ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेशनोएडा के बाद मेरठ के अस्पताल में फटा एसी, बिल्डिंग में लगी आग, वार्ड छोड़कर भागे मरीज 

नोएडा के बाद मेरठ के अस्पताल में फटा एसी, बिल्डिंग में लगी आग, वार्ड छोड़कर भागे मरीज 

यूपी के मेरठ जिले के लाला लाजपत राय स्मारक मेडिकल कॉलेज अस्पताल में शुक्रवार सुबह करीब सात बजे ओटी (ऑपरेशन थिएटर) बिल्डिंग में एसी फटने से आग लग गई। लपटें उठती देख मरीजों-तीमारदारों में भगदड़ मच गई।

नोएडा के बाद मेरठ के अस्पताल में फटा एसी, बिल्डिंग में लगी आग, वार्ड छोड़कर भागे मरीज 
Dinesh Rathourवरिष्ठ संवाददाता,मेरठFri, 31 May 2024 07:11 PM
ऐप पर पढ़ें

यूपी के मेरठ जिले के लाला लाजपत राय स्मारक मेडिकल कॉलेज अस्पताल में शुक्रवार सुबह करीब सात बजे ओटी (ऑपरेशन थिएटर) बिल्डिंग में एसी फटने से आग लग गई। तीसरी मंजिल पर लपटें उठती देख मरीज-तीमारदारों में अफरातफरी मच गई। तीमारदार वार्डों में भर्ती अपने मरीजों को लेकर भागने लगे। ओटी में ऑपरेशन की तैयारी कर रहे स्टाफ ने भी भागकर जान बचाई। मौके पर पहुंचीं दमकल की छह गाड़ियों ने एक घंटे की मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया। मेडिकल अस्पताल की पुरानी बिल्डिंग में चार मंजिला ओटी बिल्डिंग है। इसमें प्रथम दो तल पर सामान्य ऑपरेशन होते हैं। तीसरी मंजिल पर गायनी ओटी है, यहां गर्भवती महिलाओं के ऑपरेशन होते हैं। चौथे तल पर ऑर्थो, नेत्र और नाक-कान गला के ऑपरेशन होते हैं। बताया गया कि गायनी ओटी में शार्ट सर्किट से आग लगी जो एसी तक पहुंच गई, उसके बाद एसी जोरदार धमाके के साथ फट गया। इससे पूरे परिसर में आग फैल गई। चारों ओर धुआं भर गया।

हर दिन होते हैं 100 से ज्यादा ऑपरेशन

घटना के समय ओटी में ऑपरेशन की तैयारी चल रही थी। तीनों ओटी को मिलाकर यहां हर दिन सौ से ज्यादा ऑपरेशन होते हैं। इस पूरी बिल्डिंग में सेंट्रल एसी प्लांट लगा है। उसके साथ कुछ विंडो एसी भी लगे हैं। सभी ओटी में ऑपरेशन सुबह आठ बजे के बाद होते हैं, इसलिए किसी प्रकार की जनहानि नहीं हुई। 

ऑक्सीजन प्लांट तक पहुंचती आग तो होता बड़ा हादसा

जिस बिल्डिंग में आग लगी उसके नीचे ऑक्सीजन प्लांट है। जहां सैकड़ों की संख्या में छोटे-बड़े सिलेंडर रहते हैं। यहीं से पूरे अस्पताल परिसर को ऑक्सीजन की सप्लाई होती है। गनीमत रही कि आग वहां तक नहीं पहुंची वरना बड़ा हादसा हो सकता था। 

फायर ब्रिगेड की छह गाड़ियां पहुंचीं

मेडिकल अस्पताल में आग लगने की सूचना के बाद फायर ब्रिगेड की छह गाड़ियां मौके पर पहुंचीं। दमकलकर्मियों ने बिल्डिंग के बाहर और अंदर दोनों तरफ से पानी फेंका तब जाकर आग बुझी। ब्लास्ट होने के बाद बिल्डिंग से केमिकल सेफ्टी के सामान, बेड रोल, ऑक्सीजन सिलेंडर को मेडिकल स्टाफ ने तत्काल बाहर निकाला।

एंटी स्मोकर लगाकर निकाला गया धुआं

आग लगने के बाद पूरी बिल्डिंग में इतना धुआं भर गया कि बिना मास्क लगाए वहां खड़े रहना भी मुश्किल हो गया। अंदर घुसना भी मुश्किल था। ऐसे में अंदर का धुआं निकालने के लिए एंटी स्मोकर लगाया गया। इससे अंदर भरा धुआं खींचकर बाहर निकाला गया। तब फायर कर्मी अंदर प्रवेश कर पाए। मुख्य अग्निशमन अधिकारी संतोष राय ने बताया कि चार फ्लोर के अस्पताल के ऑपेरशन थिएटर में आग लगी थी। मौके पर फायर ब्रिगेड की छह गाड़ियां भेजी गईं, इनकी मदद से करीब एक घंटे की मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया गया। 

मेडिकल कॉलेज प्राचार्य डॉ. आरसी गुप्ता का कहना है कि प्रथम दृष्टया शॉर्ट सर्किट से आग लगने की बात सामने आई है। गायनी ओटी को काफी नुकसान हुआ है। घटना की जांच कराई जाएगी। शनिवार से नई बिल्डिंग में ओटी चलाई जाएगी।
 

Advertisement