3 friends fell down 30 feet down from overbridge while laughing know what happened next - हंसते-हंसते ओवरब्रिज से 30 फिट नीचे गिरे 3 युवक, जानें फिर क्या हुआ DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हंसते-हंसते ओवरब्रिज से 30 फिट नीचे गिरे 3 युवक, जानें फिर क्या हुआ

               -                                                30                                     3

लोहिया पथ ओवर ब्रिज पर गुरुवार दोपहर फर्राटा भरते समय हंसी-ठिठोली करना तीन युवकों को महंगा पड़ गया। इस दौरान ही बाइक अनियंत्रित होकर रेलिंग से जा टकरायी और तीनों लोग 30 फीट नीचे सड़क पर जा गिरे। गनीमत रही कि पीछे से कोई बड़ा वाहन नहीं आ रहा था। पुलिस ने राहगीरों की मदद से तीनों को लोहिया अस्पताल में भर्ती कराया जहां सुधीर (17) की मौत हो गई। 

इंस्पेक्टर विभूतिखण्ड राजीव द्विवेदी के मुताबिक मूलत: हरदोई के रहने वाले राजेन्द्र परिवार के साथ गोमतीनगर रेलवे क्रासिंग के पास झोपड़पट्टी में रहते हैं। उनका बेटा सुधीर विभूतिखण्ड स्थित एक निजी कम्पनी के कार्यालय में चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी था। सुधीर अपने कार्यालय में ही काम करने वाले पड़ोसी अंकित और पुराना गल्लामण्डी निवासी नीरज के साथ बाइक से अपने आफिस जा रहा था। 

गुदगुदी लगाने से हटा नियंत्रण

अंकित के मुताबिक नीरज ने पिकप भवन के सामने ब्रिज पर गाड़ी चला रहे सुधीर के गुदगुदी की। बस, इस शरारत से ही सुधीर का बाइक से नियंत्रण हट गया। तेज रफ्तार बाइक ओवर ब्रिज की रेलिंग से टकराई। सुधीर और नीरज उछलकर ओवरब्रिज से करीब 30 फुट की ऊंचाई से नीचे जा गिरे जबकि अंकित पहले रेलिंग में अटका रहा लेकिन चोट लगने की वजह से वह ऊपर नहीं आ सका और कुछ देर बाद ही नीचे गिर पड़ा। हादसे में तीनों लोग गम्भीर रूप से चोटिल हो गए थे।

दोस्त अपने मालिक की गाड़ी लाया था

घर वालों ने बताया कि सुधीर और अंकित साथ ही काम करते थे। नीरज एक टिम्बर स्टोर में पेटिंग का काम करता था। नीरज गुरुवार को टिम्बर के मालिक मनोज तिवारी की बाइक लेकर आया था। इसके बाद वह अंकित और सुधीर से मिला। सुधीर ने बाइक से उसे ऑफिस छोड़ने की बात कही। नीरज राजी हो गया तो सुधीर ने नीरज से बाइक चलाने के लिए ले ली। नीरज बीच में बैठा जबकि अंकित पीछे बैठ गया। इसके बाद तीनों लोग विभूतिखंड जा रहे थे। 

हेल्मेट पहने होते तो शायद बच जाते

इस घटना से मौके पर हड़कम्प मच गया था। हर कोई यही कह रहा था कि अगर हादसे के समय पुल के नीचे कोई वाहन आ रहा होता तो उसके नीचे आने से बड़ा हादसा हो सकता था। वहीं सुधीर के सिर में काफी चोट लगी हुई थी। वही गाड़ी चला रहा था और उसने हेल्मेट भी नहीं पहन रखा था। राहगीरों ने कहा कि अगर सुधीर हेल्मेट पहने होता तो शायद इतनी चोट सिर में न लगती। डॉक्टरों ने बताया कि नीरज के पैर की हड्डी टूट गई है जबकि अंकित की तीन पसलियां टूटी हैं। सुधीर के सिर पर ज्यादा चोट आने की वजह से उसकी मौत हो गई। उसकी मौत की खबर मिलते ही घर में कोहराम मच गया था। 

पहले भी पुल पर हुए ऐसे हादसे

27 अक्टूबर 2017-बाइक सवार एमेटी विश्वविद्यालय नोएडा के छात्र कुणाल की हादसे में पुल से नीचे गिरकर मौत । 
03 मार्च 2018-जनेश्वर मिश्र पार्क ओवरब्रिज से वाहन की टक्कर से बाइक सवार सिद्धार्थ श्रीवास्तव की गिरकर मौत। 
23 मार्च 2019-लोहिया पथ ओवरब्रिज पर तेज रफ्तार बाइक स्पीड ब्रेकर से उछलकर पुल के नीचे गिर गई थी। इसमें सत्येंद्र पाण्डेय और उसके भाई प्रमोद की मौत हो गई थी।
07 नवम्बर 2017-लोहिया पथ ओवर ब्रिज पर विपरीत दिशा कार सवारों ने की टक्कर से पुल के नीचे गिरकर बुलेट सवार युवक ऋषभ शंखधर की मौत।  
13 जनवरी-2019-लोहिया पथ ओवर ब्रिज कार की टक्कर से बाइक सवार नगर निगम कर्मचारी अतीक की नीचे गिरकर मौत। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:3 friends fell down 30 feet down from overbridge while laughing know what happened next