ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशटाइपिंग में शून्य और माइनस अंक पाने वालों का किस कार्य के लिए किया गया चयन, हाईकोर्ट ने मांगा जवाब 

टाइपिंग में शून्य और माइनस अंक पाने वालों का किस कार्य के लिए किया गया चयन, हाईकोर्ट ने मांगा जवाब 

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने टाइपिंग टेस्ट में शून्य व माइनस अंक पाने वालों के चयन को उचित ठहराने पर  महानिबंधक कार्यालय से जवाब मांगा है। यह आदेश न्यायमूर्ति अश्विनी कुमार मिश्र ने विनीत कुमार व चार...

टाइपिंग में शून्य और माइनस अंक पाने वालों का किस कार्य के लिए किया गया चयन, हाईकोर्ट ने मांगा जवाब 
प्रयागराज। विधि संवाददाताWed, 13 Jan 2021 09:11 PM
ऐप पर पढ़ें

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने टाइपिंग टेस्ट में शून्य व माइनस अंक पाने वालों के चयन को उचित ठहराने पर  महानिबंधक कार्यालय से जवाब मांगा है। यह आदेश न्यायमूर्ति अश्विनी कुमार मिश्र ने विनीत कुमार व चार अन्य की याचिका पर दिया है। कोर्ट ने अन्य अभ्यर्थियों को भी याचिका में पक्षकार बनने की छूट दी है।
याचिका में टाइपिंग टेस्ट में माइनस व शून्य अंक पाने वालों के चयन के औचित्य पर सवाल उठाया गया है। कहा गया है कि इनका किस कार्य के लिए चयन किया गया है और टाइपिंग टेस्ट में अधिक अंक पाने के बावजूद याचियों को चयनित नहीं किया गया है। कोर्ट ने पूछा है कि जिन्होंने टाइपिंग टेस्ट में माइनस अंक पाए हैं, उन्हें किसलिए और क्यों चयनित किया गया है। कोर्ट ने सक्षम अधिकारी को अगली सुनवाई के समय रिकार्ड के साथ उपस्थित रहने का भी आदेश दिया है।

 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें