DA Image
हिंदी न्यूज़ › उत्तर प्रदेश › यूपी में बन सकते हैं अमेरिकी यूनिवर्सिटी के ऑफ कैंपस, पांच सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल ने डिप्टी सीएम को दिया ये प्रस्ताव
उत्तर प्रदेश

यूपी में बन सकते हैं अमेरिकी यूनिवर्सिटी के ऑफ कैंपस, पांच सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल ने डिप्टी सीएम को दिया ये प्रस्ताव

प्रमुख संवाददाता,राज्य मुख्यालय Published By: Sneha Baluni
Fri, 06 Aug 2021 05:18 AM
यूपी में बन सकते हैं अमेरिकी यूनिवर्सिटी के ऑफ कैंपस, पांच सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल ने डिप्टी सीएम को दिया ये प्रस्ताव

पांच सदस्यीय अमेरिकी प्रतिनिधि मंडल ने गुरुवार को उप मुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा के साथ कई अहम मुद्दों पर विचार-विमर्श किया। प्रतिनिधिमंडल ने नोएडा व आगरा को अमेरिका के शहरों के साथ ‘सिस्टर सिटी’ के रूप में विकास के लिए एमओयू करने का सुझाव दिया। साथ ही अयोध्या, काशी, मथुरा व प्रयागराज में धार्मिक व आध्यात्मिक पर्यटन की संभावनाओं पर भी उत्सुकता दिखाई।

यह मुलाकात विधानभवन स्थित उपमुख्यमंत्री के कार्यालय कक्ष में हुई। अमेरिकी दूतावास में उत्तर भारत कार्यालय के निदेशक माइकल रोसेंथाल के नेतृत्व में आए इस प्रतिनिधि मंडल ने यूपी और अमेरिका के बीच आर्थिक और व्यावसायिक संबंधों को और मजबूत करने पर विचार किया। उप मुख्यमंत्री डॉ. शर्मा ने यूपी में बढ़ रही ढांचागत सुविधाओं, उद्योगों के संबंध में स्पष्ट नीति, कानून-व्यवस्था, नई शिक्षा नीति, आईटी एवं इलेक्ट्रॉनिक्स के क्षेत्र में हो रहे कार्यों की जानकारी दी। 

उन्होंने कहा कि मोबाइल का 45 प्रतिशत उत्पादन उत्तर प्रदेश का है। मोबाइल उपकरण बनाने वाले 55 प्रतिशत उत्पादक यूपी में है। डाटा सेंटर के संबंध में नीति निर्धारण के बाद 13 कंपनियों ने यूपी में 20 हजार करोड़ के निवेश के प्रस्ताव दिए हैं। कोरोना काल में मोभी यूपी में 65 हजार करोड़ का निवेश हुआ, जिसमें से 17 हजार करोड़ का विदेशी निवेश शामिल है।

अमेरिकी विश्वविद्यालयों का ऑफ कैंपस बनाने का भी प्रस्ताव दिया 

प्रतिनिधि मंडल ने यूपी में अमेरिका के बड़े विश्वविद्यालयों के ऑफ कैंपस बनाने और यूपी के विश्वविद्यालयों तथा अमेरिकी विश्वविद्यालयों के साथ वर्चुअल शिक्षण कार्य शुरू करने का प्रस्ताव भी पेश किया। माइकल रोसेंथाल ने कहा कि पिछले चार वर्षों में बहुत ही सकारात्मक परिवर्तन हुआ है। उन्होंने डॉ. शर्मा को अमेरिका आने का निमंत्रण भी दिया। साथ ही यूपी में शिक्षा तथा आईटी एवं इलेक्ट्रॉनिक्स के क्षेत्र में हुए सकारात्मक सुधारों की प्रशंसा की। 

नई शिक्षा नीति को उन्होंने संभावनाओं से युक्त बताया। उन्होंने यूपी में सबसे पहले नई शिक्षा नीति लागू होने पर बधाई भी दी। इस दौरान प्रतिनिधिमंडल में शामिल ट्रैविस कोबर्ली, कवलीन चथवाल, जुई भंडारी व कशिश त्यागी के अलावा अपर मुख्य सचिव सूचना प्रौद्योगिकी अरविंद कुमार तथा विशेष सचिव ऋषिरेंद्र कुमार व कुमार विनीत भी उपस्थित थे।

संबंधित खबरें