Electricity consumption reduced due to pre monsoon rain - मानसून पूर्व बरसात से बिजली की खपत में आई कमी से राहत DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मानसून पूर्व बरसात से बिजली की खपत में आई कमी से राहत

मानसून पूर्व बरसात से बिजली की खपत में काफी कमी आयी है। बिजली की पीक डिमाण्ड जहां घटकर 20 हजार मेगावाट के नीचे पहुंच गयी है वहीं 24 घंटे के दौरान औसत बिजली खपत भी घटकर 400 मिलियन यूनिट से भी कम हो गयी है। नतीजतन अनपरा बिजलीघर की 500 मेगावाट की छठवीं इकाई और एलपीजीसीएल ललितपुर की 660 मेगावाट की पहली इकाई बंद होने के बावजूद उत्पादन निगम के बिजलीघरों से लगभग 445 मेगावाट और निजी बिजलीघरों से लगभग 1500 मेगावाट की दिनभर थर्मल बैकिंग (उत्पादन कम) करायी गयी।

सिस्टम कंट्रोल के मुताबिक तापमान में गिरावट से बिजली की खपत लगभग 397 मिलियन यूनिट रह गयी जो बीते सप्ताह तक 450 मिलियन यूनिट के पार चल रही थी। पीक डिमाण्ड भी 19475 मेगावाट ही रही जो अब तक 20 हजार मेगावाट से उपर थी। शनिवार की शाम एलपीजीसीएल ललितपुर की 660 मेगावाट क्षमता की पहली इकाई को ब्वायलर ट्यूबलिकेज के कारण बंद करना पड़ा। इससे पूर्व अनपरा डी बिजलीघर की भी 500 मेगावाट की छठी इकाई 20 जून की रात से हैवी क्लींकर फारमेंशन के कारण बंद की गयी थी। एनटीपीसी के रिहन्द बिजलीघर की भी 500 मेगावाट क्षमता की चौथी इकाई 45 दिन की अनुरक्षण के लिए बंद होने से बिजली की उपलब्धता में लगभग 30 मिलियन यूनिट से अधिक की कमी आयी लेकिन पीकआवर्स में रिहन्द-ओबरा जल विद्युतगृहों की इकाईयां चलवाकर तथा एसटीओए/आईईएक्स से बिजली खरीदकर जरूरत पूरी की गयी। दिन में अलबत्ता बिजली की मांग 14 हजार मेगावाट के ईद-गिर्द रहने से तापीय इकाईयों का उत्पादन लगातार कम कराना पड़ा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Electricity consumption reduced due to pre monsoon rain