ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेश सोनभद्रस्थाई कामों में ठेका प्रथा को वर्कर्स फ्रंट ने गैरकानूनी ठहराया

स्थाई कामों में ठेका प्रथा को वर्कर्स फ्रंट ने गैरकानूनी ठहराया

सोनभद्र,संवाददाता वर्कर्स फ्रंट के प्रदेश अध्यक्ष दिनकर कपूर ने कहाकि राष्ट्रपति भवन से लेकर...

स्थाई कामों में ठेका प्रथा को वर्कर्स फ्रंट ने गैरकानूनी ठहराया
हिन्दुस्तान टीम,सोनभद्रMon, 12 Feb 2024 10:15 PM
ऐप पर पढ़ें

सोनभद्र,संवाददाता
वर्कर्स फ्रंट के प्रदेश अध्यक्ष दिनकर कपूर ने कहाकि राष्ट्रपति भवन से लेकर उद्योगों और सरकारी संस्थाओं तक स्थाई कामों में चलाई जा रही ठेका प्रथा गैरकानूनी है। ठेका मजदूर विनिमयन कानून का उल्लंघन है। यह प्रथा मजदूरों की मजदूरी की लूट के लिए कराई जा रही है। एनटीपीसी में भी रेलवे लोडिंग के स्थाई काम में संविदा प्रथा के जरिए सहायक लोको पायलटो की नियुक्ति की गई और उन्हें स्थाई लोको पायलट की तुलना में चौथाई मजदूरी दी जा रही है। इसके खिलाफ रणनीति बनाने के लिए 18 फरवरी को पिपरी में ठेका मजदूर यूनियन का जिला सम्मेलन आयोजित किया गया है। इसमें बीजपुर के मजदूर भी शामिल हो। वे सोमवार को बीजपुर एनटीपीसी में आयोजित संविदा श्रमिकों की बैठक को संबोधित कर रहे थे।

उन्होंने कहा कि मोदी सरकार लेबर कोड लाकर समान काम के समान वेतन के कानून और ठेका मजदूरों की स्थाईकरण के कानून को खत्म करने में लगी है। काम के घंटे 12 कर यह सरकार आधुनिक गुलामी लाने पर आमादा है। यदि तीसरी बार सरकार बनी तो लेबर कोड को लागू किया जाएगा। जिससे मजदूरों का बड़े पैमाने पर शोषण होगा। बैठक में मजदूरों ने बताया कि बीजपुर प्लांट में संविदा में काम कर रहे मजदूरों को डबल ओवर टाइम की जगह ओवर टाइम का सिंगल भुगतान किया जा रहा है। आउटसोर्सिंग कम्पनियों को लगाकर स्थाई कामों में स्थाई कर्मचारियों की तुलना में बेहद कम वेतन पर मजदूरों से काम कराया जा रहा है। एनटीपीसी ने सहायक लोको पायलटो की नियुक्ति की और अब उन्हें पदोन्नति का भी लाभ नहीं दिया जा रहा है। ठेका मजदूर यूनियन के जिला अध्यक्ष कृपा शंकर पनिका ने मजदूरों की स्थिति पर बोलते हुए कहा कि इन सवालों को सहायक श्रम आयुक्त भारत सरकार प्रयागराज के सम्मुख उठाया जाएगा। बैठक में सुधीर कुमार, तफशील शेख, विनोद कुमार, रानवेश, अजीत कुमार पटेल, सोनू कुमार सिंह, धर्मेंद्र यादव, शशि कुमार पटेल, सत्येंद्र पाल, दीपक कुमार, सुनील कुमार, अवधेश गुप्ता, जितेंद्र कुमार पटेल, रोहन राज, बजरंगी कुमार आदि मजदूरों ने अपनी बात को रखा।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें