ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशअखिलेश से 11 सीट मिलने के बाद कांग्रेस बोली- बातचीत जारी है, अजय राय को परिणाम का इंतजार

अखिलेश से 11 सीट मिलने के बाद कांग्रेस बोली- बातचीत जारी है, अजय राय को परिणाम का इंतजार

कांग्रेस के प्रदेश अध्‍यक्ष अजय राय ने कहा 'अखिलेश यादव जी का ये जो ट्वीट आया है इस पर पार्टी की कमेटी निर्णय ले रही है। बहुत ही सकारात्‍मक और बहुत ही अच्‍छे वातावरण में बातचीत चल रही है।

अखिलेश से 11 सीट मिलने के बाद कांग्रेस बोली- बातचीत जारी है, अजय राय को परिणाम का इंतजार
Ajay Singhलाइव हिन्‍दुस्‍तान ,लखनऊSat, 27 Jan 2024 03:38 PM
ऐप पर पढ़ें

SP-Congress Alliance: चंद महीने बाद होने वाले लोकसभा चुनाव में I.N.D.I.A गठबंधन के दो प्रमुख घटक समाजवादी पार्टी और कांग्रेस के बीच गठबंधन को लेकर शनिवार को सपा मुखिया अखिलेश यादव ने एक अहम ऐलान किया। अखिलेश यादव ने अपने अधिकारिक एक्‍स अकाउंट पर पोस्‍ट के जरिए कांग्रेस के साथ 11 सीटों साझेदारी की बात कही। लेकिन इसके बाद कांग्रेस के प्रदेश अध्‍यक्ष अजय राय ने बातचीत जारी है कहकर लोगों को असमंजस में डाल दिया। उनके बयान के चलते अखिलेश यादव के अधिकारिक ऐलान के बावजूद राजनीतिक गलियारों में सपा-कांग्रेस गठबंधन को लेकर तस्‍वीर अभी पूरी तरह साफ नहीं हो पाई है। जानकारों का कहना है कि कांग्रेस कम से कम 25 सीटों पर दावेदारी कर रही थी। 11 सीटों की बात उसे रास नहीं आ रही है। उसे अब भी सपा से कुछ और सीटें मिलने की उम्‍मीद है। 

शनिवार को एक्‍स पर सपा प्रमुख अखिलेश यादव की पोस्‍ट सामने आने के बाद कांग्रेस प्रदेश अध्‍यक्ष अजय राय ने संभलकर अपनी बात रखी। उन्‍होंने कहा 'अखिलेश यादव जी का ये जो ट्वीट आया है इस पर मुकुल वासन‍िक जी के नेतृत्‍व में बनी कमेटी निर्णय ले रही है। बहुत ही सकारात्‍मक और बहुत ही अच्‍छे वातावरण में बातचीत चल रही है और इसका परिणाम बहुत ही जल्‍द मजबूत आने वाला है।' जाहिर है अभी तक कांग्रेस ने अपनी ओर से साफ नहीं किया है कि वो 11 सीटों पर चुनाव लड़ने के लिए राजी हो गई है। सपा मुखिया के ऐलान के बाद भी अजय राय को जिस सकारात्‍मक परिणाम के आने की उम्‍मीद है वो शायद कुछ और सीटों पर पार्टी की दावेदारी के पक्ष में निर्णय आने की उम्‍मीद ही है। 

कितनी सीटों पर लड़ेगी सपा 
बता दें कि कांग्रेस को 11 सीटें देने से पहले समाजवादी पार्टी, राष्‍ट्रीय लोकदल के साथ सात सीटों पर गठबंधन का ऐलान कर चुकी है। इससे राजनीतिक गलियारों में कहा जाने लगा है कि यदि 11 सीटों पर कांग्रेस मान जाती है तो I.N.D.I.A गठबंधन में वो 80 में से कुल 18 सीटें सहयोगी दलों को देने जा रही है। बाकी की 62 सीटों पर वो अपने उम्‍मीदवार उतारेगी।  

कांग्रेस से कई दौर की बातचीत 
सपा और कांग्रेस के बीच सीटों की साझेदारी को लेकर कई दौर की बातचीत हो चुकी है। सूत्रों के मुताबिक कांग्रेस 23 से 25 सीटों पर चुनाव लड़ना चाहती है। जबकि अखिलेश यादव बार-बार जीत सकने वाली सीटों पर ही लड़ने की बात कह रहे हैं। यूपी में पिछले चुनाव (2019 का लोकसभा चुनाव) में कांग्रेस को 6.4 प्रतिशत वोटों के साथ सिर्फ एक रायबरेली की सीट पर जीत मिली थी। कांग्रेस अमेठी में राहुल गांधी की सीट पर भी हार गई थी। 

पीडीए से इतिहास बदलने का दावा 
सपा प्रमुख ने एक्‍स पर अपने पोस्‍ट के जरिए कांग्रेस को 11 सीटें देने के ऐलान के साथ ही पीडीए की रण्‍नीति के जरिए इतिहास बदलने का दावा किया। उन्‍होंने लिखा, 'कांग्रेस के साथ 11 मजबूत सीटों से हमारे सौहार्दपूर्ण गठबंधन की अच्‍छी शुरुआत हो रही है। ये सिलसिला जीत के समीकरण के साथ और भी आगे बढ़ेगा। 'इंडिया' की टीम और 'पीडीए' की रणनीति इतिहास बदल देगी।' 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें