ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तर प्रदेशचार महीने सेना में नौकरी करता रहा, सैलरी भी मिलती रही, फिर पता चला भर्ती हुई ही नहीं

चार महीने सेना में नौकरी करता रहा, सैलरी भी मिलती रही, फिर पता चला भर्ती हुई ही नहीं

उत्तर प्रदेश में सेना में फर्जी तरीके से भर्ती का अनोखा मामला सामने आया है। जानकारी के मुताबिक एक शख्स चार महीने तक सेना के कैंप में नौकरी करता रहा। इस दौरान उसे सैलरी भी मिली लेकिन नियुक्ति फर्जी है।

चार महीने सेना में नौकरी करता रहा, सैलरी भी मिलती रही, फिर पता चला भर्ती हुई ही नहीं
Atul Guptaसंवाददाता,मेरठThu, 24 Nov 2022 02:10 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

सेना में फर्जी भर्ती का अनोखा मामला सामने आया है। आरोप है कि एक शख्स को फर्जी तरीके से सेना में भर्ती कराया गया। इस दौरान उसे चार महीने तक आर्मी कैंप में भी रखा गया। उससे मेस में खाना भी बनवाया गया और उसकी चार महीने तक सैलरी भी आती रही। फिर एक दिन पूरे मामले का भंडाफोड़ हुआ। फिर पता चला कि सेना में भर्ती के नाम पर युवक से 16 लाख रूपये वसूले गए थे। सेना भर्ती के नाम पर दो युवकों से 16 लाख की ठगी मामले की जांच के लिए मेरठ पुलिस पठानकोट जाएगी। इस मामले में दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है वहीं तीसरे की तलाश में कानपुर में दबिश दी गई है। आरोपी सेना के जवान ने जिस युवक से ठगी की थी, उसे अपने साथ पठानकोट बुलाकर सेना की वर्दी दी और पोस्ट पर रखकर इंसास राइफल के साथ ड्यूटी भी कराई।

गाजियाबाद के मनोज की तहरीर पर सेना भर्ती के नाम पर 16 लाख रुपये ठगी किए जाने का मुकदमा दौराला थाने में दर्ज किया गया है। इस मामले में सेना के जवान राहुल, उसके साले बिट्टू और कानपुर में जेडी फिजिकल अकादमी के कर्मी को आरोपी बनाया गया है। मनोज ने आर्मी इंटेलिजेंस और पुलिस को आरोपियों द्वारा दिया गया सेना भर्ती का फर्जी ज्वाइनिंग लेटर, आर्मी की मुहर लगा आईकार्ड, सेना की वर्दी और कुछ अन्य दस्तावेज उपलब्ध कराए। कुछ फोटो भी दिए जो उसने पठानकोट में सेना की वर्दी में खींचे थे।

आरोपियों से पूछताछ हुई तो खुलासा हुआ कि राहुल ने अपनी ही नई वर्दी मनोज को दी थी और अपने साथ पोस्ट पर ड्यूटी कराई। इसके अलावा मेस में खाना भी बनवाया। जिस इंसास राइफल के साथ मनोज का फोटो है, वह राहुल को ड्यूटी के लिए मिली थी और राहुल ने इस इंसास को मनोज को दिया। मामले में दौराला पुलिस जांच के लिए पठानकोट जाएगी। तीसरे आरोपी राजा की तलाश में एक टीम को कानपुर भेजा है।