DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कानपुर में 1841 करोड़ रुपए से लगेंगी 64 इकाइयां

उद्योगबंधु की बैठक में जानकारी देते डीएम विजय विश्वास पंत

कानपुर में 1841 करोड़ रुपए के 64 उद्योग लगेंगे। लखनऊ में इन्वेस्टर्स समिट के एमओयू में शामिल उद्यमियों को सर्वोच्च प्राथमिकता में उनके पसंदीदा क्षेत्र में जमीन मिलेगी। कानपुर होजरी क्लस्टर को जल्द जनप्रतिनिधियों के साथ बैठकर साकार किया जाएगा। पनकी औद्योगिक क्षेत्र में अघोषित बिजली कटौती को दूर किया जाएगा। यह निर्देश डीएम विजय विश्वास पंत की अध्यक्षता में आयोजित उद्योग बंधु की बैठक में दिए गए। 
रविवार को कलेक्ट्रेट सभागार में बैठक में डीएम ने संयुक्त निदेशक उद्योग सर्वेश्वर शुक्ल को निर्देशित किया कि एमओयू में शामिल सभी उद्यमियों को वांछित औद्योगिक क्षेत्र में तत्काल भूखंड आवंटित कर दें। संयुक्त आयुक्त उद्योग ने भूखंड आवंटन अभी तक इसलिए रोका था कि सभी भूखंडों के आवेदन मिलने के पश्चात उन्हें आवंटित किया जाएगा। 
कानपुर के होजरी उद्योग की प्रमुख समस्या सिलाई के निदान पर डीएम ने आश्वस्त किया कि इसे जनप्रतिनिधियों के सहयोग से हल किया जाएगा। एसोसिएशन के संरक्षक बलराम नरुला ने कहा कि अर्थटन मिल में  पांच एकड़ जमीन मिल जाए, जहां 200 फ्लैटेड इंडस्ट्री लग जाने से समस्या का निदान हो जाएगा। उन्होंने कहा कि कानपुर का होजरी उद्योग डिजाइनिंग और हाईटेक सिलाई में मात खाता है। अभी लोग बिना प्रशिक्षण के अलग-थलग काम करते हैं। 
पनकी औद्योगिक क्षेत्र में अघोषित बिजली कटौती पर डीएम ने नाराजगी व्यक्त की और इसे जल्द दूर करने के निर्देश दिए। विधायक कल्याणपुर नीलिमा कटियार ने कहा कि बिजली कटौती की सूचना पूर्व में दे दी जाए जिससे उद्यमियों को अनावश्यक नुकसान नही होगा। नगर निगम की क्षतिग्रस्त सड़क और कूड़ा हटाने में लापरवाही की शिकायत की गई। 
16 परियोजनाओं का काम प्रगति पर
संयुक्त आयुक्त उद्योग ने बताया कि कानपुर में 64 एमओयू रुपए 1841 करोड़ के हस्ताक्षरित हुए हैं। 16 प्रोजेक्ट का काम प्रगति पर है। 37 प्रोजेक्ट में जमीन व ऋण की समस्याएं है। उद्योग बंधु बैठक से पहले लखनऊ के इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान से ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी को उद्यमियों, एमएलसी अरुण

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:64 units to be invested in Kanpur for 1841 crores