DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

लाठी चार्ज का विरोध करने जा रहे सपाई हिरासत में, रिहा

चोपन ब्लाक के कोटा ग्राम पंचायत के जवारीडाड़ में स्थित पंडित दीनदयाल आश्रम पद्धति विद्यालय के बच्चों पर लाठी चार्ज के विरोध में उनसे मिलने जा रहे समाजवादी पार्टी कार्यकर्ताओं को पुलिस ने हिरासत में ले लिया। जिला मुख्यालय पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का दौरान होने के कारण उन्हें दिन भर पन्नूगंज थाने में रखा गया। मुख्यमंत्री के जाने के बाद शाम को सभी कार्यकर्ताओं को रिहा कर दिया गया। 

सपा जिलाध्यक्ष विजय यादव ने बताया कि जवारीडाड़ में स्थित पंडित दीनदयाल आश्रम पद्धति विद्यालय के बच्चे जब विद्यालय में व्याप्त दुर्व्यवस्था को लेकर सड़क पर उतरने तो पुलिस प्रशासन द्वारा लाठी चार्ज कर उन्हें खदेड़ दिया गया। इससे विद्यालय के छोटे-छोटे बच्चों को काफी चोटें आई है, जिसकी जितनी भी निंदा की जाए कम है। उन्होंने जिला प्रशासन पर बच्चों की आवाज को दबाने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि बहुअरा गांव जहां मुख्यमंत्री गए हैं वह दिखाव मात्र है। प्रदेश सरकार गरीबों के साथ छलावा करने का कार्य कर रही है। पूर्व विधायक अविनाश कुशवाहा व रमेश चन्द्र दुबे ने कहा कि कोटा गांव के जवारीडाड़ गांव में स्थित आश्रम पद्धति स्कूल के बच्चों पर लाठी चार्ज की जानकारी होने पर पार्टी कार्यालय में बैठक कर उनसे मिलने की रणनीति बनाई जा रही थी। इसी दौरान पुलिस और पीएसी ने पार्टी कार्यालय में घुस कर जबरन कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार कर लिया गया। इसके बाद सभी कार्यकर्ताओं को पन्नूगंज थाने भेज दिया गया।

उन्होंने तत्काल पुलिस अधीक्षक व जिलाधिकारी को निलंबित किए जाने की मांग की। चेतावनी दी कि यदि दोनों अधिकारियों का निलंबन नहीं किया गया तो कार्यकर्ता सड़क पर उतरकर आंदोलन करने को बाध्य होंगे। गिरफ्तार होने वालों में पूर्व जिलाध्यक्ष  रामनिहोर यादव, हिदायत उल्ला खां, सईद कुरैशी, अनिल यादव, वेदमणि शुक्ल, महफूज आलम खान, प्रमोद यादव, ओमप्रकाश त्रिपाठी, कामरान खान, राहुल सेठ, जगत पटेल, कमलेश उर्फ नेता यादव, नागेन्द्र, बबुन्दर यादव, मन्नू पाण्डेय, रमेश यादव, अनवर, रमेश यादव आदि मौजूद रहे। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Custody going to oppose black sticks detained in custody