DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ट्रक के टक्कर से बाइक सवार पुत्र की मौत, पिता गंभीर

ट्रक के टक्कर से बाइक सवार पुत्र की मौत, पिता गंभीर

स्थानीय थानान्तर्गत अम्बिकापुर-बभनी संपर्क मार्ग के दरनखाड़ में शुक्रवार की सुबह लगभग साढ़े छह बजे ट्रक के टक्कर से बाइक सवार पुत्र की मौत हो गयी। जबकि, बाइक पर पीछे बैठे पिता को गंभीर चोटें आयी हैं। घायल पिता का प्राथमिक उपचार करके जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया। उधर, घटना से आक्रोशित ग्रामीणों ने अम्बिकापुर-बभनी मार्ग पर चक्काजाम कर दिया। पुलिस के समझाने पर दो घंटे बाद जाम खुला।

बभनी थाना क्षेत्र के भंवर गांव निवासी 25 वर्षीय भगवानदास अपने 55 वर्षीय पिता जगरनाथ गुप्ता को बाइक से लेकर अपने घर से चैनपुर गांव स्थित अपने नाना के घर जा रहा था। जैसे ही बाइक सवार पिता-पुत्र दरनखाड़ के पास पहुंचे अम्बिकापुर की तरफ से आ रहे तेज रफ्तार दस चक्का ट्रक ने सामने से टक्कर मार दिया। टक्कर इतना तेज था कि भगवानदास सड़क पर गिर गया और उसके पिता कुछ दूर जा गिरे। भगवानदास के सिर को रौंदते हुए ट्रक आगे चला गया, जिससे भगवानदास की घटनास्थल पर ही मौत हो गयी। चालक ट्रक लेकर वहां से भागना चाहा, लेकिन घटनास्थल पर मौजूद ग्रामीणों ने ट्रक को बभनी रेंज आफिस के पास से लिया। तब तक ट्रक चालक फरार हो गया। ग्रामीणों ने घटना की सूचना तत्काल बभनी थाने की पुलिस तथा यूपी 100 पुलिस और 108 एम्बुलेंस को दिया। सूचना पाकर प्रभारी निरीक्षक अशोक कुमार सिंह मय फोर्स के साथ घटना स्थल पर पहुंच गए। ग्रामीणों की मदद से घायल जगरनाथ को 108 एम्बुलेंस से सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बभनी में भर्ती कराया गया। उसकी हालत गंभीर होने की दशा में उसे जिला अस्पताल के लिए रेफर कर दिया गया। उधर, घटना से आक्रोशित परिजनों संग ग्रामीणों ने अम्बिकापुर- बभनी मार्ग को शव सड़क पर रखकर जाम कर दिया। ग्रामीणों का कहना था कि मृतक के परिजनों को उचित मुआवजा दिया जाए। इसके साथ ही वाहनों के गति पर नियंत्रण के लिए सड़क पर गति अवरोधक बनवाया जाए। जब तक हमारी मांगे पूरी नहीं की जाती हम लोग शव को नहीं उठाने देंगे। सड़क पर सैकड़ों लोगों की भीड़ जमा हो गई। सड़क के दोनों तरफ वाहनों की कतार लग गई। प्रभारी निरीक्षक अशोक कुमार सिंह के समझाने के बाद भी लोग जाम हटाने के लिए तैयार नहीं हुए। प्रभारी निरीक्षक श्री सिंह ने 24 घंटे के भीतर ब्रेकर बनवाने तथा परिजनों को हर सम्भव मदद करने के आश्वासन पर लोगों ने दो घंटे बाद जाम हटाया। इस प्रकार सुबह साढ़े सात बजे से साढ़े नौ बजे तक आवागमन बाधित रहा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Son died in an accident while father injured seriously