Adulterated vegetables may cause health problems samples fail in mainpuri - सावधान ! किडनी, लीवर खराब कर रहीं मिलावटी सब्जियां, नमूने फेल DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सावधान ! किडनी, लीवर खराब कर रहीं मिलावटी सब्जियां, नमूने फेल

adulterated veg

हरी सब्जियों में सेहत का खजाना छिपा है। पालक खाने से आयरन मिलता है। मटर खाने से प्रोटीन मिलती है। मिलावट के इस दौर में डॉक्टर भी सलाह देते हैं कि सेहतमंद रहना है तो हरी सब्जियां खाएं। लेकिन ये जानकार हैरानी होगी कि ये हरी सब्जियां भी मिलावटी होने लगी है। ये इस कदर जहरीली हैं कि उनके इस्तेमाल से कैंसर हो रहा है। लिवर व किडनी की सेहत पर खतरा पैदा हो गया है। जांच में यह खुलासा हुआ है।

अगस्त में खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन विभाग की ओर से 18 जिलों में अभियान चलाकर सब्जियों के नमूने लिए गए थे। सरकार ने इनकी जांच कराई तो जांच में 32 नमूने असुरक्षित मिले। अपर मुख्य सचिव अनीता भटनागर जैन के निर्देश पर अगस्त में सब्जियों की जांच के लिए ये अभियान चलाकर करीब 600 नमूने लिए गए। इनमें से 564 नमूने मानक के अनुरूप मिले। शेष नमूने फेल हो गए। जांच में कहा गया कि सब्जियों को ताजा दिखाने की आड़ में जहरीला रंग लगाया जा रहा है, जिससे सेहत का खजाना कही जाने वाली सब्जियां शरीर को बीमार कर रही हैं। कैंसर हो रहा है। लीवर और किडनी प्रभावित हो रही है। सरकार ने अब इन जिलों में फिर से अभियान चलाने और लोगों को मिलावटी और रंगीन सब्जियों के प्रति जागरूक करने के निर्देश दिए हैं।


इन जिलों की सब्जियों के नमूने हुए हैं फेल
मैनपुरी, इटावा, संभल, मुरादाबाद, आगरा, कानपुर देहात, जालौन, हाथरस, हरदोई, कासगंज, फिरोजाबाद, औरैया, रामपुर, झांसी, मुजफ्फरनगर, अमरोहा, सिद्धार्थ नगर और गाजियाबाद।

सब्जियां ही नहीं अन्य वस्तुओं में मिलावट रोकने के लिए अभियान चलाया जाएगा। दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई होगी। हरी सब्जियों में मिलावटी रंग का इस्तेमाल बेहद खतरनाक है। पूरे जिले में कार्रवाई होगी। -पीके उपाध्याय डीएम, मैनपुरी

हरी मटर, परवल, अदरक के नमूने हुए हैं फेल
मैनपुरी सहित प्रदेश के विभिन्न जिलों में हरी सब्जियों के नमूने लिए गए। मैनपुरी में हरी मटर, परवल और अदरक के नमूने पूरी तरह असुरक्षित पाए गए। हरी सब्जियों, मटर, परवल, हरी मिर्च आदि को मैलाकाइट ग्रीन नामक केमिकल से रंगकर चमकदार किया जा रहा है। वहीं अदरक को कास्टिक से साफ करके बेचा जा रहा है। इससे अदरक बिल्कुल सफेद दिखने लगता है। इसके अलावा ऑक्सीटोसिन से सब्जियों में असमय वृद्धि की जा रही है।

मिलावटी सब्जी किडनी, लीवर कर रही प्रभावित
वरिष्ठ फिजीशियन डॉ. आरके सागर का कहना है कि हरी सब्जियों में मिले हानिकारक केमिकल को लीवर पचा नहीं पाता है। सब्जियों में मिलाए जा रहे रंग और आक्सीटोसिन शरीर का हुलिया बदलने लगे हैं। इन सबके प्रभाव से किसी का लीवर बढ़ गया है तो किसी के शरीर में कोशिकाओं में बेकाबू वृद्धि शुरू हो गई है। रंगों के मिलावट से किडनी, लीवर में समस्या आने लगी है। कैंसर भी होने लगा है। पेटदर्द की शिकायत इन्हीं मिलावटी सब्जियों से भी तेजी से बढ़ी है।

