DA Image
1 जनवरी, 2021|10:53|IST

अगली स्टोरी

लखनऊ एक्सप्रेस वे पर कार में जिंदा जली महिला, अभी तो नहीं छूटी थी हाथों की मेहंदी 

लखनऊ एक्सप्रेस वे पर गुरुवार देर रात कार में आग लगने से एक नवविवाहिता जिंदा जल गई। पति-पत्नी मथुरा-वृंदावन से दर्शन करके वापस लखनऊ लौट रहे थे। हादसे में पत्नी को बचाने के चक्कर में पति भी झुलस गया। आग इतनी भयंकर थी कि महिला को बाहर निकलने का मौका नहीं मिला। सेंट्रल लॉकिंग सिस्टम फेल हो गया। वह अंदर ही बंद रह गईं। हालांकि हादसे की पुलिस अभी जांच कर रही है। पुलिस ने वही जानकारी दी है जो पति ने पुलिस को बताई।

घटना देर रात की है। मोहनलाल गंज, लखनऊ निवासी विकास यादव पुत्र मुन्नीलाल यादव की दो दिसंबर को कृष्णा नगर, कालिया खेड़ा (लखनऊ) निवासी रीमा पुत्री हरनाथ के साथ शादी हुई थी। पति-पत्नी बुधवार को मथुरा-वृंदावन दर्शन करने आए थे। बुधवार की रात वहीं पर रुके। गुरुवार को आगरा होते हुए लखनऊ वापस लौट रहे थे। स्विफ्ट डिजायर कार से थे। आगरा- लखनऊ एक्सप्रेस वे पर किमी 34.4 किमी चलने पर विकास को कार के बोनट से धुंआ उठता दिखा। उन्होंने कार रोक ली। बोनट खोलकर कार से धुंआ उठने का कारण जानने की कोशिश कर रहे थे। रीमा कार में अंदर ही बैठी थीं। तब तक बोनट से लगी आग कार में अंदर तक फैल गई। सेंट्रल लाक सिस्टम फेल हो गया। विकास ने पत्नी को बाहर निकालने की कोशिश की, लेकिन वह सफल नहीं हुए। पत्नी को बचाने में विकास झुलस गए। उनकी आंखों के सामने कार में पत्नी जल रही थी। वह बचा नहीं पाए। पुलिस को काल करके सूचना दे दी। कोहरे के कारण करीब एक घंटे में पुलिस वहां पहुंची। इसके बाद दमकल की गाड़ी पहुंची। तब तक आग में रीमा जल चुकी थी। कार में बस उनका कंकाल बचा था। शुक्रवार की सुबह विकास और रीमा के परिजन फतेहाबाद थाने पहुंचे। 

हाथों की मेहंदी भी नहीं छूटी थी
रीमा की मौत ने दोनों परिवारों को हिला दिया है। परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है। परिजनों ने बताया कि अभी तो रीमा के हाथों की मेहंदी तक नहीं छूटी थी। शादी को दिन ही कितने हुए थे।

 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:A woman burnt alive in the car on the Lucknow Expressway