ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तर प्रदेशशादी करना चाहते थे 70 वर्षीय कार्डियोलॉजिस्ट, मैट्रिमोनी फ्रॉड में हुए 1.8 करोड़ रुपये ठगी का शिकार

शादी करना चाहते थे 70 वर्षीय कार्डियोलॉजिस्ट, मैट्रिमोनी फ्रॉड में हुए 1.8 करोड़ रुपये ठगी का शिकार

डॉक्टर ने पसंद की लड़की कृष्णा को भारत में बसने में मदद करने के लिए एक्साइज फीस, शिपिंग, हवाई टिकट और अन्य कामों के लिए लगभग 1.8 करोड़ रुपये का लेनदेन किया था। लड़की ने उन्हें धोखा दिया।

शादी करना चाहते थे 70 वर्षीय कार्डियोलॉजिस्ट, मैट्रिमोनी फ्रॉड में हुए 1.8 करोड़ रुपये ठगी का शिकार
Srishti Kunjलाइव हिन्दुस्तान,लखनऊThu, 23 Jun 2022 12:02 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/

लखनऊ। लखनऊ में 70 वर्षीय हृदय रोग विशेषज्ञ से एक व्यक्ति ने लगभग 1.8 करोड़ रुपये की ठगी की। उन्होंने एक प्रमुख अंग्रेजी अखबार में वैवाहिक विज्ञापनों में विज्ञापन दिया। रिपोर्ट है कि विज्ञापन देने के बाद, डॉक्टर को फ्लोरिडा की रहने वाली एक समुद्री इंजीनियर होने का दावा करने वाली कृष्णा शर्मा ने विज्ञापन का जवाब दिया। कृष्णा ने डॉक्टर से कहा कि वह भारत शिफ्ट हो रही है और किसी भी परेशानी से बचने के लिए 70,000 अमेरिकी डॉलर मूल्य का दक्षिण अफ्रीकी सोना लखनऊ की एक एजेंसी को भेज रही है। डॉक्टर ने कृष्णा को 'भारत में बसने में मदद' करने के लिए एक्सिस फीस, शिपिंग, हवाई टिकट और अन्य कामों के लिए लगभग 1.8 करोड़ रुपये का लेन-देन किया था। ठगी का अहसास होने पर उसने कृष्णा के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज कराई। 

साइबर सेल के अधिकारी मामले की जांच कर रहे हैं, कई लोगों को इसके पीछे नाइजीरिया के एक गिरोह का हाथ होने का शक है। यूपी साइबर सेल के पुलिस अधीक्षक त्रिवेणी सिंह ने कहा कि उन्होंने घटना की जांच शुरू कर दी है। एसपी ने बताया कि घटना की शुरुआत जनवरी 2022 में हुई, जब हृदय रोग विशेषज्ञ ने 2019 में अपनी पत्नी के निधन के बाद पुनर्विवाह का विज्ञापन दिया। शिकायत के मुताबिक डॉक्टर ने 2 मार्च 2022 को कृष्णा शर्मा से संपर्क किया, जिन्होंने अपना परिचय खुद फ्लोरिडा, यूएसए में एक समुद्री इंजीनियर के रूप में दिया। आखिरकार, उनकी दोस्ती बढ़ती गई क्योंकि उन्होंने बात करना और चैट करना शुरू कर दिया। इस अवधि के दौरान महिला ने गुजरात में अपने माता-पिता की देखभाल के लिए भारत जाने की इच्छा व्यक्त की। उसने कहा कि वह दक्षिण अफ्रीका से सोना ले जाना चाहती थी 'जो सोमालिया के समुद्री डाकुओं द्वारा चोरी किए जाने के खतरे में था' और उसे लखनऊ में एक सुरक्षा कंपनी में स्थानांतरित किया जाना था। 

पीड़ित का कहना है कि महिला के बहकावे में आकर उन्होंने तुरंत हामी भर दी। इसके बाद, उन्हें सीमा शुल्क और सुरक्षा कंपनी से हवाई अड्डे पर पहुंची सोने की खेप का बकाया चुकाने के लिए फोन आए। डॉक्टर से कस्टम फीस, इंश्योरेंस फीस और कई अन्य फीस के नाम पर 15 दिन के अंदर 1.8 करोड़ रुपये की ठगी की है। हालांकि, डॉक्टर आशंकित हो गए और लेन-देन के 10 दिनों के बाद भी खेप नहीं मिलने पर महिला को फोन किया। एसपी ने कहा, उन्होंने महिला का नंबर स्विच ऑफ पाया और सुरक्षा कंपनी के उन अधिकारियों का भी जिन्होंने उसे पैसे के लिए बुलाया था। एसपी ने कहा कि यह मामला कई अन्य मामलों के समान है जहां जालसाज दूसरे देश से होने का दावा कर लोगों को ठगते हैं। उन्होंने कहा कि वे वैवाहिक वेबसाइटों पर हैं और पुनर्विवाह के विज्ञापनों के साथ कागजात पर नजर रख रहे हैं।

epaper