ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशUP Police Constable Exam: बलिया में सिपाही भर्ती परीक्षा में सेंध लगाने की कोशिश, लैब टेक्नीशियन समेत 15 गिरफ्तार

UP Police Constable Exam: बलिया में सिपाही भर्ती परीक्षा में सेंध लगाने की कोशिश, लैब टेक्नीशियन समेत 15 गिरफ्तार

बलिया में पुलिस आरक्षी भर्ती परीक्षा में सेंध लगाने का प्रयास करने वाले 3 गिरोह के 12 सदस्यों सहित अब तक कुल 15 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। पकड़े गए आरोपियों में एक लैब टैक्नीशियन भी शामिल है।

UP Police Constable Exam: बलिया में सिपाही भर्ती परीक्षा में सेंध लगाने की कोशिश, लैब टेक्नीशियन समेत 15 गिरफ्तार
Pawan Kumar Sharmaवार्ता,बलियाSun, 18 Feb 2024 08:08 PM
ऐप पर पढ़ें

यूपी के बलिया में रविवार को पुलिस आरक्षी भर्ती परीक्षा में सेंध लगाने का प्रयास करने वाले 3 गिरोह के 12 सदस्यों सहित अब तक कुल 15 आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। गिरफ्तार किये गये शातिरों में सुल्तानपुर जिले में स्वास्थ्य विभाग में कार्यरत एक लैब टेक्नीशियन भी शामिल है। उसके पास से कई ब्लैंक चेक, अभ्यर्थियों के प्रवेश पत्र और आपत्तिजनक सामग्री के साथ ही ब्लूटूथ ,  इलेक्ट्रॉनिक उपकरण और वॉकी टॉकी बरामद किया गये हैं। 

पुलिस अधीक्षक देव रंजन वर्मा ने रविवार को बताया कि बलिया में पुलिस आरक्षी भर्ती परीक्षा में परीक्षा पास कराने का झांसा देकर अभ्यर्थियों से पैसे की वसूली करने वाले, दूसरे के स्थान पर परीक्षा देने वाले ,परीक्षा केंद्र के बाहर से ब्लूटूथ/वॉकी-टॉकी से नकल कराने वाले तीन गिरोह का भंडाफोड़ किया है। तीन गिरोह के पहले गैंग में अभय कुमार श्रीवास्तव, विनीत कुमार राम और रुकुमेश पाल, दूसरे गैंग में फतेहबहादुर राजभर, अजीत यादव, वरुण कुमार यादव और तीसरे गैंग में गिरिजाशंकर, अमित यादव, विशाल यादव, अंकित यादव और निखिल यादव साथ ही खेजुरी थाना क्षेत्र के करीयापार मसुमपुर निवासी उपेन्द्र यादव के नाम शामिल हैं। 

एसपी ने बताया कि गिरफ्तार अभय कुमार श्रीवास्तव गैंग प्रथम का लीडर है। वह सुल्तानपुर जिले में स्वास्थ्य विभाग में लैब टेक्नीशियन के पद पर कार्यरत है । पुलिस ने तीन अन्य लोगों को भी गिरफ्तार किया है, जो दूसरे के स्थान पर परीक्षा दे रहे थे। गिरफ्तार गैंग के सदस्य अभ्यर्थियों को झांसा देकर चयन कराने और प्रश्न पत्र उपलब्ध कराने का भरोसा दिलाकर रुपये वसूल कर रहे थे। उन्होंने बताया कि गिरफ्तार लोगों के पास से कई ब्लैंक चेक, अभ्यर्थियों के प्रवेश पत्र और आपत्तिजनक सामग्री के साथ ही ब्लूटूथ, इलेक्ट्रॉनिक उपकरण और वॉकीटॉकी बरामद किया गया है। 

परीक्षा पास कराने का झांसा देकर वसूले 9 लाख रुपये

पुलिस ने इससे पहले भी रसड़ा थाना क्षेत्र से परीक्षा पास कराने का झांसा देकर अभ्यर्थियों से पैसे की वसूली करने वाले एक व्यक्ति को 8 लाख 99 हजार रुपये सहित गिरफ्तार किया था। पुलिस को मुखबिर के जरिए सूचना प्राप्त हुई थी कि पुलिस भर्ती परीक्षा में एक व्यक्ति सलीम अंसारी सक्रिय है। सलीम पुलिस भर्ती में शामिल होने वाले अभ्यर्थियों को परीक्षा पास कराने का झाँसा देकर वसूली करने के साथ ही कूटरचित दस्तावेज तैयार कर था। साथ ही निर्धारित एडवांस वसूलने की फिराक में भी था।

रसड़ा पुलिस टीम द्वारा पुलिस टीम गठित कर थाना क्षेत्र के कोटवारी मोड़ स्थित एक दुकान पर छापेमारी कर सलीम को गिरफ्तार कर लिया। उसके पास से पुलिस आरक्षी भर्ती परीक्षा से संबंधित अभ्यर्थियों के 16 प्रवेश पत्र, 12 मूल शैक्षिक प्रमाण पत्र, 4 अदद स्वयं के फर्जी आधार कार्ड, एक मोबाइल और एक लेखबद्ध डायरी बरामद किया है। सलीम ने पुलिस को बताया कि उसके द्वारा 17 और 18 फरवरी को आयोजित होने वाली पुलिस आरक्षी भर्ती परीक्षा में पास कराने व भर्ती कराने के नाम पर पैसा लिया गया है। परीक्षा में सम्मिलित होने वाले कुछ अभ्यर्थियों से लगभग 5 लाख 49 हजार लेकर अपने बैंक अकाउंट मे जमा कराया। जबकि लगभग 3 लाख 50 हजार रुपये नगद लिया था।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें