Monday, January 24, 2022
हमें फॉलो करें :

मल्टीमीडिया

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तर प्रदेश सोनभद्रआदिवासी ग्रामीणों के लिए नहीं है पर्याप्त इलाज की सुविधा

आदिवासी ग्रामीणों के लिए नहीं है पर्याप्त इलाज की सुविधा

हिन्दुस्तान टीम,सोनभद्रNewswrap
Tue, 30 Nov 2021 09:40 PM
आदिवासी ग्रामीणों के लिए नहीं है पर्याप्त इलाज की सुविधा

म्योरपुर। देश के सर्वाधिक पिछड़े जिलों में आने वाले सोनभद्र जनपद की तहसील दुद्धी तो और भी पिछड़ी हुई है। यहां आज भी शुद्ध पेयजल के अभाव में लोग बेमौत मरते है, फ्लोरोसिस जैसी बीमारियों से प्रभावित हो विकलांग हो जाते हैं।

यह बात रासपहरी में चल रहे आइपीएफ के धरनें के पचासवें दिन मंगलवार को वक्ताओं ने कही। कहा कि यहां की आदिवासी गरीब लडकियां पढ़ कर देश के विकास में योगदान करना चाहती हैं। लेकिन उनके लिए डीग्री कालेज नहीं है। अस्पतालों में जांच और इलाज की समुचित व्यवस्था नहीं है। रोजगार के अभाव में ग्रामीणों को पलायन करना पड़ता है। हाईकोर्ट के आदेश के बाद भी वनाधिकार कानून को लागू नहीं किया जा रहा है। इन हालातों को बदलने के लिए दुद्धी को जन राजनीति की जरूरत है। धरने में आइपीएफ जिला संयोजक कृपा शंकर पनिका, मजदूर किसान मंच जिलाध्यक्ष राजेन्द्र प्रसाद गोंड़, मंगरू प्रसाद गोंड़, मनोहर गोंड़, बिरझन गोंड़, मोहन पनिका, जगमोहन गोंड़, बलदेव गोंड़, सोबरन गोंड़, ननकू गोंड़, बुद्धदेव गोंड़, रामसुभग गोंड़, ज्ञानदास गोंड़, इंद्रदेव खरवार आदि लोग मौजूद रहे।

epaper

संबंधित खबरें