ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशबिजली चोरों पर बकाया 4 हजार करोड़, दिए सिर्फ 154 करोड़, ओटीएस रास नहीं आया

बिजली चोरों पर बकाया 4 हजार करोड़, दिए सिर्फ 154 करोड़, ओटीएस रास नहीं आया

यूपी में एकमुश्त समाधान योजना बिजली चोरी करने वाले आरोपी उपभोक्ताओं को रास नहीं आ रही है। बिजली चोरों पर बकाया 4 हजार करोड़ है। सिर्फ 154 करोड़ जमा हुआ है।

बिजली चोरों पर बकाया 4 हजार करोड़, दिए सिर्फ 154 करोड़, ओटीएस रास नहीं आया
Deep Pandeyहेमंत श्रीवास्तव,लखनऊThu, 07 Dec 2023 06:18 AM
ऐप पर पढ़ें

बिजली महकमें द्वारा चलाई जा रही बकायेदार उपभोक्ताओं के लिए एकमुश्त समाधान योजना बिजली चोरी करने वाले आरोपी उपभोक्ताओं को रास नहीं आ रही है। बिजली चोरी के मामलों में निर्धारित राजस्व 4000 करोड़ के मुकाबले महज 154 करोड़ ही पावर कारपोरेशन के खजाने में पहुंचा है। बिजली चोरी के मामलों में आरोपी करीब 6.47 लाख लोगों ने अब तक इस योजना से जुड़ने का पंजीकरण तक नहीं कराया है, इनके पास करीब 3846 करोड़ रुपये फंसे हैं।
 
यूपी में बिजली महकमें के इतिहास में यह पहली बार है, जब बिजली चोरी के मामलों में निर्धारित राजस्व में 65 फीसदी तक छूट दिए जाने का आफर ओटीएस में दिया गया है। तमाम आलोचनाओं के बाद भी प्रबंधन ने बिजली चोरी के मामलों में फंसे लोगों को राहत देने का यह साहसिक कदम आगे बढ़ाया। ओटीएस योजना का करीब 35 दिन निकल जाने के बाद भी बिजली चोरी के मामलों में रिकवरी न्यूनतम है। 

मिली जानकारी के मुताबिक प्रदेश में 6 लाख 92 हजार 781 बिजली चोरी के प्रकरण हैं जो इस ओटीएस योजना में शामिल किए गए हैं। इनमें से चार दिसंबर तक की रिपोर्ट के मुताबिक बिजली चोरी में फंसे कुल 45 हजार 420 लोग इस योजना का हिस्सा बनें। जिनसे कुल करीब 154 करोड़ रुपये राजस्व मिला है। बताया जाता है कि प्रबंधन द्वारा बिना आदेश के बिजली कनेक्शन काटने पर रोक लगाने के फैसले से एकमुश्त समाधान योजना में अपेक्षित सफलता नहीं मिल रही है। बिजली चोरी के मामलों में वसूली में भी दिक्कतें आ रही हैं। 

यूपीपीसीएल चेयरमैन डा. आशीष गोयल ने बताया कि बिजली चोरी के मामलों में ओटीएस के तहत छूट दिए जाने का आदेश पहली और अंतिम बार दिया गया है। इसके बाद बिजली चोरी के मामलों में इस तरह की छूट देने पर विचार नहीं होगा। बिजली चोरी के मामलों में आरोपी ओटीएस का लाभ लेकर लोग इससे मुक्ति पा सकते हैं। 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें