ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशसबसे बड़े मैनेजमेंट गुरु भगवान श्रीकृष्‍ण से प्रबंधन मंत्र लेंगे इलाहाबाद यूनिवर्सिटी के छात्र, BBA-MBA के सिलेबस में हुए शामिल 

सबसे बड़े मैनेजमेंट गुरु भगवान श्रीकृष्‍ण से प्रबंधन मंत्र लेंगे इलाहाबाद यूनिवर्सिटी के छात्र, BBA-MBA के सिलेबस में हुए शामिल 

इलाहाबाद यूनिवर्सिटी के छात्र अब भगवान श्रीकृष्‍ण से प्रबंधन कौशल के गुर सीखेंगे। कार्मस डिपार्टमेंट के पांच साल के एकीकृत BBA-MBA पाठ्यक्रम में भगवद गीता, रामायण उपनिषदों की शिक्षाएं भी शामिल हैं

सबसे बड़े मैनेजमेंट गुरु भगवान श्रीकृष्‍ण से प्रबंधन मंत्र लेंगे इलाहाबाद यूनिवर्सिटी के छात्र, BBA-MBA के सिलेबस में हुए शामिल 
Ajay Singhलाइव हिंदुस्‍तान,प्रयागराजWed, 08 Nov 2023 08:18 AM
ऐप पर पढ़ें

Lord Krishna Management Mantras : इलाहाबाद विश्‍वविद्यालय में प्रबंधन की पढ़ाई कर रहे छात्र अब दुनिया के सबसे बड़े मैनेजमेंट गुरु माने जाने वाले भगवान श्रीकृष्‍ण से प्रबंधन कौशल के गुर सीखेंगे। कार्मस डिपार्टमेंट के पांच साल के एकीकृत बीबीए-एमबीए पाठ्यक्रम में भगवद गीता, रामायण उपनिषदों की शिक्षाएं भी शामिल हैं। इसके साथ ही चाणक्‍य भी इन मैनेजमेंट छात्रों को सफलता की राह दिखाएंगे।
  
प्रबंधन के छात्र पहली बार जेआरडी टाटा, अजीम प्रेमजी, धीरूभाई अंबानी, नारायण मूर्ति, सुनील मित्तल और बिड़ला जैसे शीर्ष उद्योगपतियों के स्मार्ट प्रबंधकीय निर्णयों का अध्ययन करेंगे। इसके अलावा उन्हें अष्टांग योग भी सिखाया जाएगा। इससे छात्रों में विपरीत परिस्थितियों में भी शांत रहने का गुण विकसित होगा। बता दें कि विश्‍वविद्यालय के इस विभाग ने 26 छात्रों के साथ पाठ्यक्रम शुरू किया है। इसमें दस सेमेस्‍टर होंगे। ये 220 क्रेडिट के होंगे। 

मल्टीपल एंट्री, एग्जिट सिस्टम को इसमें लागू किया जाना है। इसका मतलब यह है कि यदि कोई पहले साल में पढ़ाई छोड़ता है तो उसे एक साल का सर्टिफिकेट, दूसरे साल में डिप्लोमा और तीसरे साल में बीबीए की डिग्री और पांचवें साल में एमबीए की डिग्री मिलेगी। विभाग की ओर से बताया गया है कि पाठ्यक्रम में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस और स्टार्टअप मैनेजमेंट को भी शामिल किया गया है।

छात्रों को भारतीय प्रबंधन विचार और प्रथाओं के पेपर में आध्यात्मिकता और प्रबंधन, सांस्कृतिक लोकाचार, अष्टांग योग, मानवीय मूल्य और प्रबंधन, जीवन का समग्र दृष्टिकोण और ध्यान और तनाव आदि के बारे में बताया जाएगा। इसके साथ विषय का पारंपरिक अध्ययन तो होगा ही।

श्रीकृष्‍ण को क्‍यों माना जाता है मैनेजमेंट गुरु
श्रीमद्भागवत गीता में श्रीकृष्‍ण ने कई ऐसी बाते बताई हैं जो इस युग में भी युवाओं के लिए सफलता का मार्ग प्रशस्‍त कर सकती हैं। छात्रों को उनसे दूरदर्शिता, परिस्थितियों का आकलन, अनुशासन, व्‍यर्थ चिंता न करने और भविष्‍य की बजाए वर्तमान पर ध्‍यान केंद्रित करने जैसी कई महत्‍वपूर्ण गुण सीखने को मिल सकते हैं। 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें