DA Image
21 अप्रैल, 2021|7:56|IST

अगली स्टोरी

Kanpur Encounter : सीएम योगी आदित्यनाथ और डीजीपी आ रहे हैं कानपुर, शहीद पुलिसवालों को श्रद्धांजलि

cm yogi

कानपुर मुठभेड़ में मारे गए पुलिसकर्मियों को गॉड ऑफ ऑनर देने उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ और डीजीपी हितेश चंद्र अवस्थी कानपुर आ रहे हैं। दोनों एक साथ हेलीकॉप्टर में लखनऊ से सीधे कानपुर के पुलिस लाइन उतरेंगे। फिर सीएम और डीजीपी शहीद पुलिसकर्मियों को श्रृद्धांजलि देने के बाद सर्वोदयनगर स्थित रीजेंसी अस्पताल में भर्ती घायल जवानों का हाल जानेंगे।

बता दें कि कानपुर में गुरुवार देर रात कुख्यात हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे के घर दबिश देने गई पुलिस की टीम पर ताबड़तोड़ फायरिंग हो गई जिसमें बिल्हौर के सीओ देवेंद्र कुमार मिश्र, शिवराजपुर के एसओ महेश यादव समेत आठ पुलिसकर्मियों की मौत हो गई। इनके अलावा सात अन्य पुलिसकर्मी घायल हुए हैं जिन्हें रीजेंसी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। घायल पुलिसकर्मियों में चार की हालत गंभीर बनी हुई है।

वहीं, घटनास्थल पर पहुंचे एडीजी लॉ एंड ऑर्डर प्रशांत कुमार ने बताया कि कुछ पुलिस हथियार गायब हुए हैं, जिसकी जांच चल रही। जो भी लोग इस कार्य में शामिल है हम उन्हें ढूंढकर उसको कानून के सामने पेश करेंगे। उन्होंने आगे बताया कि दबिश देने गई पुलिस पर बदमाश हावी हो चुके थे, पुलिस टीम बिना तैयारी गई थी। उसे अंदाजा ही नहीं था कि विकास और उसके साथी असलहों के साथ अंदर हैं। यही चूक भारी पड़ गई। उन्होंने कहा कि जल्द ही सीएम को अपनी रिपोर्ट देंगे। मामले की उच्च स्तरीय जांच होगी। अब एसटीएफ के साथ कई टीमें लगी हैं। 8 पुलिसकर्मियों के हत्यारे विकास को खोजा जा रहा है।

शहीद पुलिसकर्मियां का बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा : सीएम
सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि शहीद पुलिसकर्मियां का बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा। सीएम ने ट्विट किया- कानपुर में 'कर्तव्य पथ' पर अपना सर्वस्व न्योछावर करने वाले आठ पुलिसकर्मियों को भावभीनी श्रद्धांजलि। शहीद पुलिसकर्मियों ने जिस अपरिमित साहस व अद्भुत कर्तव्यनिष्ठा के साथ अपने दायित्वों का निर्वहन किया, उत्तर प्रदेश उसे कभी भूलेगा नहीं। उनका यह बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Kanpur Firing : CM Yogi Adityanath and DGP Hitesh Chandra Awasthi give tribute to the martyred policemen