ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तर प्रदेशगोरखपुर में BJP विधायक राधा मोहन अग्रवाल को अखिलेश का ऑफर- आएं उनके लिए टिकट तैयार

गोरखपुर में BJP विधायक राधा मोहन अग्रवाल को अखिलेश का ऑफर- आएं उनके लिए टिकट तैयार

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ गोरखपुर शहर सीट से चुनाव लड़ेंगे। दो दिन पहले बीजेपी द्वारा 105 उम्‍मीदवारों की सूची के साथ सीएम योगी की उम्‍मीदवारी का ऐलान किए जाने के बाद से...

गोरखपुर में BJP विधायक राधा मोहन अग्रवाल को अखिलेश का ऑफर- आएं उनके लिए टिकट तैयार
Ajay Singhलाइव हिन्‍दुस्‍तान टीम ,लखनऊ Mon, 17 Jan 2022 03:25 PM

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ गोरखपुर शहर सीट से चुनाव लड़ेंगे। दो दिन पहले बीजेपी द्वारा 105 उम्‍मीदवारों की सूची के साथ सीएम योगी की उम्‍मीदवारी का ऐलान किए जाने के बाद से गोरखपुर के चार बार के मौजूदा विधायक डॉ.राधा मोहन दास अग्रवाल को लेकर सियासी सरगर्मियां और कयासबाजी का दौर जारी है। इस बीच समाजवादी पार्टी के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष अखिलेश यादव ने डॉ.राधा मोहन दास अग्रवाल को सपा में शामिल होने का ऑफर दिया है। अखिलेश ने कहा कि वे आएं, उनके लिए टिकट तैयार है। 

गौरतलब है कि दो दिन पहले अखिलेश यादव ने प्रेस कॉफ्रेन्‍स में कहा था कि अब वे भाजपा के किसी विधायक को अपनी पार्टी में नहीं लेंगे, सिवाए एक के। उनके इस बयान को डॉ.राधा मोहन दास अग्रवाल के लिए ऑफर के तौर पर लिया जा रहा था। सोमवार को हुई प्रेस कॉफ्रेन्‍स के दौरान एक मीडियाकर्मी के सवाल पर अखिलेश यादव ने कहा, 'यदि आपका सम्‍पर्क हो तो आप बात कर लें। उनका टिकट अभी घोषित। टिकट हम तुरंत दे देंगे उन्‍हें।' अखिलेश यादव ने कहा, 'मुझे याद है कि जिस समय मैं मुख्‍यमंत्री जी के शपथ के कार्यक्रम में गया था, मैने अपनी आंखों से देखा था कि राधा मोहन अग्रवाल जी को बैठने की कोई जगह नहीं मिली थी। वे दाईं तरफ अकेले खड़े थे, जहां स्‍टेज बना हुआ था। उनका सबसे ज्‍यादा अपमान हुआ है।' 

पूर्व मुख्‍यमंत्री ने चंद्रशेखर आजाद रावण की पार्टी से गठबंधन न होने को लेकर भी वजह साफ की। उन्‍होंने कहा कि इसके पीछे कोई साजिश लगती है। मैंने चंद्रशेखर आजाद से बातचीत में उन्हें दो विधानसभा सीटें देने की बात कही थी। मेरे से मुलाकात के दौरान वह इस पर राजी हो गए थे। लेकिन फिर बाहर आकर उन्होंने पता नहीं कहां बात की और कहा कि हम दो सीटों पर चुनाव नहीं लड़ सकते। दिल्ली में बात की या फिर कहां बात की, पता नहीं। अखिलेश यादव ने कहा कि यूपी के चुनाव के लिए बड़ी-बड़ी साजिशें हो रही हैं। गोरखपुर में डा.राधा मोहन दास अग्रवाल की जगह सीएम योगी आदित्‍यनाथ को बीजेपी से लड़ाए जाने को लेकर अखिलेश यादव ने डॉ.अग्रवाल के लिए पार्टी की ओर से एक बार फिर अपना ऑफर रखा। उन्‍होंने कहा, 'वे आएं, उनके लिए टिकट तैयार है'। 

डा.राधा मोहन ने किया था पार्टी के निर्णय का स्‍वागत

बताते चलें कि डॉ.राधा मोहन अग्रवाल ने सीएम योगी को टिकट मिलने के बाद पार्टी के निर्णय का स्‍वागत किया था। सीएम योगी की गोरखपुर से उम्‍मीदवारी का स्‍वागत करते हुए कहा, 'हम भाजपा के कार्यकर्ता हैं। पार्टी के निर्णय का स्वागत करते हैं।' वहीं, टिकट कटने के एक दिन पहले उन्होंने कहा था कि अगर उनकी जगह किसी और को टिकट मिलता है तो उन्हें चिंता नहीं है। चार बार के विधायक ने कहा, 'मैं कभी भी राजनीति छोड़ने को तैयार हूं।' राजनीतिक लाभ के लिए दलबदल पर विधायक अग्रवाल ने कहा था, 'दूसरे राजनीतिक खेमे में जाने से बुरा कोई काम नहीं हो सकता।'

गौरतलब है कि गोरखपुर सदर विधानसभा सीट पर पिछले 33 सालों से बीजेपी का कब्‍जा  है।  इन 33 सालों में कुल आठ चुनाव हुए जिनमें से सात बार बीजेपी और एक बार हिन्‍दू महासभा (योगी आदित्‍यनाथ के समर्थन से) के उम्‍मीदवार ने जीत हासिल की।  वर्ष 2002 में इस सीट से डा। राधा मोहन दास अग्रवाल हिन्‍दू महासभा के बैनर तले जीते लेकिन जीतने के बाद ही वह बीजेपी में शामिल हो गए।  और वह तब से ही लगातार इस सीट से जीतते आ रहे हैं।  राधा मोहन दास अग्रवाल पेशे से डॉक्टर हैं, उन्होंने बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी (बीएचयू) से एमबीबीएस एमडी की पढ़ाई की।  उसके बाद पांच साल बीएचयू में प्रोफेसर भी रहे।  उसके बाद राधा मोहन दास  नौकरी छोड़कर गोरखपुर आ गए और पहली बार में ही साल 2002 में विधायक बने। 
 

epaper