DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कमजोर बच्चों व गर्भवती महिलाओं की सेवा करें

कमजोर बच्चों व गर्भवती महिलाओं की सेवा करें

बाल विकास एवं पुष्टाहार विभाग के साथ ही अन्य सहयोगी विभाग शासन की मंशा के अनुरुप दी गयी जिम्मेदारियों को निभाते हुए जिले के कमजोर बच्चों व गर्भवती महिलाओं की बेहतर सेवा करें। यह बात बुधवार को कलक्ट्रेट सभागार में पोषण मिशन के तहत आयोजित जिला स्तरीय पोषण कन्जर्वेशन कार्याशाला को संबोधित करते हुए प्रभारी जिलाधिकारी/ मुख्य विकास अधिकारी अजय कुमार द्विवेदी ने कही। कहा कि राज्य पोषण मिशन के अन्तर्गत ग्राम स्तर पर होने वाली बैठकों को सुचारु रूप से किया जाय। इसमें स्वास्थ्य विभाग, बाल विकास एवं पुष्टाहार तथा सम्बन्धित अधिकारी व कर्मचारीगण क्षेत्र में बैठक कर ग्रामीणों को राज्य पोषण मिशन के तहत चलायी जा रही योजनाओं के बारे में जानकारी देकर जागरूक करें। कुपोषित बच्चों के परिवार को शासन से संचालित सभी योजनाओं से उन्हें लाभान्वित करें। उन्हें शिक्षा, स्वास्थ्य व पोषण, स्वच्छता के प्रति जागरुक करें। प्रभारी जिलाधिकारी ने कहा कि गर्भवती महिलाओं के लिए शासन से दी जा रही सुविधाओं का चार्ट बना लें। उसमें क्या-क्या सुविधाएं दी गयी हैं और क्या सुविधाएं दी जानी है, का रोस्टर के हिसाब से समय-समय पर देते रहें, ताकि जिले में कोई भी बच्चा कुपोषित पैदा न होने पाए। पोषण मिशन पर बल देते हुए कहा कि मातृत्व वंदना योजना के तहत दी जाने वाली सुविधाएं देने के लिए व कुपोषण को समाप्त करने के लिए स्कूलों, गांवों में जन आन्दोलन का रूप देकर कार्य किया जाय। कहा कि पोषण को सतत विकास के लिए तकनीकी माध्यम से भी ट्रैक किया जाय, जिससे कि कोई भी बच्चा या गर्भवती महिला लाभों से वंचित न रहने पायें। सम्बन्धित अधिकारी अपने-अपने क्षेत्र का भ्रमण आदि समय-समय पर करते हुए, ताकि जच्चा-बच्चा को समय से टीकाकरण कराते हुए पुष्टाहार वितरण पर भी नजर रखें। प्रभारी जिलाधिकारी ने कहा कि “राज्य पोषण मिषन“ को मूर्त रूप देने के लिए 0 से 5 वर्ष तक के आयु वर्ग के बच्चों में कुपोषण के चिन्हांकन के लिए अभियान चलाकर वजन कराया जाय। मानक से कम वजन पाये जाने पर गंभीर श्रेणी यानी लाल श्रेणी के बच्चों को जिले स्तर पर स्थापित स्वास्थ्य एवं पोषण सेन्टर में भर्ती कराया जाय। कार्यशाला में अपर मुख्य चिकित्साधिकारी बीके अग्रवाल, पशु मुख्य चिकित्साधिकारी, जिला कार्यक्रम अधिकारी अजीत कुमार सिंह, पिरामल फाउण्डेशन के पदाधिकारीगण आदि मौजूद रहे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Serve weak children and pregnant women