DA Image
22 नवंबर, 2020|9:49|IST

अगली स्टोरी

वाराणसी में एनकाउंटर : 50 हजारी बदमाश मोनू चौहान ढेर, दरोगा और सिपाही भी घायल

वाराणसी में रिंग रोड के निकट ऐढ़े गांव के समीप रविवार देर शाम पुलिस और क्राइम ब्रांच की मुठभेड़ में 50 हजार रुपये का इनामी बदमाश मोनू चौहान ढेर हो गया। मुठभेड़ में पांडेयपुर चौकी प्रभारी राजकुमार पांडेय और क्राइम ब्रांच के सिपाही विनय सिंह को भी गोली लगी है। दोनों पुलिसकर्मियों को मलदहिया स्थित अस्पताल में भर्ती कराया गया है। दोनों की हालत खतरे से बाहर है। मोनू को एक गोली बाएं पैर और दूसरी सिर में लगी। कबीरचौरा स्थित मंडलीय अस्पताल ले जाया गया, जहां चिकित्सकों ने मृत बता दिया। 

गोइठहां में व्यापारी से लूट और हत्या का आरोपित मोनू उर्फ मोनी उर्फ अरविंद चौहान पुलिस के लिए चुनौती बना हुआ था। पुलिस को सूचना थी कि गोइठहां के निकट ही फिर से रिंग रोड पर वह लूट करने निकला है। लालपुर-पांडेयपुर, सारनाथ और क्राइम ब्रांच की टीम वहां पहुंची और वाहनों की चेकिंग के साथ ही संदिग्धों की तलाशी शुरू की। करीब पौने आठ बजे काले रंग की बाइक से दो युवक आते दिखे। दोनों भागने की कोशिश करने लगे। पुलिस ने जब घेराबंदी की तो फायरिंग शुरू कर दी। पुलिस ने भी जवाबी फायरिंग की। एक गोली उसके बाएं पैर में लगा और दूसरी उसके सिर में लगी। वह लड़खड़ाकर गिर पड़ा।

उधर उसका दूसरा साथी अजय यादव अंधेरे का फायदा उठाते हुए भाग निकला। बदमाशों की फायरिंग में लालपुर-पांडेयपुर थाने के पांडेयपुर चौकी प्रभारी राजकुमार पांडेय और क्राइम ब्रांच के सिपाही विनय सिंह जख्मी हो गये। राजकुमार को बाएं और विनय को दाएं हाथ में गोली लगी है। मोनू को पुलिस ने कबीरचौरा मंडलीय अस्पताल भेजवाया। पुलिसकर्मियों को मलदहिया स्थित अस्पताल ले जाया गया। एसएसपी अमित पाठक ने बताया कि कबीरचौरा अस्पताल में इलाज के दौरान मोनू चौहान की मौत हो गई। उस पर 50 हजार रुपये का इनाम था। एक लाख रुपये इनाम घोषित करने की संस्तुति की गई थी।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:50 Hazari crooks Monu Chauhan killed daroga and constables also injured at encounter in varanasi