DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सांस्कृतिक संध्या में बढ़-चढ़ कर दिखायी प्रतिभाएं

एनटीपीसी-विंध्याचल परियोजना के मैत्री सभागार में बुधवार की शाम उत्तरी क्षेत्र के टीम के चयन हेतु सांस्कृतिक संध्या का आयोजन किया गया । इसमे उत्तरी क्षेत्र परियोजना से रिहंद, ऊंचाहार, टांडा, सिंगरौली और विंध्याचल टीम ने भाग लिया ।

एनटीपीसी-विंध्याचल के कार्यकारी निदेशक अजीत कुमार तिवारी एवं अन्य गणमान्य अतिथियों ने कार्यक्त्रम की शुरुआत दीप प्रज्वलन के साथ की । सर्वप्रथम एनटीपीसी-रिहंद की टीम ने गंगा में हो रहे प्रदूषण पर एक नृत्य नाटिका प्रस्तुत किया, उसके पश्चात एनटीपीसी-ऊंचाहार की टीम ने जल नहीं तो जीवन नहीं पर आधारित नृत्य नाटिका प्रस्तुत किया, फिर एनटीपीसी-टांडा की टीम ने गंगा को धरती पर लाने पर आधारित नृत्य नाटिका का मंचन किया। इसके बाद एनटीपीसी-सिंगरौली टीम ने गंगा में बाढ़, प्रदूषण एवं स्वच्छता पर नृत्य नाटिका प्रस्तुत किया। अंत में एनटीपीसी-विंध्याचल की टीम ने नदी आँसू भरी पर आधारित नृत्य नाटिका का अभिनव किया। सभी टीमों की प्रस्तुति देखकर सभी दर्शकगण मंत्र-मुग्ध हो गए। इन सभी टीमों से चयन हेतु नई दिल्ली से मैत्रयी पहाड़ी निर्णायक के रूप में उपस्थित थीं । चयन समिति ने उपरोक्त टीमों से 33 बच्चों को आगामी दस नवम्बर को एनटीपीसी स्थापना दिवस के अवसर पर नई दिल्ली के श्रीफ़ोर्ट ऑडिटोरियम में आयोजित होने वाले सांस्कृतिक कार्यक्त्रम हेतु चयन किया गया है। इस कार्यक्त्रम में कार्यकारी निदेशक के अतिरिक्त महाप्रबंधक (प्रचालन एवं अनुरक्षण) राजशेखर पद्माकुमार , सुहासनी संघ कि अध्यक्षा रेखा तिवारी, उपाध्यक्षा कमला पद्माकुमार, सचिव ऋचा मंगला एवं निर्णायक मण्डल के प्रतिनिधि सुहासिनी संघ की सदस्या तथा बाल-भवन की संचालक समिति भी उपस्थित रहीं। कार्यक्त्रम का समापन शायोनी मजूमदार,प्रबंधक (मानव संसाधन) के धन्यवाद ज्ञापन के साथ सम्पन्न हुआ ।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Students participate in cultural evening