ था फरार
Pawan Kumar Sharmaहिन्दुस्तान,कानपुरThu, 16 Nov 2023 10:07 PM
ऐप पर पढ़ें

यूपी के कानपुर में मुठभेड़ में पैर पर गोली लगने के बाद अस्पताल से फरार हुए फर्जी एसटीएफ दरोगा जितेंद्र परिहार की एक बार फिर पुलिस से मुठभेड़ हो गई। कुठौंद थाना क्षेत्र के बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे के पास पुलिस और आरोपित के बीच में गोली चली। जिसमें इस बार उसके दूसरे पैर (बाएं) में गोली लग गई। उसके पास से पुलिस ने मोटरसाइकिल और तमंचा बरामद किया है। 

बीती 10 नवंबर को उरई कोतवाली पुलिस ने फैक्ट्री एरिया के पास दीपावली के पर्व पर लोगों से फर्जी दरोगा बनकर वसूली कर रहे शातिर बदमाश जितेंद्र सिंह उर्फ शैलेंद्र निवासी ग्राम जगम्मनपुर थाना रामपुरा को मुठभेड़ के दौरान गिरफ्तार किया था। इस दौरान बदमाश के दाहिने पैर में गोली लगी थी। हालत नाजुक होने पर उसे कानपुर के हैलट में भर्ती कराया गया था। सोमवार सुबह दो सिपाहियों को चकमा देकर वह वहां से फरार हो गया था। वहीं गुरुवार शाम पुलिस को सूचना मिली कि वह बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे से दिल्ली भागने की फिराक में है। आरोपी फर्जी दरोगा बनकर वसूली कर रहा है। इस पर रामपुरा कुठौंद, एसओजी और सर्विलांस टीम ने उसे चारों तरफ से घेर लिया। पुलिस को देखते ही वह फायरिंग करने लगा। पुलिस ने भी जवाबी फायरिंग की जिसके बाद उसके बाएं पैर में गोली लग गई। उसे पुलिस ने जिला अस्पताल में भर्ती कराया है।

एसपी जालौन ईरज राजा ने बताया कि आरोपित की बहन और जीजा दिल्ली में रहते हैं। वह वहीं भागने की फिराक में था। पुलिस को सूचना मिली। टीम ने घेराबंदी की। आरोपित के फायरिंग करने पर जवाबी फायरिंग में वह घायल हुआ है। आरोपित को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें