ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेशमथुरा में गजब दबंगई, पहले पार्षद पति पर हमला, चौकी इंचार्ज पहुंचा तो उसे भी पीटा, वर्दी फाड़ी

मथुरा में गजब दबंगई, पहले पार्षद पति पर हमला, चौकी इंचार्ज पहुंचा तो उसे भी पीटा, वर्दी फाड़ी

मथुरा में मनबढ़ों की दबंगई देखने को मिली है। यहां बालाजीपुरम में पार्षद पति पर हमले की सूचना पर पहुंचे चौकी इंचार्ज को पीटा गया। उनकी वर्दी फाड़ दी गई। गाड़ी से कुचलने का प्रयास भी किया गया। 

मथुरा में गजब दबंगई, पहले पार्षद पति पर हमला, चौकी इंचार्ज पहुंचा तो उसे भी पीटा, वर्दी फाड़ी
Yogesh Yadavलाइव हिन्दुस्तान,मथुराThu, 30 May 2024 02:59 PM
ऐप पर पढ़ें

मथुरा में हाइवे थाना क्षेत्र के बालाजीपुरम में मंगलवार रात एक दर्जन से अधिक लोगों ने पार्षद के पति पर हमला कर दिया। उन पर गाड़ी चढ़ाने का प्रयास किया और फायरिंग की। सूचना पर पहुंची पुलिस को भी हमलावरों ने नहीं छोड़ा। चौकी इंचार्ज को पीट दिया और वर्दी फाड़ते हुए उन पर भी गाड़ी चढ़ाने का प्रयास किया और फायर किया। पुलिस ने बाद में चार लोगों को गिरप्तार कर लिया। इस घटना में कुछ गाड़ियां भी क्षतिग्रस्त हुई हैं।

घटना के संबंध में पार्षद पति बालाजीपुरम निवासी दिनेश चौधरी द्वारा दर्ज करायी रिपोर्ट में कहा है कि मंगलवार शाम करीब 7:30 वजे उनके मोबाइल पर फोन आया। फोन करने वाले ने उन्हें व उनके परिवार को जान से मारने की धमकी दी। लगभग डेढ़ घंटे बाद वह अपने घर पर नीरज, विजय के साथ बात कर रहे थे, तभी अचानक 4 गाड़ियों में भरकर रिवाल्वर एवं पिस्टल व कट्टे, लाठी-डंडे लेकर लोग आ गये और उनकी की स्कूटी व नीरज की वाइक व विजय की गाड़ी में टक्कर मार दी। 

उन गाड़ियों में जुगेन्द्र, भरत करन, हेमन्त तोमर, मंजीत, सुमित सारस्वत, सुमेर, ओमवीर और करीब 8 से 10 अज्ञात व्यक्ति मौजूद थे। गाड़ी में टक्कर मारने के बाद आरोपियों ने रिवाल्वर, पिस्टल से फायर किये और उनके घर में घुस गये। जिससे आसपास दहशत फैल गयी। इस घटना में दिनेश, नीरज व विजय को गाड़ी की टक्कर से चोटें आयी हैं और उनकी गड़ियां व घर के दरवाजे व अन्य समान टूट-फूट गया।

इसी संबंध में उप निरीक्षक चेतन कुमार भारद्वाज द्वारा दर्ज करायी रिपोर्ट में कहा है कि वह हेडकांस्टेबल प्रभाकर के साथ चौकी क्षेत्र बालाजीपुरम में थे। रात करीब 09:50 बजे मारपीट की सूचना पर वह हेडकांस्टेबल प्रभाकर के साथ मौके पर पहुंचे तो कुछ लोग दिनेश के साथ हाथापाई व पथराव कर रहे थे। एक चार पहिया वाहन फोर्च्यूनर के चालक द्वारा (जिसे भरत किरन चला रहा था) जान से मारने की नियत से दिनेश की स्कूटी में टक्कर मारी, जिससे उसकी स्कूटी क्षतिग्रस्त हो गयी और दिनेश बाल-बाल बचा।

इतने में ही भरत किरन के अन्य साथी मंजीत, जुगनू उर्फ जुगेन्द्र सुमित सारस्वत, हेमन्त, सुमेर, ओमवीर, राहुल व अन्य करीब 10-15 लोग पथराव करने लगे। इनमें से कई लोगो के पास हाथों में नाजायज छोटे असलहा थे।

रिपोर्ट में कहा है कि मंजीत पूर्व फौजी द्वारा असलाह से पुलिस कर्मियों पर सीधा फायर किया गया। शुक्र रहा कि फायर मिस हो गया। पुलिस कर्मी आगे बढ़े तो हमलावर पुलिस वालों पर पथराव करने लगे। मंजीत पूर्व फौजी, जुगनू, सुमित, हेमन्त, सुमेर, ओमवीर, भरत किरन, राहुल निवासीगण बालाजीपुरम व अन्य करीब 10-15 लोगों ने पुलिस कर्मियों पर हमला किया।

जिससे उप निरीक्षक चेतन घायल हो गये और पुलिस वर्दी की बटन टूट गयी व मोनोग्राम व नेम प्लेट गिर गयी। हमलावरों ने उप निरीक्षक का गला भी दबाया गया। इस दौरान मौके पर भगदड़ मच गयी और लोग अपने घरों व दुकानों के शटर बंद करके भागने लगे।

घटना की सूचना हेड कांस्टेबल प्रभाकर द्वारा प्रभारी निरीक्षक को देते हुए पुलिस बल की मांग की गयी। इतने में ही भरत द्वारा पुलिस कर्मियों पर कार चढ़ाने का प्रयास किया गया। पुलिस कर्मी उछलकर दूसरी ओर चले गये लेकिन गाड़ी मकान की रैम्प में लग गयी, जिससे गाड़ी व घर की रैम्प क्षतिग्रस्त हो गयी।

इसके बाद हमलावर असलाह लहराते हुए जान से मारने की धमकी देते हुए भागने लगे। भागते हुए लोगो में से दो व्यक्तियों सुमित सारस्वत पुत्र रामबाबू और हेमन्त पुत्र राजवीर निवासीगण बालाजीपुरम को पुलिस ने पकड़ लिया। कुछ देर बाद मौके पर एसएचओ अतिरिक्त पुलिस बल के साथ पहुंच गये। तब तक अन्य व्यक्ति मौके से फरार हो चुके थे।

एसपी सिटी डॉ. अरविंद सिंह के अनुसार बालाजीपुरम में हमले की सूचना पर पहुंचे चौकी इंचार्ज को भी हमलावरों ने पीटा। उन पर गाड़ी चढ़ाने का प्रयास किया। पुलिस ने मौके से चार लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। बाकी लोगों की पहचान की जा रही है। जो लोग हमला में शामिल हैं, उनको गिरफ्तार किया जाएगा। घटना में शामिल गाड़ी को सीज किया जाएगा और गाड़ी मालिक तथा चालक के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।