अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सीएम योगी ने प्राथमिक विद्यालय का निरीक्षण किया

सीएम योगी

जिले में विकास कार्यों की समीक्षा बैठक करने आए प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को प्राथमिक विद्यालय बहुआर का भी निरीक्षण किया। यहां नन्हें-मुन्ने विद्यार्थियों से मिल कर उन्हें खूब पढ़ने और आगे बढ़ने का आर्शीवाद दिया। स्मार्ट क्लास और किचन शेड का उद्घाटन किया। उसके बाद अपने संबोधन में लोगों को शिकायत करने से दूर रहने की नसीहत दी।

बुधवार दोपहर लगभग डेढ़ बजे प्राथमिक विद्यालय बहुआर पहुंचे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सीधे बच्चों के बीच पहुंच गए। स्मार्ट क्लास का फीता काटकर उद्घाटन करने के बाद बच्चों से बातचीत करते हुए उनसे घुलमिल गए। उनके गालों को थपथपा कर उन्हें खूब पढ़ने के लिए प्रोत्साहित किया तो सिर पर हाथ रख कर उन्हें आगे बढ़ने का आर्शीवाद दिया। इस दौरान कुछ बच्चों को उन्होंने अपने हाथों से फल, मिठाई और बिस्कुट खिलाया। उन्होंने सौर ऊर्जा युक्त किचन के शुभारंभ के बाद किचन की रसोइया से हाल-चाल जाना और बेहतर भोजन पकाकर बच्चों को खिलाने को कहा। मिलियन सोल स्कीम, आईआई मुंबई के तहत निर्मित सोलर परियोजना से सम्बन्धित प्रदर्शनी /स्टाल का निरीक्षण किया। बेहतर व्यवस्था बनाये रखने के निर्देश दिए। 

उन्होंने मिशन सोन स्वावलम्बन के तहत बनाये गये परिधान स्टाल व निर्मित खाद्य सामग्री स्टाल का निरीक्षण किया। उन्होंने मिलियन सोल स्कीम व एनआरएलएम द्वारा निर्मित सोलर लाईट माडल-2 को लांच किया। यहां पर अपने संबोधन में उन्होंने कहा कि सोन स्कूल कायाकल्प-शिक्षा का संकल्प, सोन पढ़ेगा-सोन बढेगा के तर्ज पर सोनभद्र जिले को आकांक्षित जिले से विकसित जिले के रूप में किया जाय। आकांक्षित जिले की श्रेणी से विकास के बल पर दो साल के अन्दर विकसित किया जाय। सोन स्कूल कायाकल्प कार्यक्रम को बढ़ावा देने के लिए तकनीकी सहयोग पात्रता के आधार पर यूनिसेफ और पिरामल फाउण्डेशन व शिव नाडर फाउण्डेशन से तकनीकी सहयोग प्राप्त करते हुए विद्यालयों को स्वच्छ रखने के लिए प्रभावी कार्यवाही की जाय। 

जिले में सोलर पैनल निर्माण प्लाण्ट स्थापित होने की प्रक्रिया में तेजी लाने के निर्देश देते हुए कहा कि सोनभद्र में सोलर पैनल निर्माण प्लाण्ट प्रदेश का पहला व देश का दूसरा सोलर पैनल निर्माण प्लाण्ट है। उन्होंने जिले के पिछड़ने के कारणों पर चर्चा करते हुए कहा कि जिले में शिकायत करने की आदत है। शिकायतें करने वाला आगे नहीं बढ़ पाता। शिकातयें विकास प्रक्रिया को बाधित करती हैं। उन्होंने नसीहत दी कि विकास प्रक्रिया का हिस्सा बन कर सकारात्मक सोचना चाहिए। मुख्यमंत्री ने कहा कि कभी सोचा है कि समाज में पिछड़ापन क्यों है, क्योंकि शिकायती लहजा हावी है। 

ऐसे लोग यदि स्वयं सुधरेंगे तो सबका भला होगा। इस दौरान राज्य मंत्री अर्चना पाण्डेय, अपर मुख्य सचिव सूचना अवनीश अवस्थी, मुख्यमंत्री जी के डे-आफिसर अमित सिंह, अध्यक्ष जिला पंचायत अमरेश सिह पटेल, सांसद छोटेलाल खरवार, एमएलसी केदारनाथ सिंह, श्री रामसकल, भाजपा जिलाध्यक्ष अशोक मिश्रा, सदर विधाकय भूपेश चौबे, ओबरा विधायक संजीव गोंड़, घोरावल विधायक अनिल मौर्य, दुद्धी विधायक हरीराम चेरो, मण्डलायुक्त मुरली मनोहर लाल, डीआईजी पीयूष श्रीवास्तव आदि मौजूद रहे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:CM Yogi inspected primary school