DA Image
हिंदी न्यूज़ › उत्तर प्रदेश › मानव तस्करी रोकने के लिए 1090 और एसएसबी मिलकर काम करेंगे
उत्तर प्रदेश

मानव तस्करी रोकने के लिए 1090 और एसएसबी मिलकर काम करेंगे

मुख्य संवाददाता, लखनऊPublished By: Shivendra Singh
Wed, 28 Jul 2021 06:01 AM
मानव तस्करी रोकने के लिए 1090 और एसएसबी मिलकर काम करेंगे

महिला एवं बाल सुरक्षा संगठन (1090) और सशस्त्र सीमा बल (एसएसबी) मानव तस्करी रोकने के लिए मिलकर काम करेंगे। दोनों संगठन एक दूसरे से समन्वय बनाकर इस अपराध से निपटेंगे। इसमें तैनात कर्मचारियों को विशेषज्ञ प्रशिक्षकों से प्रशिक्षण भी दिलाया जाएगा। महिला एवं बाल सुरक्षा संगठन के सभागार में मंगलवार को दो दिवसीय कार्यशाला के समापन अवसर पर यह निर्णय लिया गया। इस कार्यालय में इस तस्करी को रोकने के लिए कई बिन्दुओं पर चर्चा की गई।

कार्यशाला में मुख्य अतिथि एडीजी कानून व्यवस्था प्रशांत कुमार ने यूपी पुलिस और एसएसबी के जवानों का उत्साह बढ़ाया और मानव तस्करी रोकने के लिए महकमे को मिलने वाली सुविधाओं के बारे में बताया। उन्होंने कहा कि ऐसी कार्यशाला से जवानों की कार्यक्षमता बढ़ती है लिहाजा ऐसे आयोजन होते रहने चाहिए। इस कार्यशाला में महिलाओं व बच्चों पर इसके प्रभाव व रोकथाम पर चर्चा के अलावा नेपाल सीमा पर होने वाली गतिविधियों के बारे में भी बात हुई।

इस कार्यशाला में भारत-नेपाल सीमा से सटे सात जिलों पीलीभीत, लखीमपुर, बहराइच, बलरामपुर, सिद्धार्थनगर, श्रावस्ती और महाराजगंज के 45 अधिकारियों व कर्मचारियों ने भाग लिया। इसमें विशेषज्ञ के तौर पर सुप्रीम कोर्ट के वकील रविकांत और गोवा की अर्ज संस्था के संस्थापक अरुण पाण्डेय मौजूद रहे। इसके अलावा एडीजी 1090 नीरा रावत, आईजी एसएसबी रत्न संजय, डीआईजी रविशंकर छवि, एसपी 1090 अंलकृता सिंह, एएसपी वीरेन्द्र कुमार, नीति द्विवेदी समेत कई अफसर मौजूद रहे।

संबंधित खबरें