DA Image
21 जनवरी, 2020|10:41|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

योगी सरकार में गुंडों के लिए जगह महिलाओं के लिए नहीं: प्रियंका गांधी

प्रियंका ने कहा कि योगी कहते हैं कि प्रदेश से गुंडे भाग गए। उनके लिए उत्तर प्रदेश में जगह नहीं है। हकीकत यह है कि उत्तर प्रदेश में सिर्फ गुंडों के लिए जगह हैं महिलाओं और बहनों के लिए कोई जगह नहीं है।

priyanka gandhi jpg

शुक्रवार को गैंगरेप पीड़िता के घरवालों से मिलने पहुंची कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने योगी सरकार पर सीधे हमला बोला। प्रियंका ने कहा कि योगी कहते हैं कि प्रदेश से गुंडे भाग गए। उनके लिए उत्तर प्रदेश में जगह नहीं है। हकीकत तो यह है कि उत्तर प्रदेश में सिर्फ गुंडों के लिए जगह हैं महिलाओं और बहनों के लिए कोई जगह नहीं है। महिलाओं के लिए अत्याचार की जिम्मेदार योगी सरकार है। आज इस सरकार में 2 साल की बच्ची स्कूल जाने से डरती है। महिलाएं असुरक्षित है। 

महिलाओं की सुरक्षा की जिम्मेदारी कौन लेगा। योगी सरकार में तो उनकी सुरक्षा होनी नहीं है। महिलाओं के साथ लगातार आपराधिक वारदातें हो रही हैं योगी सरकार उस पर लगाम लगाने में पूरी तरह से नाकाम है। पीड़ित परिवार को न्याय मिलना चाहिए। योगी सरकार यह स्वीकार करें कि उनकी चूक की वजह से महिलाओं के साथ गंभीर आपराधिक वारदातें हो रही हैं। जिसे रोकने में भारतीय जनता पार्टी की सरकार पूरी तरह से असमर्थ साबित हो रही है। सवाल पूछा कि यह किसकी जिम्मेदारी है योगी सरकार जिम्मेदारी लेने से कतरा क्यों रही है।

12:43 पर पीड़िता के घर पहुंची प्रियंका उसके पिता बहन और भाभी के साथ बंद कमरे में आधे घंटे तक बातचीत की। प्रियंका ने पीड़ित परिवार को भरोसा दिलाया कि पूरी कांग्रेस पार्टी उनके साथ हैं। वह यहां आई हैं तो यह साफ है कि यह लड़ाई अब उनकी है। प्रियंका ने कहा पीड़ित परिवार के साथ बहुत ही अन्याय हुआ है। पुलिस अपराधियों को बचाने में लगी रही। आरोपी पक्ष के लोग सत्ता से जुड़े हैं। पीड़िता के पिता को प्रियंका ने भरोसा दिलाया कि वह हर तरह से उनके साथ हैं। 

पीड़ित परिवार को देखकर भावुक हुई प्रियंका
सड़क से लेकर संसद तक कांग्रेस पार्टी पीड़ित परिवार के लिए संघर्ष करेगी। करीब 40 मिनट तक पीड़िता के घर रुकने के बाद प्रियंका रायबरेली के लिए रवाना हो गई। जाते समय उन्होंने सीधे तौर पर कहा कि प्रदेश सरकार की नीतियां महिलाओं के लिए सही नहीं है। इस वजह से महिलाएं इस सरकार में सुरक्षित नहीं है। प्रियंका गांधी जिस समय पीड़ित परिवार से मिल रही थी उनकी आपबीती सुनकर भावुक हो गई। कुछ देर के लिए वह शांत हो गई और पीड़ित परिवार को ढांढस बताने लगी। 

बहादुर की बेटी, परिवार के साथ हैं हम: प्रियंका
वृद्ध पिता को भरोसा दिलाया कि घबराने की जरूरत नहीं है। पीड़िता के पिता और बहन ने बताया कि प्रधान के दबाव में पुलिस उनकी सुनवाई नहीं करती थी। प्रधान परिवार की ओर से लगातार उनके ऊपर अत्याचार किया जा रहा था। जब वह अपनी शिकायत लेकर थाने जाते थे तो उनकी बातों को वजन नहीं दिया जाता था। प्रियंका ने कहा बेटी ने बहादुरी का परिचय दिया। वह दबंग किस्म के लोगों से लड़ती रही। उसे इंसाफ नहीं मिल सका। अब पीड़िता को इंसाफ दिलाने का काम कांग्रेस पार्टी करेगी। उसके साथ जगन ने अपराध करने वाले लोगों को कड़ी से कड़ी सजा मिलनी चाहिए।

