DA Image
23 अक्तूबर, 2020|10:14|IST

अगली स्टोरी

मालकिन का अश्लील वीडियो बनाने के बाद आरोपी ड्राइवर था इस तैयारी में

अश्लील विडियो के माध्यम से मालकिन को ब्लैकमेल कर डेढ़ करोड़ रुपये ऐंठने का आरोपी ड्राइवर अरशद योजनाबद्ध तरीके से वारदात को अंजाम दे रहा था। उसे आशंका थी कि मामला कभी न कभी खुलेगा। इसीलिए उसने फर्जी कागजातों की मदद से एक निकाहनामा भी तैयार करा लिया था, जिसमें पीड़िता को अपनी पत्नी दिखाया है। इसके अलावा आरोपी ड्राइवर अरशद राजनैतिक संरक्षण पाने के लिए नेताओं से भी संपर्क बढ़ाने में लगा था।

पाकबड़ा में आठ साल पहले तक जो अरशद सामान्य तरीके से जीवनयापन कर रहा था। वह दस हजार रुपये मासिक वेतन पर कारोबारी की पत्नी के यहां चालक की नौकरी करने लगा। इसके बाद उसका शौतानी दिमाग चला और बड़े बड़े मंसूबे पालकर योजनाबद्ध तरीके से मालकिन का विश्वास जीत लिया। बाद में अपने मंसूबों को कामयाब करने के लिए चोरीछिपे मालकिन का अश्लील वीडियो बना ली। यह वीडियो उसके लिए खजाने की चाबी साबित हुई।

अश्लील वीडियो के माध्यम से आरोपी ने अपने शातिर दिगाम से मालकिन को ऐसे फंसाया कि वह उसके खिलाफ एक शिकायत तक नहीं कर सकी। धीरे-धीरे आरोपी ने किश्तों में मालकिन से रकम ऐंठनी शुरू कर दी। जब एक करोड़ रुपये से अधिक की रकम ऐंठ लिया तो उसे फंसने का डर भी सताने लगा। आरोप है कि इसी कारण उसने एक और खेल किया। पीड़िता की माने तो आरोपी ने फर्जी कागजातों की मदद से एक निकाहनामा तैयार कर लिया।

पीड़िता ने दर्ज कराई गई एफआईआर में भी इस बात का जिक्र किया है कि आरोपी निकाहनामा तैयार कराके उसे मारने की योजना बना रहा था। आरोपी की मंशा थी कि मालकिन की हत्या के बाद वह कागजातों के मदद से उसे अपना पति सिद्ध करके उसकी संपत्ति पर कब्जा कर लेगा। हालांकि पूरी रकम ऐंठ पाने से पहले ही पीड़िता ने हिम्मत दिखाते हुए आरोपी के खिलाफ मुकदमा दर्ज करा दिया। जिसके बाद उसके मंसूबों पर पानी फिर गया। अब आरोपी पुलिस से बचते हुए भाग रहा है। सूत्रों की माने तो इस समय भी आरोपी कुछ राजनैतिक लोगों से संपर्क करके मदद लेने की तैयारी कर रहा है। आरोपी पूर्व में ही तैयार कराए गए फर्जी कागजातों की मदद से पीड़िता को ही घेरने की तैयारी में है। 

आरोपी का फुफेरा भाई भी हत्या के मामले में जेल में बंद है

अश्लील वीडियो के जरिये मालकिन से डेढ़ करोड़ ऐंठने का आरोपी अरशद रिश्ते में पाकबड़ा के पूर्व प्रधान हारुन सैफी के मामा का लड़का है। हारुन उसका फुफेरा भाई लगता है। हारुन पर आरोप है कि उसने प्रॉपर्टी के चक्कर में आरटीआई कार्यकर्ता कासिम की सुपारी देकर हत्या कराई है। उसी हत्या के मामले में हारुन प्रधान उर्फ हारुन सैफी जेल में बंद हैं। सूत्रों की माने तो हारुन की मदद से ही आरोपी अरशद राजनीति में जगह बनाने का प्रयास कर रहा था। इसके लिए उसने चेयरमैन का चुनाव भी लड़ा था।

पांच में से एक भी आरोपी तक नहीं पहुंच सकी पुलिस

पीड़िता ने ब्लैकमेलिंग और डेढ़ करोड़ रुपये ऐंठने के मामले में पीड़िता ने आरोपी चालक अरशद निवासी डूंगरपुर रोड पाकबड़ा के साथ ही गलशहीद के असालतपुरा निवासी जुल्फिकार उल्हाह और उसके भाई जफरुल्लाह को भी आरेापी बताया है। इसके अलावा हारुन और नासिर के दो व्यक्तियों को भी मुकदमे में नामजद किया गया है। रिपोर्ट दर्ज करने के बाद पुलिस आरोपी अरशद की सरगर्मी से तलाश कर रही है। लेकिन चार अन्य आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए अभी ठोस प्रयास नहीं हुए हैं। पांच में से एक भी आरोपी पुलिस गिरफ्त में नहीं आया है।आरोपियों के पकड़े जाने पर उक्त ब्लैकमेलिंग के खेल में कई नई जानकारी मिल सकती है। इस संबंध में सीओ सिविल लाइंए एएसपी आदित्य लांग्हे ने कहा कि आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए प्रयास किया जा रहा है।

 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:After making porn video of mistress accused driver was in preparation for this