DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सोनभद्र गोलीकांडः सभी आरोपितों पर लगेगा रासुकाः योगी

सोनभद्र में घोरावल के उभ्भा गांव में 10 आदिवासियों की हत्या के लिए जिम्मेदार ग्राम प्रधान सहित सभी दोषियों पर रासुका के तहत कार्रवाई की जाएगी। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार को उभ्भा गांव में पीड़ित परिवारों से मिलने के बाद मीडिया से बातचीत में यह बात कही। मुख्यमंत्री ने कहा कि आदिवासियों से जमीन नहीं छीनी जाएगी। वे जो जमीन जोत रहे हैं, उन्हें नहीं छेड़ा जाएगा। जो जैसे खेती कर रहा है, वह वैसे ही करता रहेगा। सीएम ने पीड़ित परिवारों से मुलाकात के बाद जिला अस्पताल में भर्ती घायलों का भी हालचाल लिया। सीएम ने उभ्भा गांव में पुलिस चौकी और घोरावल में फायर स्टेशन खोलने समेत सोनभद्र के लिए कई घोषणाएं भी कीं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि जिन्होंने इस गोलीकांड में अपने परिवार के सदस्यों को खोया है, या जिन्होंने अपने परिवार के सदस्यों को गंभीर घायल अवस्था में देखा है। सरकार की संवेदना हर परिवार के साथ है। मुख्य सचिव व पुलिस महानिदेशक को पूरी घटना की जांच कर कार्रवाई का निर्देश दिया गया। दोषी ग्राम प्रधान समेत 29 अपराधियों को गिरफ्तार किया गया है। पांच असलहे बरामद हुए हैं। इनमें एक सिंगल बैरल, तीन डबल बैरल के साथ एक रायफल के साथ ही 14 ट्रैक्टर कब्जे में लिये गए हैं।

सीएम ने कहा कि आदिवासियों, वनवासी, एससी और एसटी से जुड़े किसी भी समुदाय के उत्पीड़न को रोकने के लिए प्रदेश सरकार प्रतिबद्ध है। यहां यह आश्वस्त करने आया हूं कि गोली चलाने वालों के खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्रवाई की जाएगी। जिस जमीन के लिए यह काण्ड हुआ है, उससे जुड़े प्रत्येक कागज की जांच के लिए तीन स्तरीय कमेटी बनाई जा चुकी है। कमेटी 10 दिन में अपनी रिपोर्ट देगी।

गोलीकांड के लिए कांग्रेस और सपा जिम्मेदार
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि गोलीकांड के लिए  कांग्रेस और सपा जिम्मेदार हैं। कांग्रेस के शासनकाल के दौरान 1955 में विवाद की नींव रखी गई। ग्राम समाज की जिस बंजर भूमि पर आदिवासी और वनवसी खेती करते थे उसे ट्रस्ट के बहाने एक कांग्रेस के राज्यसभा सांसद के नाम कर दिया गया। 1989 में कांग्रेस सरकार के समय ट्रस्ट से जुड़े लोगों के परिवार के नाम जमीन करना ही विवाद का कारण है। घटना के लिए कांग्रेस माफी मांगें। योगी ने कहा कि ग्राम प्रधान समाजवादी पार्टी का सक्रिय कार्यकर्ता है। यह लोग किस तरीके से सत्ता का दुरुपयोग करते रहे हैं, यह विगत पांच वर्षों में लोगों ने देखा है। ग्राम प्रधान अपनी मंशा में सफल नहीं हो पाया इसलिए घटना को अंजाम दिया गया। उसका भाई बसपा का कार्यकर्ता है। सपा नेता विवादित भूमि के बाहर भी अनुसूचित जनजाति से जुड़े लोगों की भूमि पर कब्जा करने का प्रयास किया है। उसकी भी जांच करवाई जा रही है।

मृतकों के आश्रितों को 18.50 लाख रुपये मुआवजा
उभ्भा गांव में गोलीकांड के पीड़ित परिवारों से मुलाकात के बाद मुख्यमंत्री ने कहा कि पांच लाख नकद के अलावा भी विभिन्न योजनाओं के तहत मुआवजे का लाभ मिलेगा। जिला अस्पताल और बीएचयू ट्रामा सेंटर में भर्ती घायलों के इलाज का खर्च प्रदेश सरकार उठाएगी। घटना वाले दिन सरकार की तरफ से पांच लाख मुआवजे की घोषणा की गई थी। मुख्यमंत्री ने कहा कि पीड़ित परिवारों को मुख्यमंत्री राहत कोष, एससी-एसटी एक्ट पीड़ित मुआवजा, कृषि बीमा योजना और आकस्मिक आपदा योजना से भी मुआवजा मिलेगा। इस तरह मरने वालों के आश्रितों को 18.50 लाख और घायलों को कुल 2.50 लाख रुपये का मुआवजा दिया जाएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Sonbhadra Golikand All the accused will take Rasuka Yogi