DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  सोनभद्र  ›  रेललाइन दोहरीकरण 2024 तक होगा मुक्कमल
सोनभद्र

रेललाइन दोहरीकरण 2024 तक होगा मुक्कमल

हिन्दुस्तान टीम,सोनभद्रPublished By: Newswrap
Wed, 16 Jun 2021 06:30 PM
रेललाइन  दोहरीकरण 2024 तक होगा मुक्कमल

अनपरा। निज संवाददाता

वित्त वर्ष 2024 तक सिंगरौली से कटनी , शक्तिनगर से करैला और सिंगरौली से चोपन के बीच तक रेलवे लाइन के दोहरीकरण का कार्य मुक्कमल कर दिया जायेगा। पश्चिम मध्य रेल के महाप्रबन्धक शैलेन्द्र कुमार सिंह ने वर्चुअल प्रेस कान्फ्रेंस में बताया कि कटनी से सिंगरौली दोहरीकरण कार्य की कुल लम्बाई 257 किलोमीटर है जिस पर कुल लागत 1763 रुपये तय है। बुधवार तक इस रेल ट्रैक का 48 किलोमीटर का दोहरीकरण कार्य पूरा किया जा चुका है। मुख्य संरक्षा आयुक्त द्वारा इस खण्ड पर 120 किलोमीटर प्रति घंटा का सफल ट्रायल भी पूरा कर लिया है। मुख्य जनसम्पर्क अधिकारी राहुल जय पुरियार ने बताया कि इस साल सिंगरौली-कटनी के मध्य 70किलोमीटर रेल लाइन के दोहरी करण का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। इस मे से आठ किलोमीटर पूरा कर दिया गया है और शेष 62 किलोमीटर साल के अन्त तक पूरा करा दिया जायेगा। शक्तिनगर से करैला के बीच 32.15 किलोमीटर लम्बे ट्रैक के दोहरीकरण का कार्य अब लगभग एक साल विलम्ब से पूरा होगा। इस कार्य को पहले मार्च 2023 तक पूरा करने का लक्ष्य था किन्त कोरोना से पैदा आर्थिक हालात के कारण यह दोहरीकरण का कार्य भी अब मार्च 2024 तक पूरा होगा। पूर्व मध्य रेलवे के डिप्टीचीफ इंजीनियर कंस्ट्रक्शन राकेश कुमार ने बताया कि अनपरा रेलवे स्टेशन के निकट (भयावह पुल) पुल का निर्माण कार्य प्रारम्भ हो चुका है। कुल मिला कर अभी तक इस रेल ट्रैक का लगभग60 प्रतिशत कार्य पूरा किया जा चु का है। उन्होने बताया कि सिंगरौली से चोपन के मध्य भी रेललाइन के दोहरीकरण कार्य तेजी से जारी है। कोरोना के कारण प्रगति कुछ प्रभावित हुई है लेकिन पूरा कार्य 2024 तक मुक्कमल करने का लक्ष्य तय है। कटनी से सिंगरौली और सिंगरोली से चोपन के मध्य उर्जान्चल से जुड़ी रेलवे दोहरीकरण परियोजनाओं हेतु पर्याप्त बजट उपलब्ध करवाने और कार्य निर्धारित समय पर मुक्कमल करवाने की मांग को लेकर रेल उपयोगकर्ता परामर्श दात्री समिति, उत्तर मध्य रेलवे प्रयागराज सदस्य एसके गौतम ने सांसदों एवं रेलमंत्री से गुहार लगायी है। उनका कहना है कि कोरोना काल में जब इन रूट पर काफी ट्रेन बंद है ऐसे में कार्य की प्रगति तेज की जा सकती है। राज्य सभा सांसद रामशकल और लोकसभा सांसद पकौड़ी लाल कोल के प्रयास से कोरोना के बावजूद इस बार बजट प्रावधान भी पर्याप्त किये गये है। ऐसे में कार्य की रफ्तार तेज कराने की मांग रेल मंत्री से की गयी है।

संबंधित खबरें