ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेशयूपी में जानलेवा गर्मी से 51 और जानें गईं, तपता टापू बना यह इलाका, तीन दिन इन जिलों के लिए रेड अलर्ट

यूपी में जानलेवा गर्मी से 51 और जानें गईं, तपता टापू बना यह इलाका, तीन दिन इन जिलों के लिए रेड अलर्ट

प्रचंड लू और तपन से उत्तर प्रदेश में जनजीवन बेहाल है। फिलहाल अगले तीन दिन तापमान में बढ़ोतरी का क्रम बना रहने का अनुमान है। प्रचंड गर्मी ने रविवार को राज्य में 51 और लोगों की जानें ले लीं।

यूपी में जानलेवा गर्मी से 51 और जानें गईं, तपता टापू बना यह इलाका, तीन दिन इन जिलों के लिए रेड अलर्ट
Yogesh Yadavहिन्दुस्तान,लखनऊSun, 16 Jun 2024 11:31 PM
ऐप पर पढ़ें

प्रचंड लू और तपन से उत्तर प्रदेश में जनजीवन बेहाल है। फिलहाल अगले तीन दिन तापमान में बढ़ोतरी का क्रम बना रहने का अनुमान है। जानलेवा साबित हो रही गर्मी ने रविवार को राज्य में 51 और जानें ले लीं। आंचलिक मौसम विज्ञान केन्द्र से मिली जानकारी के अनुसार रविवार को प्रयागराज में दिन का तापमान सबसे अधिक 47.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज हुआ और शनिवार की रात का तापमान 35.2 डिग्री रहा। इसके बाद झांसी में 47.1 डिग्री सेल्सियस और हमीरपुर में तापमान 46.2 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया। दो दर्जन जिलों में अगले तीन दिन भीषण लू चलेगा। इसका रेड अलर्ट भी जारी किया गया है। 

गर्मी से सर्वाधिक 34 मौतें बुंदेलखंड और कानपुर में हुईं। अकेले बुंदेलखंड में कुल 23 मौतें हैं। यहां हमीरपुर में आठ, चित्रकूट में सात, महोबा में पांच, उरई में दो, बांदा में एक की लू-गर्मी से मौत हुई है। इसके अलावा कानपुर के घाटमपुर और कानपुर शहर में कुल 10 लोगों की लू और गर्मी से जान चली गई। वहीं फर्रुखाबाद में डेढ़ घंटे जाम में फंसी महिला की गर्मी से मौत हो गई। प्रयागराज में चार, संतकबीरनगर, सोनभद्र व जौनपुर में दो-दो, कौशाम्बी, चंदौली, आजमगढ़, गाजीपुर, भदोही और मऊ में एक-एक व्यक्ति की लू की चपेट में आने से मौत हो गई। आगरा में पश्चिम बंगाल से आया एक पर्यटक गश खाकर गिर पड़ा। अस्पताल तक पहुंचाए जाने से पहले ही उसने दम तोड़ दिया।  

आंचलिक मौसम विज्ञान केन्द्र से मिली जानकारी के अनुसार प्रयागराज में शनिवार की रात का तापमान 35.2 डिग्री रहा। वर्ष 1898 से अब तक प्रयागराज (इलाहाबाद) में रिकार्ड हो रहे मौसम सम्बंधी आंकड़ों के अनुसार प्रयागराज में लगातार तीसरी सबसे अधिक गरम रात रही। वाराणसी  में लगातार तीन दिनों से तापमान 46 के पार बना हुआ है। रविवार को दिन का तापमान सामान्य से 8.3 डिग्री ज्यादा 46.8 और रात का तापमान सामान्य से 3.9 ज्यादा 31.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया है। तापमान ने इस बार 19 साल पुराने रिकॉर्ड को छुआ है। इससे पहले 18 जून 2005 को 46.8 डिग्री सेल्सियस तापमान दर्ज किया गया था। लखनऊ में दिन का तापमान 45.6 डिग्री, आगरा में 46.9 और बहराइच में 46 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

तीन दिन इन जिलों में गर्मी का रेड अलर्ट
मौसम विभाग के अनुसार सोमवार 17 जून को पूरे प्रदेश में अधिकांश स्थानों पर प्रचंड लू व तपन का प्रकोप बना रहेगा, रात भी गरम होगी। 18 व 19 जून को पश्चिमी उत्तर प्रदेश में अनेक स्थानों पर और पूर्वी उत्तर प्रदेश में अधिकांश स्थानों पर लू का प्रकोप जारी रहेगा। बांदा, चित्रकूट, कौशाम्बी, प्रयागराज, फतेहपुर, प्रतापगढ़, सोनभद्र, मिर्जापुर, चंदौली, वाराणसी, जौनपुर, कानपुर देहात, कानपुर नगर, रायबरेली, अलीगढ़, मथुरा, हाथरस, फिरोजाबाद, इटावा, औरय्या, जालौन, हमीरपुर, महोबा, झांसी, ललितपुर और आसपास के इलाकों में भीषण लू चलने के आसार हैं।

पूर्वी अंचल में आंधी के आसार
पूर्वी उत्तर प्रदेश में अलग-अलग स्थानों पर गरज-चमक के साथ तेज आंधी आ सकती है। हवा की रफ्तार 30 से 40 किलोमीटर प्रति घंटे की हो सकती है। 20 जून को प्रदेश के कुछ स्थानों पर लू व तपन का प्रकोप रहेगा। आंधी-बारिश के आसार हैं। 21 व 22 जून को पूर्वी व पश्चिमी अंचल में अलग-अलग स्थानों पर गरज-चमक के साथ बौछारें पड़ने का अनुमान जताया गया है।

मानसून के लिए अभी इंतजार
आंचलिक मौसम विज्ञान केन्द्र के वैज्ञानिक अतुल कुमार सिंह के अनुसार आगामी तीन-चार दिनों के दौरान महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़, ओडिशा, तटीय आंध्र प्रदेश और उत्तर-पश्चिमी बंगाल की खाड़ी के कुछ और  हिस्सों तथा गंगीय पश्चिम बंगाल के कुछ हिस्सों, उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल के शेष हिस्सों और बिहार के कुछ हिस्सों में दक्षिण-पश्चिम मानसून के आगे बढ़ने के लिए परिस्थितियां अनुकूल हैं। बिहार में आगे बढ़ने के उपरान्त ही मानसून के उत्तर प्रदेश में आगे बढ़ने के सम्बन्ध में स्थिति स्पष्ट होगी।