ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तर प्रदेशमंदिर में दर्शन करने के बाद बोले अखिलेश- भगवान से प्रार्थना सरकार जाए, जनता से अपील सरकार हटाए

मंदिर में दर्शन करने के बाद बोले अखिलेश- भगवान से प्रार्थना सरकार जाए, जनता से अपील सरकार हटाए

समाजवादी पार्टी (सपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने शुक्रवार सुबह चित्रकूट में कामदगिरि की परिक्रमा की और भगवान कामतानाथ के दर्शन किए। इसके बाद संवाददाताओं...

मंदिर में दर्शन करने के बाद बोले अखिलेश- भगवान से प्रार्थना सरकार जाए, जनता से अपील सरकार हटाए
Abhishek Tiwariहिन्दुस्तान,चित्रकूटFri, 08 Jan 2021 02:23 PM
ऐप पर पढ़ें

समाजवादी पार्टी (सपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने शुक्रवार सुबह चित्रकूट में कामदगिरि की परिक्रमा की और भगवान कामतानाथ के दर्शन किए। इसके बाद संवाददाताओं से बातचीत में उन्होंने कहा, 'यह पवित्र स्थल है। इस पवित्र स्थल से अगर आवाज जाएगी, तो दूर-दूर तक पहुंचेगी। हम भगवान से प्रार्थना करेंगे कि यह सरकार जाए और जनता से अपील है कि जब भी मौका मिले तो सरकार को हटाए।'

बदायूं की हाल की घटना और राज्य की कानून व्यवस्था को लेकर पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा, 'उच्च न्यायालय और उच्चतम न्यायालय तक कह चुका है कि यहां 'जंगलराज' है। सबसे ज्यादा फर्जी मुठभेड़ और हिरासत में मौतें यहां हुई हैं।' सपा मुखिया ने कहा, 'चित्रकूट में आज जो भी विकास दिख रहा है, वह सपा सरकार के समय का है। चार साल में हवाई पट्टी तक नहीं बन पाई। बिजली के तार तक नहीं ठीक हुए। पूरे प्रदेश में बिजली की कटौती की गई और बिजली के बिल बढ़ा दिए गए।'

राजधानी में हत्याएं
अखिलेश यादव ने कहा कि राजधानी लखनऊ में हत्याएं हो रही हैं। खुलेआम गोलियां चलती हैं। महिलाओं के साथ हैवानियत की घटनाएं बढ़ गई हैं। बदायूं की घटना का जिक्र करते हुए कहा कि अगर मेडिकल रिपोर्ट पर गौर न किया जाता तो यह मामला भी दब जाता। हाथरस में भी ऐसी घटना हुई है। उन्होंने कहा कि पुलिस के दम पर प्रदेश सरकार फेंक एनकाउंटर कराकर प्रदेश में दहशत फैला रही है।

रोप-वे का भाजपा ने बदला कलर
पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि चित्रकूट को सपा सरकार ने बहुत परियोजनाएं दी हैं। लक्ष्मण पहाड़ी के रोप-वे की ओर इशारा करते हुए कहा कि इसका कलर लाल था, भाजपा सरकार ने इसे भगवा कर अपनी सौगात बता दी।

epaper