DA Image
2 दिसंबर, 2020|1:57|IST

अगली स्टोरी

गाजे-बाजे के साथ विसर्जित हुई मां दुर्गा की प्रतिमाएं

गाजे-बाजे के साथ विसर्जित हुई मां दुर्गा की प्रतिमाएं

जिले में जगह-जगह पूजा पंडालों में स्थापित मां दुर्गा की प्रतिमाएं सोमवार को क्षेत्र के विभिन्न बंधियों व तालाबों में विसर्जित की गई। बैण्डबाजों की धुन पर थिरकते भक्तों ने जुलूस निकालकर भ्रमण किया। जिले में कुल 128 स्थानों पर स्थापित मां दुर्गा की प्रतिमाओं का विसर्जन किया गया।

राबर्ट्सगंज शहर में दोपहर बाद दुर्गा पूजा प्रतिमाओं को विसर्जन के लिए उठाने का सिलसिला शुरू हुआ। नगर के विभिन्न स्थानों पर स्थापित मां दुर्गा की प्रतिमाएं जुलूस के साथ विसर्जन के लिए रवाना हुई। राबर्ट्सगंज कोतवाली क्षेत्र में स्थापित सभी प्रतिमाओं का बुधवार को धंधरौल बांध में विसर्जन किया गया। वहीं रावर्ट्सगंज नगर के न्यू कॉलोनी स्ट्रीट स्थापित जय अंबे महोत्सव दुर्गा पंडाल के तत्वाधान में सोमवार को गाजे बाजे के साथ हुई मूर्ति विसर्जन संरक्षक राकेश कुमार की अगुवाई में सुरक्षा व्यवस्था के बीच कार्य संपन्न किया गया। वही कमेटी अध्यक्ष महेश मिश्रा ने बताया कि सरकार द्वारा जो मिले गाइडलाइन का पालन करते हुए दुर्गा मूर्ति स्थापित विसर्जन किया जा रहा है। इस मौके पर अजीत सिंह, संदीप पांडेय, अंकित सिंह राठौड़, अजय गुप्ता, सौरभ चतुर्वेदी आदि मौजूद रहे।

दुद्धी प्रतिनिधि के अनुसार रविवार को दशहरे के दिन कस्बे में स्थापित सभी चार माँ दुर्गा की प्रतिमाओं की झांकी धूमधाम से निकाली गई। नाचते झूमते भक्तगण माँ झांकी लेकर दुद्धी के रामलीला मैदान पहुँचे, वहां रावण दहन के बाद भक्तगण अपनी अपनी प्रतिमाओं के साथ नाचते गाते शिवाजी प्राचीन तालाब पहुँचे, जहाँ प्रतिमाओं का विसर्जन करते माँ आदिशक्ति दुर्गा को नम आंखों से विदा किया। इस दौरान सुरक्षा की दृष्टि से पुलिस फोर्स साथ साथ चली।

बभनी प्रतिनिधि के अनुसार सोमवार को असनहर मन्दिर और असनहर पूर्व माध्यमिक विद्यालय के समीप स्थापित दुर्गा प्रतिमा का विसर्जन असनहर गांव में स्थित आश्रम बंधे में किया गया। इस अवसर पर महिलाएं सिर पर कलश रख कर गांव घुमते हुए। मां दुर्गा के प्रतिमा का विसर्जन किया। लोगों ने मां दुर्गा के जयकारे लगाये, जिससे पूरा क्षेत्र गंुजायमान हो गया। इस दौरान उपनिरीक्षक संजय पाल मौके पर मय फोर्स सुरक्षा व्यवस्था मे डटे रहे।

बीजपुर प्रतिनिधि के अनुसार न्याय पंचायत जरहा में सोमवार को मां दुर्गा की प्रतिमा को शांतिपूर्ण माहौल में गाजे बाजे के साथ विसर्जित किया गया। कोविड19 के मद्देनजर शासन ने सभी मूर्तियों को शांतिपूर्ण माहौल में विसर्जित करने का आदेश दिया था। इसी कारण से इस वर्ष डीजे कही नही दिखा। पूरे न्याय पंचायत में केवल चार मूर्तियां ही रखी गई थी, बाकी स्थानों पर प्रतिमा रखकर पूजा की गई थी। बीजपुर, दुदहिया मंदिर, बीजपुर, एनटीपीसी आवासीय परिसर, सिरसोती शिव मंदिर की प्रतिमा विसर्जन में पुरानी परम्पराओं का झलक देखने को मिला। पूरे क्षेत्र में शांतिपूर्ण ढंग से कार्यक्रम सम्पन्न हुआ। शांति व्यवस्था के मद्देनजर प्रभारी निरीक्षक एसबी यादव अपने टीम के साथ पूरे क्षेत्र का भ्रमण करते रहे जिससे कोई अप्रिय घटना न घटे। इस मौके पर संदीप गुप्ता, विकास मंगला, अनिल त्रिपाठी, यशवंत सिंह, जसवंत सिंह, शिवधारी गुप्ता, कमलेश, कल्याण दास, उपेन्द्र सिंह, प्रेमचंद गुप्ता, रविन्द्र गुप्ता, राम अशोक, जयराम शर्मा, जितेंद्र पाल आदि मौजूद रहे।

घोरावल प्रतिनिधि के अनुसार स्थानीय कोतवाली क्षेक्ष के नगर एवं विभिन्न ग्रामों में 14 स्थानों पर स्थापित दुर्गा प्रतिमाओं का विसर्जन किया गया। नगर स्थित धर्मशाला परिसर में स्थापित जय मां दुर्गा पूजा समिति द्वारा सोमवार को सविधि पूजन, हवन तथा कलश विसर्जन के बाद मूर्तियों का विसर्जन नगर स्थित हरियहवा तालाब में किया गया। इस दौरान में नगर में चक्रमण किया गया जो नगर के विभिन्न मार्गो घोरावल राबर्टसगंज मार्ग, घोरावल शिद्वार मार्ग, मेन बजार होते हुये मुक्खा तिराहा से गुजरते हुए हरियहवा तालाब में मां दुर्गा, श्यामू कार्तिक, गणेश की प्रतिमाओं का विसर्जन किया गया। इस मौके पर नगर पंचायत अध्यक्ष राजेश कुमार, रमेश चन्द्र पाण्डेय, अशोक अग्रहरि, उदित लाल अग्रहरी, काजू अग्रहरी, संजय मोदनवाल, राकेश कुमार, अशोक कुमार आदि मौजूद रहे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Statues of mother Durga immersed with instruments