DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अखिलेश यादव बोले- आरएसएस की बैठक में नहीं जाऊंगा

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ(आरएसएस) की बैठक में शामिल होने से इंकार कर दिया है। उनका कहना है कि सरदार वल्लभ भाई पटेल ने जिन कारणों से संघ पर प्रतिबंध लगाया, वह कारण आज भी मौजूद हैं। 

अखिलेश यादव ने यह बात सोमवार को एक टीवी चैनल के कार्यक्रम में कही। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ सोमवार से दिल्ली में 'भविष्य का भारत: आरएसएस का दृष्टिकोण' विषय पर तीन दिवसीय व्याख्यान श्रृंखला आयोजित कर रहा है। संघ ने अपनी इस बैठक में अखिलेश यादव व मायावती समेत कई नेताओं को आमंत्रित किया है। 

बच्चों की सेहत के साथ खिलवाड़: लखनऊ में मिड-डे में मिले रेंगते कीड़े

अखिलेश यादव से जब इस संबंध में सवाल पूछा गया तो उन्होंने कहा कि उन्हें संघ के बारे में ज्यादा ज्ञान नहीं है। मैंने केवल सरदार पटेल द्वारा आरएसएस पर प्रतिबंध लगाने के बारे में पढ़ा है और उस पेराग्राफ को पढ़कर, मेरे पास बैठक में भाग लेने का साहस नहीं है।

अखिलेश ने कहा कि वह हमेशा इस बात मानते हैं कि सभी को उन मामलों के बारे में कम से कम पढ़ना चाहिए, जिसे सरदार पटेल ने प्रतिबंधित किया था। यह सुनिश्चित करेगा कि उन्होंने जो कुछ भी उस समय कहा था, वह स्थिति आज भी बनी हुई है।

तोगड़िया का तंज: मस्जिद से इश्क आप लड़ाइए, हमें तो राम मंदिर चाहिए

गठबंधन में कांग्रेस भी शामिल होगी 
अखिलेश यादव ने संकेत दिया कि 2019 के आम चुनाव में उत्तर प्रदेश में सपा-बसपा गठबंधन में कांग्रेस भी शामिल होगी। यह पूछे जाने पर कि अगले संसदीय चुनाव के लिए उत्तर प्रदेश में बसपा के साथ पार्टी के प्रस्तावित गठबंधन में कांग्रेस की स्थिति क्या होगी? उन्होंने कहा, ऐसी साइकिलें हैं, जिसमें कई पहिये होते हैं...आज के समय में एक साथ एक ही साइकिल को कई लोग चला सकते हैं और मिलकर वहां पहुंच सकते हैं, जहां उन्हें पहुंचना है। यह साइकिल मिलकर चलेगी। भाजपा उनकी और राहुल की दोस्ती से भयभीत है।

यूपी के राज्यपाल बोले, अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण होना चाहिए

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:akhilesh yadav says he will not attend RSS conference