DA Image
26 जनवरी, 2021|8:01|IST

अगली स्टोरी

महिला डॉक्टर व अधिवक्ता सहित 37 संक्रमित

महिला डॉक्टर व अधिवक्ता सहित 37 संक्रमित

जिला अस्पताल की एक महिला डॉक्टर और जिला कचहरी की एक महिला अधिवक्ता सहित गुरुवार को कोरोना के 37 मरीज मिले हैं। इन्हें मिलाकर अब तक जिले में कुल 2620 मरीज मिल चुके हैं। इसमें से बुधवार तक 2278 मरीज ठीक हो चुके हैं। जबकि, 26 की मौत हो चुकी है।

जिला स्वास्थ्य विभाग की ओर से कोरोना संक्रमितों के गुरुवार को जारी आंकड़ों के अनुसार मिले 37 मरीजों में ओबरा और एनटीपीसी से सबसे ज्यादा छह-छह मरीज मिले हैं। इसके अलावा एनटीपीसी शक्तिनगर से पांच, म्योरपुर से तीन, घोरावल से दो, चोपन से तीन, राबर्ट्सगंज से तीन, दुद्धी से दो, पिपरी से दो, नगवां ब्लाक क्षेत्र से दो, कोन से तीन मरीज मिले हैं। ओबरा में सांगा कंपनी से दो और ओबरा नगर क्षेत्र से चार मरीज मिले हैं। बीजपुर में एनटीपीसी से सभी छह मरीज मिले हैं। शक्तिनगर एनटीपीसी के विद्युत विहार कॉलोनी से चार और एनएच से एक मरीज मिले हैं। म्योरपुर क्षेत्र के धोंथी से एक, खौहरौल से एक और पिंडारी से एक मरीज मिला है। घोरावल के कुसुम्हा से एक और चोपनियां से एक मरीज मिला है। चोपन में हाइडिल कॉलोनी से एक, नकतवार से एक और बरवाडीह से एक मरीज मिला है। खड़िया बाजार से एक मरीज मिला है। राबर्ट्सगंज में लोढ़ी स्थित जिला अस्पताल से एक महिला डॉक्टर, विकास नगर से एक महिला अधिवक्ता और न्य कॉलोनी से एक मरीज मिला है। दुद्धी के वार्ड नंबर पांच से दो मरीज मिले हैं। पिपरी में तुर्रा मस्जिद और महामाया मंदिर के पास से एक-एक मरीज मिला है। नगवां ब्लाक क्षेत्र के झापड़ीझापड़ गांव से एक और खलियारी से एक मरीज मिला है। कोन से तीन मरीज मिले हैं। जिला स्वास्थ्य विभाग के अनुसार जिन गांव क्षेत्र में कोरोना के मरीज मिले हैं, वहां संबंधित प्रधानों के माध्यम से मरीजों के घर के आगे बैरेकेडिंग करवाया जा रहा है। मरीजों और आसपास के घरों को सेनेटाइज कराने की प्रक्रिया अपनाई जा रही है। जो मरीज होम आइसोलेशन लायक हैं, उन्हें आवश्यक दिशा-निर्देश देकर होम आइसोलेट किया जा रहा है। शेष मरीजों को कोविड-19 अस्पताल में भर्ती कराने की प्रक्रिया चल रही है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:37 infected including women doctors and lawyers