ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तर प्रदेशबिहार में 18, यूपी में 19, हरियाणा में 20 जनवरी को पीक पर होगा कोरोना, फिर घटने लगेंगे केस

बिहार में 18, यूपी में 19, हरियाणा में 20 जनवरी को पीक पर होगा कोरोना, फिर घटने लगेंगे केस

कोरोना संक्रमण की तीसरी लहर तेजी से पीक की ओर बढ़ रही है। उत्तर प्रदेश में 19 जनवरी, बिहार में 18 जनवरी, हरियाणा में 20 जनवरी को संक्रमण का पीक होगा। दिल्ली में दो दिन पहले ही संक्रमण का पीक आ चुका...

बिहार में 18, यूपी में 19, हरियाणा में 20 जनवरी को पीक पर होगा कोरोना, फिर घटने लगेंगे केस
Rishiवरिष्ठ संवाददाता,कानपुरMon, 17 Jan 2022 04:27 PM

इस खबर को सुनें

कोरोना संक्रमण की तीसरी लहर तेजी से पीक की ओर बढ़ रही है। उत्तर प्रदेश में 19 जनवरी, बिहार में 18 जनवरी, हरियाणा में 20 जनवरी को संक्रमण का पीक होगा। दिल्ली में दो दिन पहले ही संक्रमण का पीक आ चुका है। अगले कुछ दिनों में अधिकतर प्रदेशों में संक्रमण की तीसरी लहर का पीक आ जाएगा। इसके बाद लगातार संक्रमण का खतरा कम होगा और पॉजिटिव केसों की संख्या में कमी आएगी। यह रिपोर्ट आईआईटी कानपुर के वरिष्ठ वैज्ञानिक प्रो. मणींद्र अग्रवाल ने अपने गणितीय मॉडल सूत्र की स्टडी के आधार पर पेश की है। प्रो. अग्रवाल ने बताया कि संक्रमण में बहुत अधिक दिक्कत न होने से मरीजों की संख्या में कमी आई है।  
कोरोना संक्रमण की पहली व दूसरी लहर का आकलन कर रिपोर्ट प्रस्तुत करने वाले आईआईटी के प्रो. मणींद्र अग्रवाल ने तीसरी लहर के आने से पहले ही अपनी स्टडी शुरू कर दी थी। देश के अलावा साउथ अफ्रीका, यूएसए, यूके, डेनमार्क समेत कई देशों के कोरोना संक्रमित आंकड़ों के आधार पर पीक व घटते-बढ़ते कोरोना केस को लेकर भविष्य की आकलन रिपोर्ट प्रस्तुत की थी। प्रो. अग्रवाल ने नई स्टडी कर देश के प्रदेशवार कोरोना संक्रमण की आकलन रिपोर्ट प्रस्तुत की है। यह रिपोर्ट राहत देने वाली है। रिपोर्ट के मुताबिक कोरोना संक्रमण में तेजी से कमी आएगी और मार्च में लगभग पूरी तरह स्थिति सामान्य होने के आसार हैं।  

संक्रमण में अधिक दिक्कत न होने से घटी संख्या 
प्रो. अग्रवाल की आकलन रिपोर्ट के मुताबिक देश व प्रदेश में पीक का समय लगभग वही है लेकिन मरीजों की संख्या में कमी नजर आ रही है। प्रो. अग्रवाल के मुताबिक जागरूकता, लगातार हो रहे वैक्सीन के साथ संक्रमण में अधिक दिक्कत न होने के कारण ऐसा हो रहा है। अधिकतर लोग लक्षण प्रतीत होने पर बिना जांच कराए खुद ही होमआइसोलेशन से ठीक हो रहे हैं।  

यूपी में एक फीसदी से भी कम है हॉस्पिटलाइजेशन 
प्रो. मणींद्र अग्रवाल ने बताया कि यूपी में कोरोना संक्रमण तेजी से फैला है लेकिन हॉस्पिटलाइजेशन काफी कम हो रहा है। यूपी में कुल एक फीसदी से भी कम संक्रमित मरीजों को हॉस्पिटल की आवश्यकता पड़ रही है।  

वर्तमान केसों को देख देश में पीक में आएंगे 4 लाख केस 
प्रो. अग्रवाल के मुताबिक कोरोना संक्रमण मॉडल के अनुरूप ही बढ़ रहा है। मगर अधिक जागरूकता के कारण इसका पीक वही रहेगा लेकिन केसों की संख्या में कमी नजर आती दिख रही है। अब 4 लाख केस प्रति दिन पीक में आने की संभावना है।  

यूके का आकलन हुआ सच 
प्रो. अग्रवाल का यूके को लेकर किया हुआ आकलन लगभग सही साबित हुआ। प्रो. अग्रवाल के मुताबिक 5 जनवरी को पीक आने के बाद संक्रमण में कमी आनी थी। वर्तमान में यूके की स्थिति वैसी ही है। पीक आ चुका है और संक्रमण घट रहा है। यूएस में भी उन्होंने 15 से 20 जनवरी के बीच पीक बताया है। वर्तमान में केसों की संख्या उनके मॉडल के अनुरूप ही बढ़ रही है। 

स्टडी के इन प्रदेशों में कब आएगा पीक 
प्रदेश         पीक          राहत (दो हजार से कम) 
उत्तर प्रदेश     19 जनवरी    3 फरवरी के बाद 
तमिलनाडु     25 जनवरी    15 फरवरी के बाद 
आंध्र प्रदेश     30 जनवरी    19 फरवरी के बाद 
कर्नाटक       23 जनवरी    18 फरवरी के बाद 
महाराष्ट्र      19 जनवरी    28 फरवरी के बाद 
गुजरात       19 जनवरी    14 फरवरी के बाद 
हरियाणा      20 जनवरी    11 फरवरी के बाद 
बिहार         18 जनवरी    29 जनवरी के बाद 
असम         26 जनवरी    15 फरवरी के बाद 
दिल्ली        15 जनवरी    28 जनवरी के बाद

epaper