Thursday, January 27, 2022
हमें फॉलो करें :

मल्टीमीडिया

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तर प्रदेशअलीगढ़ : स्कूल में घुसा तेंदुआ, बच्चों पर किया हमला ; 9 घंटे बाद आया पकड़

अलीगढ़ : स्कूल में घुसा तेंदुआ, बच्चों पर किया हमला ; 9 घंटे बाद आया पकड़

कार्यालय संवाददाता,अलीगढ़ Shivendra Singh
Wed, 01 Dec 2021 09:47 PM
अलीगढ़ : स्कूल में घुसा तेंदुआ, बच्चों पर किया हमला ; 9 घंटे बाद आया पकड़

अलीगढ़ में स्थित निहाल इंटर कॉलेज में बुधवार को तेंदुए के घुस गया। कक्षा में बच्चों के दाखिल होने पर तेंदुए ने हमला बोल दिया जिसमें एक छात्र घायल हो गया। छात्रों के बीच भगदड़ मच गई। वन विभाग व आगरा से आई वाइल्ड लाइफ टीम ने तेंदुए को पकड़ने के लिए रेस्क्यू ऑपरेशन चलाया। करीब नौ घंटे बाद जाकर तेंदुए को पकड़ा जा सका। अफसर तेंदुए के नरौरा व गंगा किनारे वन क्षेत्र से आने की आशंका जता रहे हैं।

अलीगढ़ के कस्बा छर्रा स्थित बरौली में चौ. निहाल सिंह इंटर कालेज में अर्द्धवार्षिक परीक्षाएं चल रही हैं। बुधवार को प्रतिदिन की तरह ही छात्र परीक्षा देने पहुंचे। कालेज की दूसरी मंजिल पर कमरा नबंर-10 में हाईस्कूल की कक्षा लगती है। सुबह करीब साढ़े आठ बजे परीक्षा देने के लिए कक्षा में बैठने के लिए जैसे ही छात्र कमरे में पहुंचे तो अंदर बैठे तेंदुएं ने छात्रों पर हमला कर दिया। हमले में गांव बरौली निवासी हाईस्कूल के 15 वर्षीय छात्र लकी राज सिंह पुत्र खगेन्द्र सिंह को घायल हो गया। उसके हाथ पर तेंदुए का पंजा लगा। जिसके चलते छात्रों में चीख-पुकार मच गई। तेंदुए के कक्षा में होने व हमला बोलने की बात सुनकर पूरी स्कूल में भगदड़ मच गई। बच्चे ही नहीं पूरे स्कूल के अध्यापक व स्टाफ सड़क पर निकल आया। आसपास के लोगों को जैसे ही तेंदुए के स्कूल में होने की बात पता चली तो लोग घरों की छतों पर चढ़ गए।

कालेज प्रबंधक योगेस्वर सिंह ने घटना की जानकारी पुलिस व वन विभाग को दी। जिसके बाद अलीगढ़ से वन विभाग के कन्जरवेटर अदिती शर्मा, डीएफओ दिवाकर वशिष्ठ सहित तमाम अफसर घटना स्थल पर पहुंचे। स्थानीय पुलिस भी स्कूल परिसर में पहुंच गई। तेंदुए को पकड़ने के लिए आगरा से वाइल्ड लाइफ की पांच सदस्यीय टीम करीब 10 बजे स्कूल परिसर पहुंची। टीम ने जाल डालकर तीन मंजिला इमारत को ढकना शुरू किया ताकि तेंदुआ कहीं से भाग न सके। टीम द्वारा किए गए रेस्क्यू ऑपरेशन के बाद करीब सात बजे जाकर तेंदुआ पिंजरे में कैद हो पाया। पिंजरे में दाखिल होते ही उसे बेहोशी का इंजेक्शन दिया गया।

आग जलाकर तेंदुए की चहल-कदमी रोकी गई
स्कूल के दूसरी मंजिल पर तेंदुआ कभी कक्षा तो कभी गैलरी में घूम रहा था। इस वजह से टीम को पकड़ने में काफी मशक्कत करनी पड़ी। टीम ने एक बांस के आगे कपड़ा बांधकर आग जलाई और तेंदुए को क्रेन के जरिए दिखाया ताकि उसकी चहल-कदमी रुक जाए और वह एक स्थान पर बैठा रहे। दरअसल तेंदुआ आग से डर जाता है।

आठ साल का नर है तेंदुआ
वन विभाग के अफसरों के मुताबिक तेंदुए की उम्र सात से आठ वर्ष के बीच है। फुल ग्रोथ होने की वजह से यह काफी खतरनाक होता है। सबसे ज्यादा फुर्तीला होने के चलते ही वाइल्ड लाइफ की टीम के पसीने छूट गए।

30 से 40 किमी है इनके जाने का दायरा
वन विभाग अफसरों के अनुसार तेंदुए जहां रहते है। वह 30 से 40 किमी. के दायरे में चले जाते हैं और फिर वापस लौटकर अपने ठिकाने पर आ जाते हैं। माना जा रहा है कि तेंदुआ दिन निकल आने के चलते आबादी क्षेत्र से निकलने में डर रहा था।

पहले भी तेंदुआ फैला चुका है दहशत
जनवरी में जवां क्षेत्र में मृतक तेंदुआ मिलने के एक सप्ताह बाद ही बरौला के जंगल में तेंदुआ जैसा जानवर देखा गया था। बीते दिनों थाना सिविल लाइन के अंतर्गत आने वाली रियाज कॉलोनी में सुबह पशुओं को चराने के लिए निकले कॉलोनी के आसपास के लोगों ने तेंदुआ देखा तो उनके होश उड़ गए थे। तेंदुए के बारे में सुनने पर कॉलोनी के लोगों को यकीन नहीं हुआ था पर जब उन्होंने मौके पर तेंदुए जैसे जानवर के पंजों के निशान बने देखें और उन्हें पता चला कि दो दिन पहले भी बकरी के झुंड पर तेंदुए ने हमला कर कुछ बकरियों का अपना शिकार बनाया था। तो पूरे क्षेत्र में दहशत फैल गई थी। 

जवां में करंट से हो चुकी है तेंदुए की मौत
जवां के गांव बरौली में जनवरी माह में जानवरों से बचाव के लिए आलू के खेत में लगाई बाड़ में दौड़ रहे करंट से एक तेंदुए की मौत हो गई थी। जांच में तेंदुए के झुलसे शरीर को देखते हुए मौत का कारण करंट माना गया था। इस मामले खेत मालिक पर एफआईआर भी दर्ज हो चुकी है।

छर्रा स्थित निहाल सिंह इंटर कालेज में घुसे तेंदुआ को पकड़ने के लिए आगरा से आई वाइल्ड लाइफ की टीम ने करीब नौ घंटे तक रेस्क्यू ऑपरेशन किया। तब जाकर सफलता मिल पाई। अब चीफ वाइल्ड लाइफ वार्डन, लखनऊ से मिले निर्देशों के बाद तेंदुए को जंगल में छोड़ा जाएगा। - दिवाकर वशिष्ठ, डीएफओ

epaper

संबंधित खबरें