ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशशादी के तीन महीने बाद ही पत्‍नी ने बच्‍चे को दिया जन्‍म, पति ने अगुआ मामा को पीट डाला; जानें पूरा मामला

शादी के तीन महीने बाद ही पत्‍नी ने बच्‍चे को दिया जन्‍म, पति ने अगुआ मामा को पीट डाला; जानें पूरा मामला

बच्‍चे के जन्‍म की सूचना पर ससुरालियों और मायके पक्ष में जमकर बहस हुई। फिर पंचायत में मारपीट हो गई। शर्मसार पति फरार हो गया। प्रयागराज के इस युवक की शादी प्रतापगढ़ में तीन महीने पहले ही हुई थी।

शादी के तीन महीने बाद ही पत्‍नी ने बच्‍चे को दिया जन्‍म, पति ने अगुआ मामा को पीट डाला; जानें पूरा मामला
Ajay Singhहिन्‍दुस्‍तान ,प्रयागराजSat, 01 Jul 2023 12:11 PM
ऐप पर पढ़ें

Delivery after three months of marriage: प्रयागराज में एक नवविवाहिता ने शादी के तीन महीने बाद ही बच्‍चे को जन्‍म दे दिया। इस पर उसके पति ने अपने ही मामा को जमकर पीट डाला। दरअसल, मामा उसकी शादी में अगुआ थे। आरोप है कि शादी के नवविवाहिता सिर्फ दो बार अपनी ससुराल आई थी। तबीयत खराब होने का बहाना बनाकर वह मायके में ही रुक गई थी। वहीं उसने एक बच्‍चे को जन्‍म दिया1 

बच्‍चे के जन्‍म की सूचना पर ससुरालियों और मायके पक्ष में जमकर बहस हुई। फिर पंचायत में मारपीट हो गई। शर्मसार पति फरार हो गया। मऊआइमा थाना क्षेत्र के एक गांव के एक युवक की शादी प्रतापगढ़ में तीन महीने पहले ही हुई थी। बताते हैं कि शादी के बाद वधू बीमारी का बहाना करके मायके में रुक गई। एक दिन पहले पति के पास यह संदेश आया कि उसकी पत्नी ने बच्चे को जन्म दिया है।

युवक ने जानकारी परिजनों को दी। अगुआ लड़के के मामा को बुलाया गया। युवक ने अपने मामा को ही पीट डाला। लड़के के मामा ने नवविवाहिता के परिजनों से पूछा तो वह अनाप शनाप बताने लगे। जिस पर सभी लोग नव विवाहिता के घर गए। जहां पंचायत होने लगी। पंचायत में जमकर मारपीट हुई। फिर बिरादरी के मुखिया को बुलाया गया।

नवविवाहिता ने बताई ये कहानी 
जहां नव विवाहिता को पंचायत के सामने पूछा गया तो उसने बताया कि गांव के एक युवक से वह प्रेम करती थी। उससे उसके सम्‍बन्‍ध हो गए। फिर वह गर्भवती हो गई। इसके बाद परिवारवालों ने जबरन उसकी शादी करा दी। नवविवाहिता की इस स्‍वीकारोक्ति के बाद दोनों पक्षों में मारपीट शुरू हो गई। द में विवाहिता का पति दिल्ली चला गया और यह चेतावनी दी कि अब वह किसी भी हालत में इस लड़की को नहीं रखेगा।

युवती के प्रेमी और उसके परिजनों को बुलाया गया। प्रेमी ने परिजनों के सामने गुनाह कबूल कर लिया। पंचायत में यह तय हुआ है कि वधू पक्ष के लोग युवक के परिजनों का सामान वापस दें। वर पक्ष कोई सामान कन्या पक्ष को नहीं देगा। दोनों अपनी-अपनी मर्जी से शादी कर लें।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें