ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेश सोनभद्रकिराए के भवन में संचालित किए जाएंगे एएनएम सेंटर

किराए के भवन में संचालित किए जाएंगे एएनएम सेंटर

सोनभद्र, संवाददाता। जिले में आंगनबाड़ी व पंचायत भवन में चल रहे एएनम सेंटर को

किराए के भवन में संचालित किए जाएंगे एएनएम सेंटर
हिन्दुस्तान टीम,सोनभद्रSat, 08 Jun 2024 09:45 PM
ऐप पर पढ़ें

सोनभद्र, संवाददाता।
जिले में आंगनबाड़ी व पंचायत भवन में चल रहे एएनम सेंटर को अब किराए के भवन में संचालित किया जाएगा। भवन छोटा होने व अन्य सुविधाएं नहीं होने के चलते यहां पर सिर्फ टीकाकरण का काम ही हो पाता है। लेकिन किराए पर सेंटर संचालित करने के बाद गर्भवती महिलाओं का प्रसव, टीकाकरण समेत अन्य उपचार किया जा सकेगा। सीएमओ ने सेंटर के लिए भवन खोजने का निर्देश संबंधित चिकित्साधिकारियों को दिया है।

जनपद में कुल 271 एएनम सेंटर संचालित किए जा रहे हैं। लेकिन इसमें से कई सेंटरों का अपना भवन नहीं होने के चलते उनको ग्राम पंचायत के पंचायत भवन व आंगनबाड़ी केंद्र पर संचालित किया जा रहा है। लेकिन इन भवनों पर बिजली, पानी व शौचालय आदि की व्यवस्थाएं नहीं होने के चलते गर्भवती महिलाओं को सुविधाएं नहीं मिल पा रही है। यहां पर सप्ताह में सिर्फ दो दिनों तक एएनम की तरफ से टीकाकरण का कार्य ही किया जाता है। जिसके चलते कार्य भी प्रभावित होता है। गर्भवती महिलाओं का प्रसव भी पंचायत भवन व आंगनबाड़ी केंद्रों पर चलने वाले एएनम सेंटरों पर नहीं हो पाता है। जिसके चलते जरूरत पड़ने पर अस्पताल दूर होने के चलते गर्भवती महिलाओं को प्राइवेट हास्पिटलों का सहारा लेना पड़ता है। इससे उनका काफी दोहन होता है। इसको देखते हुए शासन से मिले निर्देश के बाद सीएमओ डा.अश्वनी कुमार ने आंगनबाड़ी व पंचायत भवन में चल रहे सेंटरों को किराए के भवन रर संचालित करने का निर्देश संबंधितों को दिया है। इसको लेकर भवन को खोजने का काम शुरू कर दिया गया है। भवन मिलने के बाद वहीं पर एएनम सेंटर को संचालित किया जाएगा। जिसके बाद गर्भवती महिलाओं का प्रसव भी कराया जा सकेगा।

जिले में पंचायत भवन व आंगनबाड़ी केंद्र पर संचिालत एएनम सेंटरों को किराए के भवन में संचालित किया जाएगा। जिससे गर्भवती महिलाओं को शासन से मिलने वाली सुविधाओं का लाभ मिल सके। पंचायत भवन व आंगनबाड़ी केंद्र में संचालन होने से सिर्फ टीकाकरण का काम हो पाता है। लेकिन किराए के भवन होने पर प्रसव समेत अन्य काम किए जाएंगे।

- डा.अश्वनी कुमार, सीएमओ।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
Advertisement