ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेशशर्मनाक: 13 साल की रेप पीड़िता ने बेंच पर दिया मृत बच्चे को जन्म, सोता रहा सिस्टम

शर्मनाक: 13 साल की रेप पीड़िता ने बेंच पर दिया मृत बच्चे को जन्म, सोता रहा सिस्टम

मेरठ स्थित एक सीएचसी से मानवता को शर्मसार कर देने वाली घटना सामने आई है। जहां नाबालिग रेप पीड़िता ने शुक्रवार सुबह सरधना CHC के बाहर बेंच पर एक मृत बच्चे को जन्म दिया। वहीं, पूरा स्टॉफ सोता रहा।

शर्मनाक: 13 साल की रेप पीड़िता ने बेंच पर दिया मृत बच्चे को जन्म, सोता रहा सिस्टम
Pawan Kumar Sharmaहिन्दुस्तान,मेरठFri, 24 May 2024 08:23 PM
ऐप पर पढ़ें

यूपी के मेरठ स्थित एक सीएचसी से मानवता को शर्मसार कर देने वाली घटना सामने आई है। जहां एक नाबालिग रेप पीड़िता शुक्रवार सुबह करीब छह बजे प्रसव पीड़ा होने पर परिजनों के साथ सीएचसी पहुंची। आरोप है कि वहां पूरा स्टाफ सोता रहा और दर्द से कराहती पीड़िता ने बाहर बेंच पर एक मृत बच्चे को जन्म दिया। खून से लथपथ पीड़िता तड़पती रही। पुलिस पहुंची तो पीड़िता को भर्ती किया गया लेकिन बाद में उसे जिला अस्पताल रेफर कर दिया। जहां उसकी हालत गंभीर बनी हुई है। 

सरधना क्षेत्र के एक गांव की रहने वाली 13 साल किशोरी से गांव के ही युवक ने आठ महीने पहले दुष्कर्म किया था। उसने वीडियो बना लिए थे। जिन्हें वायरल करने की धमकी देकर कई बार उसके साथ दुष्कर्म किया। इस बीच किशोरी गर्भवती हो गई। परिजनों ने अल्ट्रासाउंड कराया तो वह आठ महीने की गर्भवती निकली। शुक्रवार सुबह किशोरी को प्रसव पीड़ा हुई। परिजन उसे लेकर सरधना सीएचसी पहुंचे। वहां डॉक्टर गायब थे और बाकी स्टाफ सो रहा था। परिजनों ने स्टाफ को जगाया तो आरोप है कि स्टाफ ने किशोरी को भर्ती करने से इंकार कर दिया। इसी बीच गर्भवती ने बाहर बेंच पर एक मृत बच्चे को जन्म दिया। सूचना पर थाना प्रभारी प्रताप सिंह सीएचसी पहुंचे। उन्होंने स्टाफ को फटकार लगाई। साथ ही थाने से मजलूमी चिट्ठी मंगवाकर दी। जिसके बाद पीड़िता को भर्ती किया गया। बाद में हालत गंभीर बताकर किशोरी को जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया। 

सीएचसी प्रभारी ने दी सफाई

इस मामले में सीएसची प्रभारी संदीप कुमार गौतम ने बताया कि स्टाफ से जानकारी मिली है कि किशोरी का प्रसव सीएचसी आने से पहले ही हो गया था। यदि सीएचसी में आने के बाद प्रसव हुआ है और स्टाफ ने लापरवाही बरती है तो जांच कर कार्रवाई की जाएगी। वहीं थाना प्रभारी निरीक्षक प्रताप सिंह ने बताया कि किशोरी प्रसव के लिए सीएचसी आई थी। सीएचसी स्टाफ ने उसे भर्ती नहीं किया। उसने खुले में मृत बच्चे को जन्म दिया।