DA Image
19 सितम्बर, 2020|10:30|IST

अगली स्टोरी

यूपी में कोरोना ने ली 57 लोगों की जान, प्रदेश में 5571 नए मामले आए सामने 

उत्तर प्रदेश में पिछले 24 घंटों के दौरान कोविड-19 से 57 और लोगों की मौत हो गई तथा 5571 नए लोगों में संक्रमण की पुष्टि हुई। स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी रिपोर्ट के मुताबिक पिछले 24 घंटों के दौरान राज्य में संक्रमण से 57 और लोगों की मौत हो गई इनमें सबसे ज्यादा आठ मौतें लखनऊ में हुई हैं। इसके अलावा कानपुर नगर में छह, वाराणसी, अयोध्या, शाहजहांपुर तथा हापुड़ में तीन-तीन, प्रयागराज, गोरखपुर, बरेली, मुरादाबाद, मेरठ, सहारनपुर, देवरिया, जौनपुर, रामपुर तथा फर्रुखाबाद में दो-दो जबकि बलरामपुर, ललितपुर, रायबरेली, मऊ, मैनपुरी, प्रतापगढ़, संत कबीर नगर, उन्नाव, लखीमपुर खीरी, हरदोई तथा झांसी में कोविड-19 संक्रमित एक-एक व्यक्ति की मौत हुई है। प्रदेश में अब तक इस संक्रमण से 3,542 लोगों की मौत हो चुकी है।

रिपोर्ट के मुताबिक इस अवधि में राज्य में 5,571 नए मरीजों में कोविड-19 संक्रमण की पुष्टि हुई है। सबसे ज्यादा 760 नए मामले लखनऊ में आए हैं। इसके अलावा कानपुर नगर में 370, गोरखपुर में 315 और प्रयागराज में 301 नए मरीज मिले हैं। पिछले 24 घंटों के दौरान प्रदेश में 4,537 मरीज कोविड-19 संक्रमण से पूरी तरह उबर कर ठीक हो चुके हैं। राज्य में इस वक्त 55,538 कोरोना मरीजों का विभिन्न अस्पतालों में इलाज किया जा रहा है।  

 

प्रदेश में सैम्पलिंग की पॉजिटिव दर 4.6 प्रतिशत : अमित मोहन प्रसाद

लखनऊ। उत्तर प्रदेश सरकार ने दावा किया है कि राज्य में अब तक सबसे अधिक सैम्पलिंग की पाजिविटी दर 4.6 प्रतिशत है। अपर मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने मंगलवार को यहां बताया कि राज्य में कोविड-19 टेस्टिंग का कार्य तेजी से किया जा रहा है। प्रदेश में सोमवार को एक दिन में अब तक का सवार्धिक 1,49,874 सैम्पल की जांच की गयी। प्रदेश में अब तक कुल 57,76,764 सैम्पल की जांच की गयी है।

अगस्त में राज्य की अब तक की सवार्धिक सैम्पलिंग की पाजिविटी दर 4.6 प्रतिशत है। उन्होंने बताया कि कानपुर में 12.3 प्रतिशत, गोरखपुर 12.2 प्रतिशत, लखनऊ में 11.5 प्रतिशत, महाराजगंज में 9.2 प्रतिशत तथा देवरिया में 8.3 प्रतिशत, अधिक पाजिविटी पायी गयी है। हमीरपुर में 1.3 प्रतिशत, सम्भल में 1.2 प्रतिशत, हाथरस में 1 प्रतिशत, बागपत में 0.7 प्रतिशत, तथा महोबा में 0.8 प्रतिशत सबसे कम पाजिविटी पायी गयी है। अवस्थी ने बताया कि राज्य में पिछले 24 घंटों में कोरोना के 5571 नये मामले आये है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में 55,538 कोरोना के एक्टिव मामले हैं, जिसमें 28,270 लोग होम आइसोलेशन में है। राज्य में अब तक 1,76,677 मरीज पूरी तरह से उपचारित हो चुके हैं। इस प्रकार रिकवरी रेट 75 प्रतिशत है। उन्होंने बताया कि होम आइसोलेशन में रहने वाले लोग थमार्मीटर तथा पल्स ऑक्सीमीटर साथ रखें।

उन्होंने बताया कि यदि किसी को खांसी, बुखार या सांस फूले तो तत्काल हेल्पलाइन नं हेल्पलाइन नं 18001805145 अथवा सीएम हेल्पलाइन नम्बर 1076 पर सम्पर्क करें। प्रसाद ने बताया कि प्रदेश में सर्विलांस टीम के माध्यम से 82,869 क्षेत्रों में 3,04,604 टीम दिवस के माध्यम से 2,06,25,103 घरों के 1,03,36,35,515 लोगों का सवेर्क्षण किया गया है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में ई-संजीवनी पोर्टल का लगातार प्रयोग किया जा रहा है। कल 1960 लोगों ने ई-संजीवनी पोर्टल का प्रयोग करते हुए डॉक्टरों से सलाह ली। उन्होंने बताया कि यदि आपके पास स्मार्ट फोन इंटरनेट कनेक्शन है आप घर बैठे ई-संजीवनी पोर्टल के माध्यम से टेलीमेडिसीन का लाभ उठा सकते है। अब तक प्रदेश में 53,666 लोग ई-संजीवनी पोर्टल के माध्यम से टेलीमेडिसिन का लाभ उठा चुके है।

उन्होंने बताया कि 55,538 एक्टिव मरीजों ने 28,270 लोग होम आइसोलेशन में है जो कि कुल का लगभग 50 प्रतिशत है। उन्होंने बताया कि अब तक कुल 1,04,593 लोग होम आइसोलेशन में थे, जिनमें 76,323 लोग पूर्ण रूप से स्वस्थ्य हो चुके है। श्री प्रसाद ने बताया कि जुलाई में प्रदेश में कुल 64,993 नये एक्टिव मामले सामने आये थे, जिनमें एक्टिव मरीजों की संख्या 29,328 बढ़ी तथा माह अगस्त में कुल 1,46,709 मामले संज्ञान में आये, जिसमें 19,501 एक्टिव मरीजों की संख्या बढ़ी। इस प्रकार बहुत तेजी से लोग उपचारित होकर स्वस्थ्य हो रहे है। उन्होंने बताया कि जुलाई, 2019 में एच-1 एन-1 के 04 मामले सामने आये थे, जबकि इस वर्ष कोई भी मामला संज्ञान में नहीं है, माह अगस्त, 2019 में एच-1 एन-1 के 09 मामले सामने आये थे, इस वर्ष माह अगस्त में कोई भी मामला संज्ञान में नहीं है। उन्होंने बताया कि पिछले वर्ष जुलाई, 2019 में 489 मामले डायरिया के थे, इस वर्ष माह जुलाई में कोई भी मरीज नहीं है।

अगस्त, 2019 में 132 मामले डायरिया के थे, इस वर्ष माह अगस्त में कोई भी मरीज नहीं है। उन्होंने बताया कि पिछले वर्ष कालाजार के 22 मामले थे, इस वर्ष कोई भी नहीं है। उन्होंने बताया कि साफ-सफाई, स्वच्छता, सेनेटाईजेशन तथा मास्क के प्रयोग से कोविड-19 बीमारी के साथ-साथ अन्य बीमारियों पर भी नियंत्रण है। उन्होंने बताया कि डायरिया तथा डिसेन्टरी के क्षेत्रों में इस वर्ष बहुत कमी आयी है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:5571 new cases of corona were reported in uttar pradesh