गोभी, बैगन तो बिना रसायन के पैदा ही नहीं होंगे
मैनपुरी में हरी सब्जियों में मिलावट, धड़ल्ले से हो रही है हरी मटर, अदरक, पालक, लौकी, तोरई में रंगों की मिलावट और जल्दी बढ़ाने के लिए ऑक्सीटोसिन का इस्तेमाल हो रहा है। सब्जी से जुड़े किसानों का ये भी दावा है कि बरसात के दिनों में आने वाली फूलगोभी, बैगन, भिंडी, मूली का उत्पादन रसायनों के इस्तेमाल से ही संभव है। अगर केमिकल का प्रयोग नहीं होगा तो इन फसलों से उत्पादन नहीं लिया जा सकता। जल्द कीड़े लग जाते हैं। बैगन में तो कई छिड़काव खतरनाक रसायन के होते हैं। अगर इन सब्जियों को धोकर भी खाया जाए तो भी इनका सेवन खतरनाक स्तर पर रहता है। विकल्प के रूप में जैविक सब्जियों की बात तो होती है लेकिन जनपद के किसान इसके प्रति पूरी तरह उदासीन हैं।

मैनपुरी में धड़ल्ले से हो रही बिक्री, जिम्मेदार गायब
खाद्य अपमिश्रण निवारण अधिनियम 1954 में संशोधन करके 5 अगस्त 2011 से खाद्य सुरक्षा एवं मानक अधिनियम 2006 लागू किया गया है। नए अधिनियम के प्रभाव में आने के बाद नगरीय निकाय की जगह खाद्य एवं औषधि नियंत्रक को मिलावट पर लगाम कसने का जिम्मा सौंपा है। एडीएम को नोडल बनाया गया है। लेकिन मैनपुरी में मिलावटी सब्जियों पर छापेमारी लंबे समय से नहीं हुई है।

इस तरह जहरीली सब्जियां खरीदने से बचें
- बरसात में गोभी, बैगन का इस्तेमाल न करें
- गोभी, बैगन खाएं तो गर्म पानी से धोकर बनाएं
- आकार में सुडौल और रंग चेक कर सब्जियां खरीदें
- चटक, हरी, पीली, लाल सब्जियां खरीदने से बचें
- भिंडी, लौकी, कद्दू छोटे साइज की खरीदें

 

मिलावटी बेचते पकड़े जाने पर आजीन कारावास और भारी जुर्माने का प्रावधान-

मिलावटी खाद्य पदार्थ बेचने पर खाद्य सुरक्षा मानक अधिनियम-2006 के तहत अधिकतम 5 लाख रुपए जुर्माना और आजीवन कारावास तक की सजा हो सकती है। -मुकेश शर्मा अधिवक्ता

सब्जियों को जल्दी पकाने के लिए रसायनों का जमकर उपयोग किया जाता है। ये स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हैं। ऑक्सीटोसिन, कार्बाइड का प्रयोग बेहद खतरनाक है। -डा. अशोक कुमार

घातक केमिकल सब्जियों को जहरीला बना रहे हैं। मिलावटी सब्जियां इस्तेमाल करने से किडनी, लीवर खराब हो सकता है। सब्जियों का इस्तेमाल करने में सावधानी बरतें। -डा. आरके सिंह

बारिश के दिनों में हरी सब्जियों से सेहत अच्छी रहती है। लेकिन सब्जियां देखकर खरीदें। बारिश में गोभी, बैगन इन दिनों पेट की बीमारियां पैदा कर रहा है। -डा. आकांक्षा सिंह

जनपद में सब्जियों में रसायनों का इस्तेमाल किए जाने की शिकायतें हैं। किसान अधिक उत्पादन के लालच में रसायन डाल रहे हैं। कुछ दुकानों पर जहरीला केमिकल बिकने की शिकायतें भी आयी हैं, अभियान चलाकर कार्रवाई की जाएगी। -डा. गगनदीप सिंह जिला कृषि अधिकारी, मैनपुरी

शासन के निर्देश पर मैनपुरी में सब्जियों के नमूने लिए गए थे। सूखी मटर को भिगाकर हरा रंग डाला गया था। नमूना फेल हुआ है। लोगों को जागरूक किया जाएगा। मिलावटी सब्जियां बेचने वालों के खिलाफ एफआईआर होगी। -रामसुंदर मुख्य खाद्य सुरक्षा अधिकारी, मैनपुरी

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Adulterated vegetables may cause health problems samples fail in mainpuri