ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेशकिसानों को लेकर अखिलेश यादव का बड़ा ऐलान, गठबंधन की सरकार आई तो माफ़ होगा कर्ज

किसानों को लेकर अखिलेश यादव का बड़ा ऐलान, गठबंधन की सरकार आई तो माफ़ होगा कर्ज

लोकसभा चुनाव को लेकर इंडिया गठबंधन को जिताने की अपील कर रहे सपा चीफ ने हाथरस में बड़ा ऐलान कर दिया। हाथरस में जनसभा करने पहुंचे अखिलेश ने भाजपा सरकार पर बड़ा हमला बोला।

किसानों को लेकर अखिलेश यादव का बड़ा ऐलान, गठबंधन की सरकार आई तो माफ़ होगा कर्ज
Dinesh Rathourलाइव हिन्दुस्तान,हाथरसMon, 29 Apr 2024 04:20 PM
ऐप पर पढ़ें

लोकसभा चुनाव को लेकर इंडिया गठबंधन को जिताने की अपील कर रहे सपा चीफ ने हाथरस में बड़ा ऐलान कर दिया। हाथरस के सिकंदराऊ में सपा प्रत्याशी जसवीर वाल्मीकि के समर्थन में जनसभा करने पहुंचे अखिलेश यादव ने कहा, गठबंधन की सरकार आई तो किसानों का कर्ज माफ करेंगे। साथ ही 10 लाख युवाओं को नौकरी देंगे। अखिलेश यादव ने इस दौरान भाजपा पर भी तीखे प्रहार किए। उन्होंने कहा, भाजपा संविधान खत्म करना चाहती है। भाजपा वाले डबल इंजन की सरकार बोलते हैं, लेकिन इसमें से एक इंजन गायब है। पूर्व सीएम अखिलेश ने बुलगढ़ी कांड की जिक्र करते हुए कहा, भाजपा ने हाथरस को दुनिया में बदनाम कराया है। उन्होंने कहा, यूपी में 10 परीक्षा हुईं, सबके पेपर लीक हुए। भाजपा की देश में विदाई होना तय है, सरकार जाने के डर से भाजपा घबराई हुई है। 

सपा प्रमुख ने एटा में आरएसएस पर बोला हमला

समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने सोमवार को राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ पर कटाक्ष करते हुए उसे 'दुनिया का सबसे खतरनाक परिवार' करार दिया और कहा कि आरक्षण खत्म करने का मंसूबा रखने वाला यह परिवार अब चुनाव में वोट के लिये आरक्षण नहीं समाप्त करने की बात कर रहा है। यादव ने एटा में आयोजित एक चुनावी जनसभा में कहा कि भाजपा एक 'बड़ी साजिश' के तहत हर क्षेत्र को निजी हाथों में बेचकर आरक्षण को खत्म करना चाहती है मगर समाजवादी लोग उसे कामयाब नहीं होने देंगे।

उन्होंने संघ परिवार पर परोक्ष रूप से निशाना साधते हुए किसी का नाम लिये बगैर कहा, इन्हें (भाजपा को) हमारे-आपके परिवार की तो चिंता है लेकिन उनके साथ दुनिया का सबसे खतरनाक परिवार है जो आरक्षण खत्म करना चाहता था। अब वोट चाहिए, तो कह रहे हैं कि आरक्षण खत्म नहीं होगा। माना जा रहा है कि सपा अध्यक्ष का इशारा संघ प्रमुख मोहन भागवत के रविवार के उस बयान की तरफ था जिसमें उन्होंने कहा था कि संघ ने हमेशा संविधान के अनुसार आरक्षण का समर्थन किया है और संगठन 'भेदभाव' व्याप्त रहने तक आरक्षण लागू रखने की वकालत करता है।