सत्ता के करीब है आरोपी पक्ष, जैसा बेटी के साथ हुआ वैसे ही मिले सजा: पिता
पीड़िता के पिता ने प्रियंका गांधी से कहा कि आरोपी पक्ष सत्ता का करीबी है। इतनी बड़ी घटना होने के बाद भी सत्ता पक्ष का कोई भी नेता उनके घर तक नहीं आया। जब कभी सत्ता पक्ष के नेता इधर आते थे तो प्रधान के घर ही जाते थे। उनके दबाव की वजह से प्रधान के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं होती थी। पिता ने कहा कि जिस तरह से आरोपियों ने उसकी बेटी को जलाकर मारा उसी तरह से उन्हें भी सजा मिलनी चाहिए।

भाजपा सरकार में बढ़ रही आपराधिक वारदातें: अन्नू टंडन
प्रियंका संघ पीड़िता के घर मिलने पहुंची अनु टंडन ने आरोप लगाया कि मौजूदा सरकार महिला अपराध को रोकने में असमर्थ है। उन्नाव में 2 साल के अंदर महिलाओं के साथ जो अत्याचार की घटनाएं हुई उसकी जितनी भी निंदा की जाए कम है। यहां महिलाएं सुरक्षित नहीं है। अनु टंडन ने प्रियंका गांधी को बताया कि 1 साल के अंदर करीब 83 मामले महिला अपराध के हो चुके हैं। महिला अत्याचार को रोकने को कौन कहे यहां की पुलिस और सत्ताधारी नेता उसे बढ़ावा देने में लगे हैं। यही वजह है कि महिला अपराध रुक नहीं पा रहा है और अपराधी बेखौफ होकर वारदात को अंजाम दे रहे हैं। प्रदेश सरकार ऐसे लोगों पर कार्रवाई करने में कतरा रही है।

न्याय पाने से पहले ही बेटी को दरिंदों ने मार दिया: चाचा
पीड़िता के चाचा ने कहा कि बेटी बहादुर थी लेकिन दरिंदों ने उसे अपना शिकार बना लिया। वह अपने हक की लड़ाई लड़ रही थी। न्याय पाने के लिए वह हमेशा हिम्मत से विरोधियों का मुकाबला कर रही थी। दरिंदों को ऐसा लगा कि अब वह नहीं बच पाएंगे तो उन्होंने पीड़िता को जलाकर मार डाला।

प्रियंका की गाड़ी के आगे लेटा आरोपित परिवार, सीबीआई जांच की मांग
प्रियंका गांधी पीड़ित परिवार से मिलकर लौटने लगी तो आरोपित परिवार के लोग उनकी गाड़ी के आगे लेट गए। साथ चल रहे सुरक्षाकर्मियों ने उन्हें तत्काल रास्ते से हटाया। प्रधान के परिवार के लोगों ने प्रियंका गांधी से मांग की कि मामले की सीबीआई जांच कराई जाए। वह खुद को निर्दोष बता रहे थे। प्रियंका ने 2 मिनट उनकी बात सुनी उसके बाद काफिला आगे बढ़ गया।

सुरक्षा के कड़े इंतजाम, की जा रही लाइटिंग व्यवस्था
पीड़िता का शव देर शाम तक पहुंचने का अनुमान लगाया जा रहा है। मौके पर डीएम देवेंद्र पांडे और एसपी विक्रांत वीर समेत तमाम आला अफसर डटे हैं। पीड़िता के घर जाने वाली सड़क पर लाइटिंग की व्यवस्था की जा रही है। प्रशासन इस फिराक में है कि आज शाम तक ही पीड़िता का अंतिम संस्कार कर दिया जाए। हालांकि शव सूर्यास्त के बाद पहुंचेगा तो अंतिम संस्कार में बाधा आ सकती है। ऐसे में कल सुबह अंतिम संस्कार होने की संभावना भी जताई जा रही है।

पाइए देश-दुनिया की हर खबर सब सेपहले www.livehindustan.com पर। लाइव हिन्दुस्तान से हिंदी समाचार अपने मोबाइल पर पाने के लिए डाउनलोड करें हमारा News App और रहें हर खबर से अपडेट।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:After meeting Unnao Rape Victim Family Priyanka Gandhi says No place for goons in Yogi government for women