ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेशयूपी में गर्मी के टूटते रिकॉर्ड के बीच बड़ी खुशखबरी, मौसम विभाग ने जारी किया बारिश का ऑरेंज अलर्ट

यूपी में गर्मी के टूटते रिकॉर्ड के बीच बड़ी खुशखबरी, मौसम विभाग ने जारी किया बारिश का ऑरेंज अलर्ट

Rain Alert in Uttar Pradesh: एक नये पश्चिमी विक्षोभ के प्रभाव तथा पुरवा हवा के साथ प्रतिक्रिया के परिणामस्वरूप उत्तरी तराई इलाकों में गरज-चमक के साथ तेज आंधी चलने के आसार बन रहे हैं।

यूपी में गर्मी के टूटते रिकॉर्ड के बीच बड़ी खुशखबरी, मौसम विभाग ने जारी किया बारिश का ऑरेंज अलर्ट
Ajay Singhविशेष संवाददाता ,लखनऊWed, 19 Jun 2024 09:52 AM
ऐप पर पढ़ें

Rain alert in Uttar Pradesh: बढ़ती गर्मी ने उत्‍तर प्रदेश में रात के तापमान के भी सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं। आंचलिक मौसम विज्ञान केन्द्र के वैज्ञानिक अतुल कुमार सिंह के अनुसार बरेली में मौसमी आंकड़ों के इतिहास में सोमवार की रात तीसरी सबसे गरम रात रही। प्रदेश के तीन स्थानों पर नये रिकार्ड बने। लखीमपुर खीरी 1969, शाहजहांपुर में 1977 के बाद जून के महीने में 33 डिग्री सेल्सियस तापमान के साथ बीते सोमवार की रात सबसे गरम रही। वाराणसी में 1969 के बाद सोमवार को 33.6 डिग्री सेल्सियस तापमान दर्ज हुआ जो कि एक नया रिकार्ड है।

सोमवार को सुल्तानपुर में दर्ज हुआ 47 डिग्री सेल्सियस दिन का तापमान जून के महीने में मौसमी आंकड़ों के संकलन के इतिहास में अब तक का सबसे अधिक तापमान है। बरेली में गर्म रात का का नया रिकार्ड, 70 साल के बाद रात का पारा 33 डिग्री पर पहुंचा। उन्होंने बताया कि एक नये पश्चिमी विक्षोभ के प्रभाव तथा पुरवा हवा के साथ प्रतिक्रिया के परिणामस्वरूप उत्तरी तराई इलाकों में गरज चमक के साथ तेज आंधी चलने के आसार बन रहे हैं। 19 जून से शुरू होने वाली हल्की से मध्यम बारिश के दौर से उत्तरी तराई इलाकों में लू से प्रचंड लू की स्थिति से राहत मिलने की उम्मीद है। जबकि मध्यवर्ती और दक्षिणी हिस्सों में गर्मी की तीव्रता में उत्तरोत्तर कमी के साथ आगामी तीन चार दिनों तक जारी रहने की सम्भावना है। 

आगरा और आसपास के इलाकों में सोमवार की देर रात हुई तेज बारिश और आंधी के चलते पारा लुढ़का जरूर पर गर्मी बरकरार रही। आगरा में अधिकतम तापमान 45.2 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया। वहीं रात के न्यूनतम तापमान में पिछले दिन की अपेक्षा करीब 7 डिग्री सेल्सियस की गिरावट दर्ज की गई। यहां 24 घंटे में 6.5 मिमी बारिश दर्ज की गई। वहीं मथुरा में रात के तापमान में मामूली वृद्धि दर्ज हुई, जबकि दिन का तापमान भी 46 डिग्री सेल्सियस के करीब रहा।

अतुल कुमार सिंह ने बताया कि फिलहाल अगले तीन चार दिन दक्षिणी पश्चिमी मानसून की उत्तर प्रदेश में आने के आसार तो नहीं हैं। जब यह बिहार में आ जाए उसके बाद ही उत्तर प्रदेश में मानसून के आगमन के बारे में कुछ सम्भावना बनेगी। उन्होंने बताया कि एक नये पश्चिमी विक्षोभ की सक्रियता के चलते 19 जून से प्रदेश के कुछ हिस्सों में आंधी-बारिश के आसार बन रहे हैं। प्रयागराज के मौसम में बदलाव हुआ है। सोमवार की रात में बादल छाने और रात से ही हवा चलने के कारण रात के तापमान में 1.7 डिग्री सेल्सियस की गिरावट हुई है। वहीं दिन का पारा 24 घंटे में 47.6 डिग्री सेल्सियस से 5.1 डिग्री गिरावट के साथ 42.5 डिग्री पर पहुंच गया। हालांकि इसके बावजूद यह सामान्य से 3.6 डिग्री सेल्सियस अधिक है।

असामान्य गर्मी से मैदानी इलाके झुलसे
अगले दो दिनों तक उत्तर भारत के कई हिस्सों में भीषण गर्मी की स्थिति बनी रहने की संभावना है। हालांकि, मौसम विभाग के अधिकारियों ने कहा कि उत्तर-पश्चिम भारत की ओर बढ़ रहे पश्चिमी विक्षोभ के प्रभाव के कारण गर्मी कम हो सकती है।

11 जून से अटका हुआ है मानसून
11 जून के बाद से मानसून उत्तरी सीमा की ओर मुश्किल से आगे बढ़ा है। महाराष्ट्र, आंध्र प्रदेश, छत्तीसगढ़, कर्नाटक के कुछ हिस्से में ही पहुंचा है।

आगे बढ़ने के लिए परिस्थिति अनुकूल
मौसम विभाग के अनुसार, महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़, ओडिशा, तटीय आंध्र प्रदेश, पश्चिम बंगाल के गंगा के मैदानी इलाकों के साथ-साथ बिहार के कुछ हिस्सों में मानसून के आगे बढ़ने के लिए परिस्थितियां अनुकूल हैं।