DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मांगों के समर्थन में किया प्रदर्शन

तीन सूत्री मांगों के समर्थन में ग्राम पंचायत अधिकारी, ग्राम विकास अधिकारी समन्वय समिति के कर्मचारियों का तीन दिवसीय उपवास बुधवार को तीसरे दिन भी जारी रहा। बुधवार को कर्मचारियों ने ब्लाक परिसर में प्रदर्शन कर मांगों पर शीघ्र विचार किए जाने की मांग की। चेतावनी दी कि यदि मांगों पर शीघ्र विचार नहीं किया गया तो वे छह जून से अनिश्चितकालीन कार्य बहिष्कार कर देंगे।

संरक्षक शिवनारायण सिंह ने कहा कि प्रदेश सरकार ग्राम पंचायत अधिकारियों व ग्राम विकास अधिकारियों की मांगों की अनदेखी कर रही है। प्रदेश सरकार मांगों पर गंभीर नहीं दिख रही है।  मांगे नहीं माने जाने पर दो जून को विकास भवन परिसर में सामूहिक उपवास कर धरना प्रदर्शन किया जाएगा। उन्होंने कहा कि ग्राम पंचायत अधिकारी व ग्राम विकास अधिकारी पद की योग्यता स्नातक की जाए। उन्हें ग्रेड वेतन 2800 रुपये दिया जाए। पदोन्नत के पद बढ़ाया जाए। उन्होंने कहा कि मांगों पर शीघ्र विचार नहीं किया गया तो वे दो जून को जनपद स्तर पर एक दिवसीय उपवास रखेंगे। इसके  बाद भी समाधान न होने पर पांच जून से प्रदेश अध्यक्ष आमरण अनशन पर बैठेंगे और जिले के सभी साथी छह जून से अनिश्चित कालीन कार्य बहिष्कार पर चले जाएंगे।

एडीओ पंचायत अजय सिंह ने कहा  कि सामूहिक उपवास, प्रदर्शन अवधि में ग्राम पंचायत अधिकारी, ग्राम विकास अधिकारी के निश्चित हस्ताक्षर के  बिना यदि स्वच्छ भारत मिशन, मनरेगा, प्रधानमंत्री आवास एवं अन्य कार्य किए जा रहे है तो इस अवधि के उपरोक्त कार्यों के लिए सम्पूर्ण जिम्मेदारी सम्बंधित लोगों की होगी। जिसका संज्ञान संगठन उचित समय पर लेगा। इस मौके पर सुनील कुमार पाल, कृष्ण कुमार सिंह, बृजेश कुमार सिंह, सुरेश कुमार सिंह, अजय कुमार सिंह, अश्वनी श्रीवास्तव, शिवकुमार कुशवाहा, प्रीति पाठक, मनोज दुबे, दिनेश गिरि, राजेश सिंह, श्वेता गुप्ता, हेमंत शुक्ला, काशीराम ठाकुर, शंकर यादव, बदरेआलम, नरेश सिंह आदि मौजूद रहे। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:BDO performs in support of demands